लॉक डाउन,शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में पसरा रहा सन्नाटा ,स्ट्रीट बेंडरो सहित लोन की क़िस्त जमा करने वालों क्या होगा ?

जबलपुर :कोरोना की दूसरी लहर के कहर को रोकने के लिए प्रशासन द्वारा लगाए गए लॉक डाउन के चलते आज शनिवार के दिन जबलपुर शहर सहित ग्रामीण क्षेत्र सिहोरा ,मझोली, कुंडम ,पनागर की सड़कों में दिनभर सन्नाटा पसरा रहा ,लेकिन अब ऐसे में जब कोरोना की चेन रोकने के लिए लॉक डाउन को बढ़ाने की खबरें आने लगीं तो गरीब बेंडरो सहित मध्यम वर्ग की धड़कने भी तेज हो गई ,सबको सरकार से एक आस फिर से बंध गई की गत वर्ष की तरह इस वर्ष भी लोन की किस्तों को जब तक लॉक डाउन है, तब तक लोगों को लोन की किस्तें भी देनी न पड़ें क्योंकि जब लोग घर से ही न निकलेंगे तो कमाएंगे क्या जब न कमाएंगे तो लोन की किस्तें कैसे जमा करेंगे,इस विषय मे सरकार को थोड़ा सा गम्भीरता से सोचना होगा ताकि ऐसे लोग जो रोज कमाकर घर चलाते है, साथ ही लोन की किस्तें भी जमा करते है उन्हें राहत मिलेगी ,

संक्रमण की चेन तोड़ने चारों खूट लाक रहा सिहोरा

नगर में संक्रमण की रफ्तार को ब्रेक लगाने शुक्रवार की शाम 6 बजे से घोषित लॉकडाउन के दौरान शनिवार को सुबह से ही नगर एवं उपनगर खितौला चारों को खूट लाक रहा। नगर के समस्त व्यवसायिक प्रतिष्ठान पूरी तरह बंद रहे वहीं इक्का-दुक्का सब्जी के ठेले नगर में फेरी लगाते नजर आए नगर के प्रमुख व्यसाय के स्थल पुराना बस स्टैंड गोरी तिराहा नया बस स्टैंड झंडा बाजार खितौला तिराहा खितौला बाजार बस स्टैंड के व्यवसायिक प्रतिष्ठान सुबह से लाक रहे वहीं प्रशासन के दिशा निर्देशों के अनुसार अनुमति प्राप्त गतिविधियों का ही संचालन हो सका

ग्रामीण परिवहन पर भी दिखा असर

लॉकडाउन के प्रतिबंध से मुक्त रेल बस यात्री परिवहन सेवा पर लॉक डाउन का साया छाया रहा ग्रामीण परिवहन सेवा की इक्का-दुक्का बस ही संचालित रहीं वही जबलपुर एवं पड़ोसी जिले कटनी में भी लॉक डाउन होने के कारण जबलपुर कटनी मार्ग की बसों की आवाजाही भी ना के बराबर रही।
*सिहोरा में 39 मझौली में 23 एक्टिव केस*
विकासखंड स्वास्थ्य अधिकारी सिहोरा डॉक्टर दीपक गायकवाड से प्राप्त जानकारी के अनुसार सिहोरा में एक्टिव केस की संख्या 39 हो गई है शनिवार को 150 लोगों की सैंपल इन एवं 1229 लोगों का वैक्सीनेशन किया गया है वही विकासखंड स्वास्थ्य अधिकारी मझौली पारस ठाकुर ने बताया कि मझौली में एक्टिव केसों की संख्या अभी 23 है आरटी पीसीआर से 71 लोगों की सैंपलिंग की गई है तथा वैक्सीनेशन 502 लोगों का किया गया है
*आत्मनिर्भर बनने में लॉकडाउन ने लगाया ब्रेक*
गत वर्ष लाक डाउन के दौरान आर्थिक हानि से उबरने शासन प्रशासन द्वारा स्ट्रीट वेंडर सहित अन्य योजनाओं के माध्यम से व्यापारियों को आत्मनिर्भर बनाने सार्थक पहल का प्रारंभ किया था किंतु कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ने फिर धरातल पर ला दिया है सड़कों पर छोटी-छोटी दुकान लगाकर अपने एवं अपने परिवार का उधर पोषण कर रहे लोगों मैं लॉकडाउन को लेकर अनेक आशंका जन्म ले रही हैं छोटे छोटे व्यापारियों के समक्ष बैंक से मिले लोन की किस्त चुकाना वर्तमान परिस्थिति में बड़ी चुनौती बन गया है

शेयर करें: