महिला दिवस: 4667 महिलाओं के स्वास्थ्य परीक्षण का लिया संकल्प लिया

जबलपुर महिला बाल विकास विभाग ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को विभाग की सेक्टर महिला पर्यवेक्षक, आंगनवाडी कार्यकर्ता एवं आंगनवाड़ी सहायिकाओं को समर्पित करते हुए प्रदेश में इन्हें स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने का निर्णय लिया है। जिसका उद्देश्य महिला कर्मियों को उनके कार्य के साथ-साथ स्वास्थ्य संबंधी जागरूकता में वृद्धि करना, पोषण स्तर, हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, स्तन कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, ओरल कैंसर, बांझपन एवं स्त्री रोग संबंधी अन्य समस्याओं की पहचान करना है।
विभाग द्वारा वृहद रूप से इस सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र विकासखंड मुख्यालय, सिविल अस्पताल एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर 8 मार्च से 31 मार्च तक सिलसिलेवार चिकित्सकीय जांच के मेगा शिविर आयोजित किए जाएंगे।इसी क्रम में जबलपुर जिले में 8 मार्च से 22 मार्च की अवधि में प्रारंभिक स्वास्थ्य जांच शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। इन शिविरों में 100 से 150 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की विकास खंड स्तर पर स्वास्थ्य जांच प्रारंभ की जा चुकी है। साथ ही 9 मार्च से 22 मार्च तक 50 से 75 महिला कर्मियों के स्वास्थ्य परीक्षण सुनिश्चित किया जा रहा है।महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी एम एल मेहरा ने बताया कि जबलपुर जिले में 40 शिविरों के माध्यम से 4 हजार 667 महिला कर्मचारियों जिनमें 93 पर्यवेक्षक, 2 हजार 191 आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, 2 हजार 191 सहायिका तथा 292 मिनी आंगनवाड़ी केंद्र की कार्यकर्ताओं का शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य परीक्षण किया जायेगा।सहायक संचालक मनीष सेठ ने बताया कि 22 मार्च तक मैदानी अमले के स्वास्थ्य परीक्षण के उपरांत उन्हें हेल्थ कार्ड प्रदान किए जायेंगे। उन्होंने बताया कि जांचकर्ता चिकित्सक द्वारा महिला कर्मियों के संपूर्ण स्वास्थ्य परीक्षण जिसमें प्रजनन संबंधी बीमारियां भी शामिल है की जांच सुनिश्चित करने के लिए राज्य शासन ने निर्देशित किया है। महिला कर्मियों के सामान्य रोगों के उपचार एवं सलाह शिविर में ही दी जावेगी किंतु गंभीर रोगों की स्थिति में उन्हें जिला स्तर पर चिकित्सा सुविधा प्रदान करने की व्यवस्था की गई है।
महिला कर्मियों के स्वास्थ्य परीक्षण का कार्य एवं सूचीबद्ध कर उन्हें चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए 28 से 30 मार्च तक जिला चिकित्सालय में विशेष स्वास्थ्य जांच एवं उपचार शिविरों का आयोजन किया जाना सुनिश्चित किया गया है।

 

शेयर करें: