रेमडिसेवर इंजेक्शन की कालाबाजारी करते हुए तीन आरोपी गिरफ्तार

जबलपुर : माढ़ोताल पुलिस ने कार्यवाही करते हुए कोरोना के ईलाज में प्रयोग किए जाने वाले रेमडिसेवर इंजेक्शन की कालाबाजारी करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए उनके कब्जे से 77 हजार कीमती चार नग रेमडिसेवर इंजेक्शन जप्त करते हुए कार्यवाही की है,

77 हजार रूपये में बेच रहे थे चार नग रेमडिसेवर इंजेक्शन

थाना प्रभारी माढ़ोताल  रीना पांडे शर्मा ने बताया कि आज दिनाँक 15-04-2021 को मुखबिर से सूचना प्राप्त की हुई कि कुछ व्यक्ति साँई होटल वाली गली नेमा हार्ट अस्पताल के पास कोरोना के ईलाज में प्रयोग किए जाने वाले रेमडिसेवर इंजेक्शन को चोरी छिपे 77000 रुपए में ग्राहको को बेचने के लिए खड़े है ।सूचना पर तत्काल हमराह स्टाफ के साँई होटल वाली गली नेमा हार्ट अस्पताल के पास दबिश दी जहाॅ मुखबिर के द्वारा बताये स्थान साँई होटल वाली गली नेमा हार्ट अस्पताल के पास पाँच व्यक्ति खड़े दिखे जिनमें से तीन व्यक्ति पुलिस को देखकर भागने लगे, भाग रहे तीनों व्यक्तियो को घेराबंदी करते हुए पकड़ा, जिन्होने पूछताछ पर अपने नाम 1-विवेक असाठी पिता राममनोहर असाठी उम्र 24 वर्ष निवासी ग्राम बुढ़ागर बस स्टैंड कमानिया गेट के सामने थाना गोसलपुर, 2-रामलखन पटैल पिता मदन कुमार पटैल उम्र 24 वर्ष निवासी सिहोरा हाल निवासी आईटीओ के सामने किराए का मकान थाना माढ़ोताल, 3-अतुल शर्मा पिता विजय शर्मा उम्र 24 वर्ष निवासी ग्राम भटिया थाना हटा जिला दमोह बताये।दो व्यक्ति जो भागे नहीं थे से भी नाम पता पूछा गया जिन्होने अपने नाम राजेन्द्र सिंह पिता खुमान सिह उम्र 45 वर्ष एवं रुद्रप्रताप सिंह पटैल पिता देवेन्द्र सिंह पटैल उम्र 23 वर्ष दोनो निवासी ग्राम ढाँढिया थाना पिपरिया जिला हौशंगाबाद बताये। राजेन्द्र सिंह ने बताया कि उसके भाई तरवर सिंह एलबीएस अस्पताल भोपाल में भर्ती है जिसे कोरोना के ईलाज के लिए रेमडिसेवर इंजेक्शन की आवश्यकता है रेमडिसेवर इजैक्शन की व्यवस्था हेतु जबलपुर आये है। पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ करने पर पाया गया कि विवेक असाठी ने रामलखन पटैल को फोन करके 04 नग रेमडिसेवर इंजेक्शन के बारे में पूछा तो रामलखन के द्वारा रेमडिसेवर इंजेक्शन दिलवाने की बात की गई और बदले में 52000 रुपए देने हेतु बताते हुये बताया कि उसका दोस्त अतुल शर्मा है जो नेमा हार्ट अस्पताल के पास 04 नग रेमडिसेवर इंजेक्शन देगा ।अतुल शर्मा ने विवेक असाठी को फोन करके बताया कि मैं नेमा अस्पताल के पास खड़ा हूँ तुम पैसे लेकर आ जाओ । विवेक असाठी और रामलखन पटैल दोनो नेमा अस्पताल के पास अतुल शर्मा के पास गए तो विवेक असाठी ने रेमडिसेवर इंजेक्शन लेने आए राजेन्द्र सिंह से 04 इंजेक्शन के बदले 77000 हजार रुपए ले लिए । विवेक असाठी के द्वारा 77000 हजार रुपए में से 52000 हजार रुपए अतुल शर्मा को दिए ।इस प्रकार विवेक असाठी ने 25 हजार रुपए, रामलखन पटैल ने 8 हजार रुपए, अतुल शर्मा ने 44 हजार रुपए अपने पास रख लिए ।
पकड़े गए आरोपी विवेक असाठी से 25 हजार रुपए, रामलखन पटैल से 8 हजार रुपए, अतुल शर्मा से 44 हजार रुपए तथा 04 नग रेमडिसेवर इंजेक्शन जप्त करते हुये तीनों के विरुद्ध थाना माढ़ोताल में अपराध क्रं. 302/21 धारा 269, 270 भादवि, 53, 57 आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005, 3 महामारी अधिनियम 1897, तथा 3-7 आवश्यक वस्तु अधिनियम 1995, एवं 5, 13 म.प्र.ड्रग कंट्रोल एक्ट 1949 के अंतर्गत अपराध कर तीनों आरोपियों को विधिवत गिरफ्तार कर तीनो आरोपियो को माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया गया है ।

*उल्लेखनीय भूमिका* – रेमडिसेवर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले आरोपियों को पकड़ने में थाना प्रभारी माढ़ोताल निरीक्षक रीना पांडे शर्मा, उप निरीक्षक यदुवंश मिश्रा, शिवगोपाल यादव, सउनि दयांशकर सेन, प्रआर हिमलेश, रवि वर्मा, कपिल कौरव, सुदीप, विनीत उपमन्यु की सराहनीय भूमिका रही ।

शेयर करें: