हाई रिस्क महिलाओ की रेड रिबन के जरिये होगी पहचान, हाई रिस्क महिलाओ को समय पर मिल सके उपचार

इस ख़बर को शेयर करें

सुग्रीव यादव स्लीमनाबाद : स्लीमनाबाद तहसील क्षेत्र मे हाई रिस्क महिलाओ को समय पर स्वास्थ्य सुविधा मिल सके इसके लिए पहले से ही हाई रिस्क महिलाओ का चिन्हाकन कर लिया जाये!हाई रिस्क महिला जब अस्पताल आये तो पर्ची काउंटर से उसे रेड रिबन लगा दिया जाये या आशा कार्यकर्ता हाई रिस्क महिला को उसके घर से रेड रिबन लगाकर भेजे!जिससे हाई रिस्क महिलाओ की पहचान हो सके ओर उन्हें समय रहते स्वास्थ्य उपचार मिल सके!
उक्त बाते गुरुवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र स्लीमनाबाद मे डॉ शिवम दुबे ने सीएचओ, एएनएम ओर आशा कार्यक र्ताओ को बैठक लेकर दिए!साथ ही सेक्टर सुपरवाइजरो को निर्देशित किया कि उक्त व्यवस्था शत प्रतिशत सुनिश्चित हो इसका विशेष ध्यान देवे!क्योंकि इस व्यवस्था से हाई रिस्क महिला को पहचान लिया जायेगा!चाहे वह कितनी भी मरीजों की भीड़ मे हो!इससे अस्पताल के जाँचकर्मी व चिकित्सा स्टाप से कोई भूल नही होगी!हाई रिस्क महिला की पहचान के साथ ही सबसे पहले उसे स्वास्थ्य उपचार दिया जायेगा!
रेड रिबन लगाने से उसकी पहचान हो जाएगी ओर उपचार के लिए विशेष ध्यान दिया जायेगा!डॉ शिवम दुबे ने बताया कि यह एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मे नवाचार है जिससे हाई रिस्क महिलाओ को समय पर उपचार मिल सके!
क्योंकि अधिकतर समय यह स्थिति सामने आती ही कि मरीजों की भीड़ पर हाई रिस्क महिलाओ को भी उपचार के इंतजार करना पड़ता है!ऐसे मे हाई रिस्क महिलाये रेड रिबन लगाने मे अपने आपको छोटा महसूस न करें क्योंकि ये मातृ एवं शिशु मृत्यु दर मे कमी लाने का प्रयास है!
क्योंकि समय रहते है स्वास्थ्य लाभ न मिलने से हाई रिस्क महिला व उसके जच्चा -बच्चा को भी खतरे की संभावना बनी रहती है!


इस ख़बर को शेयर करें