पहाड़ी क्षेत्रों मे अवैध रूप से चल रहा मुरम का उत्खनन

इस ख़बर को शेयर करें

स्लीमनाबाद- बहोरीबंद विकासखंड मुख्यालय अंतर्गत ग्राम कौड़िया धनवाही व भरदा हल्के मैं जो पहाड़ी क्षेत्र है उनपर चोरी छिपे दिन व रातों मैं मुरम का उत्खनन किया जा रहा है।
माफियाओं के द्वारा बिना किसी सरकारी अनुमति के खनन कर शासन को लाखो रुपये रॉयल्टी का चूना लगा रहे है।
माफियाओं के द्वारा आखिर इतना बड़ा खेल किसकी साठगांठ से खेला जा रहा है।यह समझ से परे है।

पहाड़ी क्षेत्रों का सीना छलनी कर बना रहे खाई-

कौड़िया व धनवाही हल्के मैं बिना अनुमति चोरी छिपे किये जा रहे मुरम उत्खनन से खनन स्थल खाई मैं परिवर्तित हो रहा है।जिससे भविष्य काल मे घटनाओ को न्यौता दिया जा रहा है।खुलेआम हो रहे इस खनन पर रोक लगाने अफसर मूकदर्शक बने हुए है।जिस कारण खनन का कार्य जोरो से चल रहा है।माफियाओं के द्वारा मनमाने तरीक़े से बिना कोई गाइडलाइंस व अनुमति के पहाड़ी क्षेत्र का दोहन किया जा रहा है।

पंचायत व हल्के पटवारी की मिलीभगत-

कौड़िया व धनवाही मैं जिस प्रकार से अनाधिकृत रूप से पहाड़ी क्षेत्र से मुरम का उत्खनन अवैध रुप से किया जा रहा है ,उसमें ग्राम पंचायत व हल्का पटवारी की मिलीभगत होने की संभावना है ।क्योंकि ग्राम पंचायत इन कार्यो के लिए एनओसी प्रदान करती है।साथ ही हल्का पटवारी को हल्के अंतर्गत हर भूमि की बारीकी से जानकारी रहती है।लेकिन विगत लंबे समय से उक्त स्थलों पर मुरम का खनन बिना किसी बेरोकटोक के चल रहा है।

भरदा मे दिननदहाड़े चल रहा था मुरम खनन –

सोमवार को भरदा मे दिनदहाड़े मुरम का खनन चल रहा था!
खनन कारोबारी के द्वारा जेसीबी व हाइवा लगाकर मुरम की खुदाई करवाई जा रही थी!जिसकी शिकायत तहसीलदार स्लीमनाबाद व बहोरीबंद से की गईं!लेकिन मौक़े स्थल पर हल्का पटवारी को भेजकर अधिकारियो इति श्री कर ली!
स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि उक्त खनन का कारोबार भरदा के ही एक भाजपा नेता के द्वारा कराया जा रहा था!

इनका कहना है- राकेश चौरसिया एसडीएम बहोरीबंद

बहोरीबंद विकासखंड अंतर्गत कौड़िया- धनवाही व भरदा के उक्त खनन स्थलों का निरीक्षण करते हुए खनन सम्बंधित जानकारी ली जाएगी।यदि बिना अनुमति व मापदंड से अलग खनन कराया गया है तो कार्रवाई प्रस्तावित की जाएगी।साथ ही आगे पहाड़ी क्षेत्रों का दोहन न हो इस पर प्रमुखता से ध्यान दिया जाएगा।

 


इस ख़बर को शेयर करें