लाडली बहनों के खाते में आये 48.58 करोड़ रुपये

इस ख़बर को शेयर करें

जबलपुर :लाडली बहना योजना की जिले की 3 लाख 88 हजार 663 हितग्राहियों के बैंक खाते में आज शुक्रवार को जुलाई माह की 1250 रुपये की किश्त के मान से 48 करोड़ 58 लाख 28 हजार 750 रुपये की राशि अंतरित की गई । मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने लाडली बहनों के खाते में इस राशि का अंतरण आज शुक्रवार को टीकमगढ़ जिले के ग्राम छिपरी में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम से किया । मुख्यमंत्री डॉ यादव ने इस कार्यक्रम में लाडली बहना योजना की प्रदेश की 1.29 करोड़ हितग्राही बहनों के खाते में जुलाई माह की किश्त के रूप में 1574 करोड़ रुपये से अधिक की राशि का अंतरण किया ।टीकमगढ़ जिले की ग्राम छिपरी में आयोजित इस राज्य स्तरीय कार्यक्रम का प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर सीधा प्रसारण किया गया था । जबलपुर जिला मुख्यालय में कलेक्ट्रेट स्थित एनआईसी के वीसी रूम में आयोजित सीधे प्रसारण के इस कार्यक्रम में कलेक्टर दीपक सक्सेना, लाडली बहना योजना एवं अन्य योजनाओं के चयनित हितग्राही भी मौजूद थे । कलेक्टर श्री सक्सेना ने इस अवसर पर सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के आठ हितग्राहियों को स्वीकृति पत्र प्रदान किये ।
क्रमांक/2235/जुलाई-61/जैन (फोटो)

तिंदनी सिंचाई जलाशय को मत्स्य पालन हेतु पट्टे पर देने आवेदन आमंत्रित.

जिले के जनपद पंचायत पनागर के अंतर्गत 44 हेक्टेयर के तिंदनी जलाशय को मत्स्य पालन हेतु 10 वर्ष के पट्टे पर देने पंजीकृत अथवा प्रस्तावित मछुआ सहकारी समितियों एवं मछली पालन के निमित्त गठित मछुआ समूहों से 26 जुलाई तक आवेदन आमंत्रित किये गये । आवेदन सहायक संचालक मत्स्योद्योग कार्यालय में प्रस्तुत किये जा सकेंगे । पट्टे से सबंधित नियमों एवं शर्तों का अवलोकन सहायक संचालक मत्स्योद्योग कार्यालय अथवा कार्यालय जनपद पंचायत पनागर में किया जा सकेगा।

मिशन कर्मियों को जिला पंचायत सीईओ ने दिए निर्देश

जिला पंचायत की सीईओ श्रीमती जयति सिंह ने आज शुक्रवार को आयोजित मध्यप्रदेश राज्‍य ग्रामीण आजीविका मिशन जबलपुर की बैठक में उपस्थित जिला एवं विकासखण्‍ड के समस्त मिशन कर्मियों को लखपति दीदी योजना हेतु ग्राम स्‍तर पर चरण बद्ध रूप से सर्वेक्षण सघन प्रयास करने की निर्देश दिए।बैठक में श्रीमती सिंह द्वारा स्‍व-सहायता समूह की दीदियों के माध्यम से मां नर्मदा के जल को आध्यात्मिक स्मृति के रूप में नर्मदा नीर एवं छोटे मार्बल के शिवलिंग आदि सामग्रियों की पैकिंग कर रेल्‍वे स्‍टेशन, एयरपोर्ट एवं बस स्‍टेंड आदि में जन समुदा‍य को उपलब्‍ध कराए जाने की नवीन पहल पर चर्चा की गई। साथ ही शासकीय एवं अशासकीय कार्यालयों में कार्यरत महिलाओं के बच्‍चों की देखरेख के लिए स्‍व-सहायता समूह की दीदियों द्वारा रानी दुर्गावती विश्‍वविद्यालय, शक्ति भवन एवं एमपीईबी में डे-केयर सेंटर सुचारू रूप से स्‍थापित किए जाने के निर्देश दिए गए।


इस ख़बर को शेयर करें