कलेक्टर ने उपार्जन समिति की बैठक में मूंग और उड़द की खरीदी के लिए दिए ये निर्देश 

इस ख़बर को शेयर करें

जबलपुर, समर्थन मूल्य पर किसानों से ग्रीष्म कालीन मूंग और उड़द की खरीदी प्रक्रिया के सुचारू संचालन को लेकर आज संपन्न हुई जिला उपार्जन समिति की बैठक में कलेक्टर दीपक सक्सेना ने खरीदों केंद्रों पर किसानों की सुविधा का विशेष ध्यान रखने के निर्देश अधिकारियों को दिये हैं।श्री सक्सेना ने कहा कि मूंग और उड़द का उपार्जन एफएक्यू मापदंड के अनुरूप और पंजीकृत किसानों से स्लॉट बुक कराने पर ही किया जाये। उन्होंने कहा कि किसानों को भी सलाह दी जाये कि वे अपनी मूंग और उड़द स्लॉट बुक कराने के बाद ही खरीदी केंद्रों पर लेकर आयें, ताकि उन्हें किसी तरह की कठिनाई का सामना न करना पड़े।कलेक्टर ने साफ शब्दों में कहा कि उपार्जन में किसी भी तरह की लापरवाही या अनियमितता बर्दाश्त नहीं की जायेगी। यदि कहीं भी ऐसा दिखाई दिया या इस प्रकार की शिकायतें प्राप्त हुई तो दोषी अधिकारियों-कर्मचारियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही होगी ।कलेक्टर श्री सक्सेना ने बैठक में उपार्जन से जुड़े अधिकारियों को स्पष्ट हिदायत दी कि मूंग और उड़द के उपार्जन के लिये बनाये गये खरीदी केंद्रों में किसी भी अनाधिकृत व्यक्ति को प्रवेश न दिया जाये। उन्होंने कहा कि किसानों से उपार्जित मूंग एवं उड़द को गोदामों में डबल लॉक की प्रक्रिया अपनाई जाये। प्रत्येक दिन उपार्जन का कार्य पूरा होने पर भंडारगृह निगम के अधिकारी गोदाम के अंदर रखे गये स्टॉक को सील करेंगे और बाहर गोदाम मालिक गोदाम को लॉक करेगा।बैठक में बताया गया कि किसानों से समर्थन मूल्य पर ग्रीष्म कॉलीन मूंग और उड़द के उपार्जन के लिये जिले में 21 गोदाम स्तरीय केंद्र बनाये गये हैं। इन केंद्रों पर 31 जुलाई तक किसानों से मूंग और उड़द का उपार्जन किया जायेगा। सभी खरीदी केंद्रों के सभी समिति प्रबंधक, गोदाम प्रबंधक, उपार्जन केंद्र के नोडल अधिकारी तथा कम्प्यूटर ऑपरेटर भी मौजूद थे।


इस ख़बर को शेयर करें