24 माह बनने वाला पुल 60 माह बाद भी नही बन सका,वर्षा काल मे राहगीरों को होगी परेशानी

इस ख़बर को शेयर करें

सुग्रीव यादव स्लीमनाबाद : वर्षा काल का समय शुरू होने वाला है ।हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी दर्जनों गांवों के ग्रामीणों को वर्षाकाल मैं आवागमन करने मे परेशानी का सामना करना पड़ेगा।क्योंकि स्लीमनाबाद से बिलहरी मार्ग संगम नदी का पुल वर्षा काल मे डूब जाता है।जिससे राहगीरों को आवागमन के लिए लंबी दूरी तय कर दूसरे रास्तो का सहारा लेना पड़ता है ।
गौरतलब है कि
क्षेत्रीय ग्रामीणों व स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने  संगम नदी के पुल की ऊंचाई बढ़ाने की मांग विधायक प्रणय पांडेय से की गई थी।जिस पर विधायक ने निर्माण एजेंसी पीएमजीएसवाई को पुल की ऊंचाई बढ़ाने पत्र लिखा गया।जिस पर पीएमजीएसवाई के द्वारा बिलहरी से स्लीमनाबाद मार्ग पर संगम नदी पर बने पुल की ऊँचाई बढ़ाने की कार्ययोजना तैयार की।

निर्धारित समयावधि मैं नही हो सका पुल का निर्माण कार्य

निर्माण एजेंसी के द्वारा कार्ययोजना मैं पुल की लंबाई 68.28 मीटर, लागत 162 लाख रुपये थी।पुल का निर्माण कार्य 26 अप्रेल 2019 को शुरू किया गया था।पुल निर्माण कार्य की समयावधि 26 अप्रेल 2021 थी।लेकिन समयावधि पूर्ण हो जाने के 37 माह अतिरिक्त हो गए है उसके बाद भी बाद भी पुल का निर्माण कार्य पूर्ण नही हो सका।ठेकेदार के द्वारा सिर्फ इन 60 महीने मैं मात्र पुल के नाम पर नदी मैं पिलर बस खड़े किए गए ।निर्माण कार्य मैं लेटलतीफी के चलते निर्माण एजेंसी पीएमजीएसवाई भी ठेकेदार पर लगाम नही लगा रही है।जिससे इस वर्ष भी क्षेत्रीय  ग्रामीणों को वर्षा काल मे समस्याओ का सामना करना पड़ेगा।क्षेत्रीय ग्रामीण गौरीशंकर गोस्वामी,संतोष यादव,बबलू राजपाल,मोहन यादव ने बताया कि यदि इसी गति से पुल का निर्माण कार्य हुआ तो अभी 2 वर्ष और लग जाएंगे ।जबकि सरकारी काम को ठेकेदार के द्वारा पलीता लगाया जा रहा है!सरकारी कार्य की ये बानगी सबको दिख रही है फिर भी जनप्रतिनिधियों व विभागीय अधिकारियो को कोई सरोकार नही दिख रहा है!
बारिश के दौरान खम्हरिया,खरखरी,पिपरिया परौहा,घुघरा सहित आसपास के गाँवो के लोगो को वर्षा काल मे पुल के ऊपर पानी होने पर दूसरे रास्तो का सहारा लेना पड़ता है।

इनका कहना है- प्रणय पांडेय
विधायक बहोरीबंद

संगम नदी पर बन रहे पुल का कार्य समयावधि मैं पूर्ण न होने का मामला प्रकाश मैं आया था!
जिसके बाद निर्माण एजेंसी का टेंडर निरस्त करने व ठेकेदार पर कारवाई करने के लिए पीएमजीएसवाई के महाप्रबंधक को पत्र लिखा गया था!
पुल निर्माण कार्य पर लेटलतीफी क्यों की जा रही है इसकी जानकारी ली जाएगी!
पुल के निर्माण कार्य मे जिसकी भी लाफ़रवाही सामने आएगी उसके खिलाफ कारवाई प्रस्तावित करवाई जाएगी!


इस ख़बर को शेयर करें