सिहोरा में कोरोना काल के समय बंद हुई ट्रेनो को अब तक नहीं मिला स्टापेज 

इस ख़बर को शेयर करें

जबलपुर /सिहोरा- जबलपुर संसदीय क्षेत्र में यात्री, कृषि एवं माइनिंग व्यापार से सर्वाधिक राजस्व उपलब्ध कराने वाला सिहोरा रेलवे स्टेशन में यात्री ट्रेनों के ठहराव की मांग नवनिर्वाचित सांसद आशीष दुबे से स्थानीय जनों ने की है। यहां के लोग पिछले लंबे समय से यात्री ट्रेनों के ठहराव की मांग उठा रहे हैं लेकिन अभी तक सुनवाई नहीं होने से लोगों में रोष व्याप्त है। सिहोरा बहोरीबंद मझौली ढीमरखेड़ा तहसील के लगभग 1000 ग्राम के निवासियों को सस्ती रेल सुविधा का लाभ दिलाने वाले सिहोरा रेलवे स्टेशन में उंगलियों पर गिनी जा सकने वाली यात्री ट्रेनों का ठहराव है। कोरोना काल मैं बंद हुई यात्री ट्रेनों के ठहराव सिहोरा से छोटे स्टेशनों पर यथावत कर दिए गए लेकिन राजनीतिक उपेक्षा के शिकार सिहोरा रोड रेलवे स्टेशन कोरोना काल समाप्त होने के बाद भी यात्री सुविधाओं में इजाफा करने गुहार लगा रहा है।
*विभिन्न संगठन कर चुके हैं मांग*
रेलवे स्टेशन से प्रतिदिन हजारों यात्री विभिन्न स्थानों के लिए सफर करते हैं इसके अलावा कृषि एवं मीनिंग व्यापार से रेल विभाग को प्रतिदिन हजारों रुपए की आमदनी होती है लेकिन यहां पर कई एक्सप्रेस ट्रेनों का ठहराव नहीं किया गया। हालांकि इन ट्रेनों के रेलवे स्टेशन पर ठहराव के लिए विभिन्न संगठन अनेक बार मांग कर चुके हैं लेकिन उन्हें केवल आश्वासन देकर शांत कर दिया जाता है।
*सांसद दुबे को भाजपा ने भी सौंपा था ज्ञापन*
वरिष्ठ भाजपा नेता अरुण जैन ने नवनिर्वाचित सांसद आशीष दुबे को यात्री सुविधाओं की समस्या से अवगत कराते हुए यात्री सुविधाओं में इजाफा कराने की मांग की है। जैन द्वारा प्रेषित ज्ञापन के अनुसार विधानसभा क्षेत्र पूर्व से ही उपेक्षा का शिकार रहा है चूंकि क्षेत्र का नेतृत्व युवा हाथों में आने के कारण विकास की एक नई रोशनी झलक रही है।
*व्यापार उद्योग हो रहे बुरी तरह प्रभावित*
विदित हो विधानसभा क्षेत्र में कृषि एवं माइनिंग व्यापार की असीम संभवानाओं के होते हुए भी यहां पर रेल आवागमन की सुविधाएं अत्यन्त कम है । रीवा इतवारी ट्रेन, जो कि प्रत्येक दिवस को सिहोरा स्टेशन से होकर अप एवं डाउन स्थिति में चलती है इसका स्टापेज न होना व्यापार उद्योग एवं कृषि को प्रभावित करता है । इसी प्रकार शहडोल से होकर नागपुर की ओर चलने वाली ट्रेन जिसका स्टापेज भी सिहोरा रोड रेल्वे स्टेशन में नहीं है।जबलपुर -हरिद्वार एक्सप्रेस जो कि सिहोरा से होकर गुजरती है जिसका पूर्व में सिहोरा में स्टापेज था चूंकि करोना के समय अनेक ट्रेन बंद कर दी गई थी पुनः चालू होने के कारण इसका स्टापेज पुनः नहीं किया गया ।
*कारोना काल में बंद ट्रेनों को पुन चालू करने की मांग*
कारोना कॉल में रेलवे प्रबंधन द्वारा सिहोरा में रुकने वाली जबलपुर कोटा- एक्सप्रेस,जबलपुर -हरिद्वार एक्सप्रेस, सतना -इटारसी एक्सप्रेस एवं जबलपुर- महुआ डीह एक्सप्रेस ट्रेन को बंद कर दिया गया था अब जबकि स्थिति सामान्य हो चुकी है लेकिन रेलवे प्रबंधन द्वारा इन ट्रेनों को प्रारंभ नहीं किए जाने से यात्रियों को सस्ती एवं सुलभ यात्रा से वंचित होना पड़ रहा है।

 


इस ख़बर को शेयर करें