मार्गो पर फैला अतिक्रमण,आवागमन मैं होती है परेशानी,

इस ख़बर को शेयर करें

सुग्रीव यादव स्लीमनाबाद :तहसील मुख्यालय स्लीमनाबाद की सडक़ों का जाम में फंसना और उसमें से निकलने के लिए लोगों का एक दूसरे से उलझना अब आम बात हो गई है। स्लीमनाबाद की लगभग सभी सडक़ पूरी तरह से अतिक्रमण की चपेट में है। लेकिन प्रशासन इस बड़ी समस्या के प्रति बेपरवाह है। आम लोग हर दिन अतिक्रमण में फंसने को विवश होते हैं।बहोरीबंद तिराहा से लेकर स्लीमनाबाद तिराहा तक मार्ग के दोनो ओर जगह-जगह भवन निर्माण सामग्री विक्रेता रेता ,गिट्टी व लोहा का जमावड़ा लगाए बैठे है।
वही दो व चार पहिया वाहनो की सर्विसिंग करने वाले टपरे रखकर काम कर रहे है।हद तो यह कि दिन प्रतिदिन सडक़ों पर लगने वाली एवं दुकानों को सडक़ों तक लाने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। जिससे वाहनों की कौन कहे इन सडक़ों पर पैदल चलने वालों को भी परेशानी झेलनी पड़ती है।बड़ी बात यह है कि इस मार्ग से होकर हर दिन जिले के वरिष्ठ अधिकारियों का आना-जाना होता है। लेकिन अतिक्रमण को लेकर प्रशासन की अनदेखीजारी है। जिसका नतीजा हर आम व्यक्ति प्रत्येक दिन भुगत रहा है।
स्लीमनाबाद में अतिक्रमण का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि यहां प्रत्येक दिन विभिन्न सामग्री के विक्रेताओ के द्वारा सड़क के किनारे ही लगा रहे है।
ठेला सडक़ पर ही लगता है। लेकिन इन्हें रोकने टोकने वाला कोई नहीं है। हालत यह कि ठेला की संख्या प्रत्येक दिन बढ़ती ही जा रही है।

राजनीतिक वजहों से भी फंसता है पेंच

स्थानीय जनो का कहना है कि अगर सडक़ों को अतिक्रमण मुक्त करना है तो प्रभावी कार्यवाही जरूरी है।इसके अलावा राजनीतिक दखल भी नहीं होना चाहिए। दरअसल अक्सर यह देखने में आता है कि अगर प्रशासन अतिक्रमण पर कार्यवाही करने जाती है तो नेताओं के फोन उनके पास पहुंचने लगते हैं। इससे वे पीछे हट जाते हैं।

वाहन चालक भी बढ़ा रहे दर्द

सडक़ पर अतिक्रमण के जिम्मेदार दुकानदार ही नहीं बल्कि वाहन चालक भी है। वे जहां मन करता है वहीं वाहन खड़े कर देते हैं। ऐसे में समस्या होती है और आए दिन जाम की स्थिति निर्मित होती है।स्लीमनाबाद तिराहा मैं तो शाम के समय आवागमन करना मुश्किल होता है।मार्ग के दोनो ओर वाहनों की पार्किंग रहती है।इस ओर पुलिस के द्वारा भी सिर्फ ओपचारिकता निभाई जाती है।इस संबंध मे थाना प्रभारी अखिलेश दाहिया का कहना था कि स्लीमनाबाद तिराहा मैं वाहनों की चेकिंग समय समय पर की जाती है।पूर्व मैं भी वाहन चालकों को सख्त हिदायत दी गई थी कि पार्किंग व्यवस्था तिराहा मैं न बनाये।यदि वाहन चालक मनमाने तरीके से पार्किंग व्यवस्था बना रहे तो अभियान चलाकर कारवाई की जाएगी।

इनका कहना है- राकेश चौरसिया एसडीएम

समय-समय पर अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही की जाती है।
वर्तमान मे लोकसभा चुनाव के चलते व्यस्तता रही!
अब जल्द ही अभियान चलाकर सडक़ों को अतिक्रमण मुक्त किया जाएगा।


इस ख़बर को शेयर करें