हर गरीब को मिलेगा पक्का मकान,तीन करोड़ मकान बनायेगी राज्य सरकार , मुख्यमंत्री डॉ. यादव

इस ख़बर को शेयर करें

 

जबलपुर, मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा है कि भारतीय संस्कृति ने मानव जीवन में जल तत्व को सर्वोपरि माना है। संपूर्ण सृष्टि हो या मानव देह सभी में जल ही जीवन का आधार है। जिस प्रकार पृथ्वी की हरितिमा को नदियाँ जीवन प्रदान करती हैं, उसी प्रकार मानव देह के संचालन में जल की महत्वपूर्ण भूमिका है। मनुष्य के विचारों पर भी जल का बहुत अधिक प्रभाव रहता है। जीवन में जल की महत्ता को स्वीकारते हुए ही प्रदेश में विश्व पर्यावरण दिवस से गंगा दशहरा तक जल-गंगा संवर्धन अभियान संचालित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री डॉ. यादव शुक्रवार को मुलताई में उत्कृष्ट विद्यालय मैदान पर विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने बैतूल जिले के 347 करोड़ रुपए की लागत के 1008 कार्यों का भूमि पूजन और लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने विभिन्न शासकीय योजनाओं के हितलाभ भी वितरित किए। केन्द्रीय राज्य मंत्री श्री डीडी उईके ने भी संबोधित किया।

बैतूल में आरंभ होंगे उद्योग

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत को विश्व का नंबर वन देश बनाने के लिए प्रदेशवासी कृत-संकल्पित हैं। प्रदेश के विकास के लिए प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा की जा रही पहल के लिए सभी प्रदेशवासी उनके आभारी हैं। लोकसभा चुनाव में प्रदेशवासियों ने प्रधानमंत्री श्री मोदी के प्रति अपने विश्वास को अभिव्यक्त किया है। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि राज्य सरकार ने निर्णय लिया है कि प्रधानमंत्री श्री मोदी की मंशानुसार कोई भी गरीब बिना पक्के मकान के नहीं रहेगा। राज्य सरकार सभी पात्र परिवारों को पक्का मकान उपलब्ध कराने के लिए 3 करोड़ पक्के मकान बनाने जा रही है। हर घर जल और हर नल में जल अभियान भी प्रदेश में जारी है। सभी पंचायतों में नल से जल और हर घर में गैस का चूल्हा उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार कृत संकल्पित है। युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए शासन द्वारा विशेष पहल की जा रही है। स्थानीय युवाओं को जिले में ही रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से बैतूल जिले में भी उद्योग लगाने की योजना है।
जिलों की हवाई पट्टियों का उपयोग युवाओं के पॉयलेट प्रशिक्षण में भी करेंगे मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि प्रदेश में तीर्थ यात्रा के लिए हेलीकॉप्टर सेवा आरंभ की जा रही है, प्रारंभ में दो ज्योतिर्लिंगों, ओंकारेश्वर और महाकालेश्वर को इस सेवा से जोड़ा जा रहा है। प्रदेश के युवा हेलीकॉप्टर और विमान चलाना सीखें, इस उद्देश्य से आवश्यक प्रशिक्षण व कोर्स आरंभ किए जा रहे हैं, इसके अंतर्गत जिलों में उपलब्ध हवाई पट्टियों का उपयोग युवाओं को पॉयलेट के रूप में प्रशिक्षित करने के लिए किया जाएगा।

गौ-शालाओं को अनुदान के रूप में दी जाने वाली राशि दुगनी कर दी गई है

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि भगवान श्री राम और श्री कृष्ण के प्रदेश में जहॉ-जहॉ चरण पड़े हैं, ऐसे प्रत्येक स्थान को तीर्थ के रूप में विकसित किया जाएगा। ताप्ती धाम का भी विकास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमारी संस्कृति में गौ-माता में 33 करोड़ देवी देवताओं का वास माना गया है। राज्य सरकार प्रत्येक गाय की चिंता करने का कार्य कर रही है। गौ-शालाओं को दिए जाने वाले अनुदान की राशि दुगनी कर दी गई है। शीघ्र ही दूध पर बोनस देना आरंभ किया जाएगा।

