ग्राम पंचायत से सचिव रहती है नदारद,विकास कार्यों व हितग्राही मूलक योजनाओं को लगाया जा रहा पलीता

इस ख़बर को शेयर करें

सुग्रीव यादव स्लीमनाबाद : गावों का सर्वांगीण विकास हो इसके लिए ग्राम पंचायतों का प्रमुख दायित्व होता है।सरकार की जन कल्याण कारी व हितग्राही मूलक योजनाओं का लाभ धरातल तक आमजन को मिले यह जिम्मेदारी ग्राम पंचायतों मैं पदस्थ कर्मचारियों की होती है।लेकिन कर्मचारियों की मनमानी से सरकार की योजनाओं का लाभ धरातल तक मूर्तरूप नही ले पा रहा हैं।ताजा मामला बहोरीबंद जनपद की ग्राम पंचायत तिंगवा का सामने आया है।जहां वर्तमान मैं पदस्थ सचिव की मनमानी से ग्रामीणजन परेशान है।

ग्राम पंचायत रहती है तालों मैं कैद,सचिव रहती है नदारद_
ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम पंचायत तिंगवा मे सचिव भागवती पटेल पदस्थ है!जो कभी कभार ही ग्राम पंचायत मे आती है।ग्राम पंचायत आती भी है तो घंटे भर के लिए अधिकतर समय ग्राम पंचायत तालों मैं ही कैद रहती है।सचिव से संबंधित कोई कामकाज रहता है सचिव के पति पंचायत कामकाज को देखते है!आये पंचायत मे ताला लगा रहने से ग्रामीणों को कामकाज के लिए परेशान होना पड़ता है!विभागीय अधिकारियो को जानकारी देने के वाबजूद भी अधिकारी लाफ़रवाही बरतने पर सचिव के खिलाफ कार्रवाई नही करते जिस कारण सचिव के हौसले बुलंद है!

शासन के आदेशों को नही त्वज्जो

हाल ही मे सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से समस्त सरकारी कार्यालयों मे पदस्थ अधिकारी -कर्मचारियों को सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक कार्यालयों मे उपस्थित रहने के आदेश दिए गये है!लेकिन ग्राम पंचायत तिंगवा मे सामान्य प्रशासन विभाग के आदेश की खुलेआम नाफरमानी की जा रही है!मंगलवार को भी दोपहर 2 बजे ग्राम पंचायत मे ताला लटका रहा!

इनका कहना है_ अभिषेक कुमार जनपद सीईओ

ग्राम पंचायत तिंगवा मैं पदस्थ सचिव भागवती पटेल के द्वारा यदि पदीय दायित्वों के निर्वहन पर लाफ़रवाही बरती जा रही है तो यह नियमों की अनदेखी!
ग्राम पंचायत का ओचक निरीक्षण कर सचिव की मनमानी पकड़ी जाएगी व कार्रवाई प्रस्तावित की जाएगी!


इस ख़बर को शेयर करें