संत श्री आशाराम बापू के लिये आयुर्वेद इलाज की मांग करते हुए सौपा ज्ञापन 

इस ख़बर को शेयर करें

जबलपुर/छिंदवाड़ा – सामाजिक कार्यकर्ता भगवानदीन साहू के नेतृत्व में विभिन्न धार्मिक एवं सामाजिक संगठनों ने आज महामहिमराष्ट्रपति और मुख्य न्यायाधीश सुप्रीम कोर्ट के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौपकर निर्दोष सन्त श्री आशाराम जी बापू के लिए आयुर्वेद चिकित्सा की मांग करते हुए ज्ञापन सौपा,

हिन्दू संत होना उनका गुनाह 

ज्ञापन सौपते हुए बताया गया की गत 11 वर्षा से जोधपुर जेल में बंद निर्दोष सन्त श्री आशाराम जी बापू का स्वास्थ्य ठीक नही है। जोधपुर जेल प्रशासन ने उन्हें एम्स में भर्ती कराया है वहा के चिकित्सकों ने ह्रदयरोग की समस्या बताई है।साधकों ने बताया की उनके कुशल स्वास्थ्य के लिए देश भर के आश्रमो में और अन्य कई धार्मिक एवं सामाजिक संगठनों द्वारा वैदिक रूप से मन्त्र जाप,अनुष्ठान सम्पन हो रहे है। उनके वकीलों ने कई बार न्यायालय से उनके इलाज के लिए पेरोल माँगी लेकिन न्यायालय ने तारीख के अलावा कुछ नही दिया।उनका गुनाह सिर्फ इतना है कि वो हिन्दू सन्त है और उन्होंने लाखो लोगो की घर वापसी करवाई, धर्मांतरण का विरोध किया, मातृ-पितृ पूजन दिवस जैसे आयोजनो को पूरे विश्व मे करवाया, पूरे विश्व का पर्यावरण संरक्षण के लिए तुलसी पूजन अभियान शुरु किया। आदिवासी गरीब पिछड़े इलाकों में जमकर भंडारा करवाया, पूरे विश्व मे आध्यात्मिक क्रांति लाई, ऐलोपैथिक दवाई का विरोध किया। सैकड़ों गुरुकुल की स्थापना की जहाँ बच्चे सनातन संस्कृति की परंपरा से अवगत हो ऐसे कई अनगिनत सेवा कार्यो के कारण उनके साथ अन्याय किया गया। उन्हें एक दिन की जमानत या एक दिन का पेरोल नही दिया जाना न्याय व्यवस्था का दुराग्रह प्रतीत होता हैं आवश्यक कार्यवाही की मांग की

ये रहे उपस्थित 

वहीं ज्ञापन देते समय साध्वी नीलू बहन, आधुनिक चिन्तक हर्षुल रघुवंशी, शिक्षाविद विशाल चउत्रे, राष्ट्रीय बजरंग दल के नितेश साहू, कुनबी समाज के युवा नेता अंकित ठाकरे, कलार समाज के सुजीत सूर्यवंशी, पावर समाज के प्रमुख हेमराज पटले, टेलीकॉम सेक्टर के प्रतिष्ठित व्यवसायी नितिन डोईफोड़े, युवा सेवा संघ के ओमप्रकाश डहेरिया, अश्विन पटेल, सुभाष इंग्ले , आई टी सेल के प्रभारी भूपेश पहाड़े, अखिल भारतीय नारी रक्षा मंच से दर्शना खटटर , छाया सूर्यवंशी , डॉ मीरा पराड़कर , शकुंतला कराडे , पूनम मक्कड़ , रुपाली इंग्ले आदि उपस्थित रहे।

 


इस ख़बर को शेयर करें