जल-गंगा संवर्धन अभियान में बैतूल में जारी हैं 41.46 करोड़ के दो हजार से अधिक कार्य

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि मध्यप्रदेश में 212 से अधिक नदियां हैं। बैतूल और आसपास के जिलों में ताप्ती मैया का महत्व माँ गंगा के समान है। जल-गंगा संवर्धन अभियान प्रदेश की सभी पवित्र नदियों और सभी जल स्रोतों के रखरखाव और उनके संरक्षण को समर्पित है। प्रदेश में अब तक 1 लाख 12 हजार से अधिक लोगों ने इस अभियान में सक्रिय सहभागिता की है। बैतूल जिले में लगभग 41 करोड़ 46 लाख रुपए लागत के दो हजार से अधिक जल संवर्धन और जल संरक्षण के कार्य जारी हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में 39 करोड़ 53 लाख रुपए लागत के 1300 से अधिक कार्य और नगरीय क्षेत्र में एक करोड़ 92 लाख रूपए की लागत के 800 से अधिक कार्य जारी है। मनरेगा म से 5 हजार से अधिक कार्य बैतूल जिले में चल रहे हैं। नगरीय क्षेत्र में 114 से अधिक रिचार्जिंग के कार्य भी जारी हैं। बैतूल जिले में 119 से अधिक कुओं और बावड़ियों पर भी काम किया जा रहा है। जन-जन को जल संग्रहित करने में भागीदार बनने के लिए घर-घर में रूफ वाटर हार्वेस्टिंग लगाने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है, इससे वाटर रिचार्जिंग में मदद मिलेगी और जल संवर्धन में सभी की भागीदारी सुनिश्चित होगी।

प्रदेश में 5 करोड़ 50 लाख पौधे लगाने का अभियान

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि जल गंगा संवर्धन अभियान के साथ ही प्रदेश में 5 करोड़ 50 लाख पौधे लगाने का अभियान आरंभ किया जा रहा है। पेड़-पौधे ऋषि मुनियों के समान हैं जो हमें जीवन देने के लिए ऑक्सीजन प्रदान करते हैं। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कवि रहीम के दोहे ‘रहिमन पानी राखिए बिन पानी सब सुन’ का स्मरण करते हुए पानी के मानव जीवन में महत्व को दर्शाया।

मुख्यमंत्री का रोड शो में हुआ भव्य स्वागत

मुख्यमंत्री डॉ. यादव रोड शो में भी शामिल हुए, उनका मासोद रोड स्थित हेलीपैड पर जनप्रतिनिधियों द्वारा भव्य स्वागत किया गया। मुख्यमंत्री डॉ. यादव पुराना नागपुर नाका, अंबेडकर चौक से भव्य कलश यात्रा के साथ ताप्ती तट के महा आरती द्वार पहुंचे, उन्होंने ताप्ती तट पर मां ताप्ती के दर्शन किए तथा जलाभिषेक कर स्वच्छता अभियान में शामिल हुए। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने जल गंगा संवर्धन अभियान में ताप्ती नदी के उद्गम स्थल मुलताई में सूर्यपुत्र मां ताप्ती के तट पर पूजा अर्चना की एवं ताप्ती माता को चुनरी चढ़ाई।

प्रदर्शनी स्थल का अवलोकन किया

मुख्यमंत्री डॉ. यादव मुलताई स्थित उत्कृष्ट विद्यालय मैदान पहुंचे तथा आजीविका महिला स्व समूह सहित विभिन्न विभागों द्वारा विकास और जनकल्याण गतिविधियों पर लगाए गए स्टालों का अवलोकन किया। जिला पंचायत अध्यक्ष श्री राजा पंवार, बैतूल विधायक श्री हेमंत खंडेलवाल, आमला विधायक डॉ.योगेश पंडाग्रे, मुलताई विधायक श्री चंद्रशेखर देशमुख, भैंसदेही विधायक श्री महेन्द्र सिंह चौहान, घोड़ाडोंगरी विधायक श्रीमती गंगा सज्जन सिंह उईके तथा अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।


इस ख़बर को शेयर करें