कोरोना की तीसरी लहर के पहले प्रशासन अलर्ट,समीक्षा बैठक में हुई ये चर्चा 

जबलपुर :जिला प्रशासन ने कोरोना की संभावित तीसरी लहर के प्रभाव से निपटने के लिये अब कमर कस लिया है। इसके लिये सभी जरूरी व्यवस्थायें और संसाधनों का आंकलन कर कार्ययोजना आधारित रणनीति की समीक्षा बैठक बुधवार को कलेक्टर कर्मवीर शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित की गई । बैठक में कलेक्टर श्री शर्मा ने कहा कि विशेषज्ञों द्वारा यह कहा जा रहा है कि कोरोना वायरस की तीसरी लहर भी आ सकती है अत: इसके बचाव के लिये अग्रिम तैयारी समुचित रूप से कर लिया जाये ताकि परिस्थितियां सामान्य रहे। उन्होंने बैठक में मौजूद शासकीय एवं निजी अस्पतालों के वरिष्ठ चिकित्सकों से कहा कि कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर से निपटने कारगर रणनीति बनाने पर जोर दिया जाये । साथ ही तीसरी लहर का प्रभाव को देखते हुए शहर के सभी शासकीय एवं निजी अस्पतालों में पीडियाट्रिक आईसीयू बेड बढ़ाने की आवश्यकता बताई है। इस बैठक में नगर निगम आयुक्त संदीप जीआर, अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित, मेडिकल कॉलेज के नोडल अधिकारी कोविड डॉ संजय भारती, प्रभारी क्षेत्रीय स्वास्थ संचालक डॉ संजय मिश्रा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ रत्नेश कुररिया, डॉ जीतेन्द्र जामदार, डॉ राजेश धीरावाणी, डॉ पवन स्थापक, डॉ प्रदीप दुबे, डॉ अव्यक्त अग्रवाल, डॉ नीतू यादव, जिला रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव आशीष दीक्षित तथा शहर में स्थित निजी अस्पतालों के संचालक मौजूद थे ।कलेक्टर ने बैठक में कहा कि विशेषज्ञों द्वारा कोरोना की तीसरी लहर का बच्चों पर सर्वाधिक प्रभाव पड़ने का अंदेशा जताया गया है । इसे देखते हुये हमे पीडियाट्रिक आईसीयू बेड बढ़ाने के साथ-साथ बच्चों का ऑक्सीजन लेवल लेने के लिये पल्स ऑक्सीमीटर एवं मास्क की भी पर्याप्त व्यवस्था करने की बात कही । श्री शर्मा ने कोरोना से बच्चों की सुरक्षा के उपायों के प्रति उनके अभिभावकों में जागरूकता पैदा करने की जरूरत बताई और इसके लिये अभियान चलाने का सुझाव दिया । उन्होंने इसके लिये सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने की बात भी कही । कलेक्टर ने कहा कि चूंकि आसपास के जिलों का भार जबलपुर के अस्पतालों पर भी आता है इसलिये अभिभावकों को जागरूक करने का कार्य जबलपुर के आसपास के जिलों में चलाया जाये । कलेक्टर ने बैठक कोरोना की तीसरी लहर से निपटने सभी प्रारंभिक तैयारियां समय रहते पूरी कर लेने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दी । उन्होंने जबलपुर के वरिष्ठ चिकित्सकों एवं शिशु रोग विशेषज्ञों का व्हाट्सअप ग्रुप बनाने तथा इस पर अपने सुझाव एवं अनुभव शेयर करने की बात कही । श्री शर्मा ने निजी पीडियाट्रिक अस्पतालों के नर्सिंग स्टॉफ को कोरोना मरीजों के उपचार का प्रशिक्षण आयोजित करने के निर्देश भी बैठक में दिये।

शेयर करें: