दसवीं और बारहवीं की परीक्षा अवधि की हर गतिविधि की होगी ऑनलाइन ट्रैकिंग,सीईओ जयति सिंह.

इस ख़बर को शेयर करें

जबलपुर, माध्यमिक शिक्षा मंडल की हाई स्कूल एवं हायर सेकेंडरी की परीक्षाओं के सुचारू संचालन के लिये परीक्षा केन्द्रवार नियुक्त कलेक्टर प्रतिनिधियों, केंद्राध्यक्षों एवं सहायक केंद्राध्यक्षों का प्रशिक्षण आज गुरुवार को मॉडल हाई स्कूल में संपन्न हुआ।सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जयति सिंह ने प्रशिक्षण को संबोधित करते हुये कलेक्टर प्रतिनिधियों को निर्देशित किया कि केंद्राध्यक्ष के साथ संबंधित थाने से प्रश्नपत्र निकलवाकर परीक्षा केंद्र तक सुरक्षित पहुंचाने एवं पर्यवेक्षकों को सौंपने का कार्य गंभीरता पूर्वक किया जाये। श्रीमती सिंह ने कहा कि सीलबंद प्रश्नपत्रों को थाने से निकलवाकर परीक्षाकेंद्र तक पहुँचाने की संपूर्ण प्रक्रिया की मोबाइल एप के माध्यम से ऑनलाइन ट्रैकिंग की जायेगी। कलेक्टर प्रतिनिधियों को परीक्षा केंद्र में पहुंचकर यह प्रमाण पत्र भी देना होगा कि केंद्राध्यक्ष, सहायक केंद्राध्यक्ष तथा परीक्षा कार्य में संलग्न समस्त कर्मचारियों के मोबाइल फोन अलमारी में सील कर दिये गये हैं।सीईओ जिला पंचायत ने कहा कि कलेक्टर प्रतिनिधियों को यह भी सुनिश्चित करना होगा कि निर्धारित समय पर परीक्षा कक्ष में ही प्रश्नपत्र का पैकेट खोला जायें । उन्हें परीक्षाओं के दिन परीक्षा शुरू होने के पहले परीक्षा केंद्र पर उपस्थित रहना होगा तथा वे सुचारू रूप से परीक्षा प्रारंभ करने के बाद ही परीक्षा केंद्र को छोड़ सकेंगे । उन्होंने स्पष्ट किया कि कलेक्टर प्रतिनधियों को प्रश्नपत्र के पैकेट लेने थाने पहुंचते ही एप पर लॉगिन करना होगा तथा परीक्षा शुरू होने के बाद ही वे एप से लॉगआउट हो सकेंगे । इस समस्त प्रकिया की ऑनलाइन ट्रैकिंग भी होगी।
प्रशिक्षण में जिला शिक्षा अधिकारी घनश्याम सोनी ने सभी केंद्राध्यक्ष एवं सहायक केंद्राध्यक्षों को निर्देशित किया कि कलेक्टर प्रतिनिधियों से समन्वय स्थापित करते हुए प्रक्रिया अनुसार निर्धारित समय पर प्रश्नपत्रों के बॉक्स खोलना, पर्यवेक्षकों को प्रश्नपत्र के लिफाफे वितरित कराना एवं परीक्षा प्रारंभ कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि मोबाइल, केलकुलेटर जैसे कोई भी उपकरण परीक्षा भवन में किसी के पास नहीं होने चाहिये ।परीक्षा के बाद उत्तर पुस्तिकाओं को निर्धारित स्थान पर सुरक्षित जमा कराया जाये । जिला शिक्षा अधिकारी ने परीक्षा की गोपनीयता बनाये रखने के सख्त निर्देश देते हुये कहा कि इस मामले में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी।प्रशिक्षण में जिला प्रबंधक ई-गवर्नेंस चित्रांशु त्रिपाठी, सहायक संचालक आर.के. बधान, मॉडल स्कूल के प्राचार्य मुकेश तिवारी, अरविंद अग्रवाल, अजय रजक, कृष्णकांत शर्मा, सुनील भटेले भी उपस्थित रहे।

 


इस ख़बर को शेयर करें