सिहोरा में हजारों की संख्या में किसानों ने निकाली ट्रैक्टर रैली,बोले काले कानून वापिस लो 

 फोटो (उमेश विश्वकर्मा सिहोरा)

जबलपुर:आज सुबह तो लोगों ने 72 वां गणतंत्र दिवस मनाया लेकिन 10 बजते ही नगर की गलियों में ट्रैक्टरों का हुजूम निकलना सुरु हो गया,ट्रैक्टरों में बैठे किसान जय जवान जय किसान ,वंदे मातरम ,काले कानून वापिस लो के नारे लगाते दिखे,थोड़ी देर होते ही सिहोरा में  नारों की आवाजें गूंजने लगीं कुछ किसानों ने ट्रैक्टरों में बक्सा लगाकर राष्ट्रभक्ति की गीत बजाते दिखाई दिए,तो कुछ सरकार विरोधी नारे लगाते दिखाई दिए,हलाकि पुलिस प्रशासन ट्रेक्टर रैली को लेकर अलर्ट  दिखाई दिया ,

पहरेवा मंडी के पास एकत्रित हुए सभी ट्रेक्टर,

आज के किसान आंदोलन में खास बात यह रही की पूरा आंदोलन शांतिपूर्ण रहा,इस आंदोलन में सिहोरा तहसील सहित मंझोली तहसील के सभी किसान अपने -अपने ट्रेक्टर लेकर पहुँचे थे,ट्रेक्टर लेकर पहुँचे किसानों ने पहरेवा नाका कृषि उपज मंडी के समीप मैदान में अपने -अपने ट्रेक्टर खड़े कर दिए ट्रैक्टरों की संख्या इतनी ज्यादा थी की मैदान भी कम पड़ गया,अधिकांश ट्रेक्टर एनएच 30 में लाइन लगाकर खड़े थे,उसके बाद तकरीबन 1 बजे के किसानों ने अपने ट्रैक्टरों की रैली सुरु की जो की खितौला बाजार होते हुए ,बाबाताल पहुँची जहाँ से मैना कुआं के रास्ते झंडाबाजार होते हुए सिहोरा थाना पहुँची ,

म्रतक किसानों को दी गई श्रद्धांजलि 

भारतीय किसान यूनियन की अगुवाई में हुए आज के आंदोलन की समाप्ति किसानों ने थाना के सामने बैठकर दी,इस दौरान किसानों ने सरकार द्वारा हाल में पारित किए गए कानून को किसान विरोधी बताते हुए सरकार से इन काले कानून को रद्द करने की अपील करते हुए दिल्ली बार्डर में शहीद हुए किसानों को श्रधांजलि दी ,साथ ही यहाँ से किसानों ने हुंकार भरते हुए कहा की अभी तो यह छोटा सा आंदोलन है, यदि सरकार काले कानूनों को वापिस नहीं लेती तो भविष्य में उग्र आंदोलन होगा,हम कमजोर नहीं है हम अन्नदाता है ,

वहीँ किसान आंदोलन में शामिल होने वाले मुख्य लोगों में किसान नेता के .के .अग्रवाल,रमेश पटेल,कांग्रेश नेता राजेश चौबे ,जितेंद्र श्रीवास्तव ,ममता गोटियां, नवीन शुक्ला ,किसान उदय पटेल ,बहादुर पटेल ,अस्वनी पटेल,सहित हजारों की संख्या में किसान  ट्रैक्टर रैली में शामिल हुए ,

 

किसानों की सिहोरा में ट्रैक्टर परेड

शेयर करें: