रुपये न देने पर पुत्र ने कर दी थी पिता की हत्या ,आरोपी पुत्र गिरफ्तार 

 

जबलपुर :जिस पिता ने पाल पोसकर  बेटे को बड़ा किया पढ़ाया लिखाया और इस योग्य बनाया की वो बुढ़ापे का सहारा बनेगा उसी कलयुगी बेटे ने अपने पिता की हत्या कर दी ,और पिता के घर से  पैसे निकालकर अपने घर चला गया ,ये सनसनीखेज वारदात जबलपुर के बरेला की है,पुलिस ने आरोपी पुत्र को गिरफ्तार कर लिया है,

ये है पूरा मामला,

मामला बरेला थाना क्षेत्र का है ,थाना बरेला में दिनाॅक 8-6-21 को ग्राम हिनौतिया भोई मे शिव मंदिर के पास वृद्ध के मृत पडे होने की सूचना पर थाना प्रभारी बरेला श्री सुशील चैहान हमराह स्टाफ को लेकर मौके पर पहुंचे जहाॅ अशेाक मार्को उम्र 47 वर्ष निवासी हिनौतिया भोई ने बताया कि सुबह 6-30 बजे उसकी बेटी ने बताया कि शिवमंदिर के पास बब्बा को किसी ने मारा है जो खून से लथपथ पड़े हैं। जानकारी मिलने पर अपने भाई एवं गाॅव के लोगो के साथ शिवमंदिर के सामने चबूतरे पर जहाॅ पिता बिस्तर लगाकर सोये थे के पास पहुंचा, देखा कि मंच में उसके पिता गोपाल मार्को उम्र 70 वर्ष मृत हालत मे पडे थे, किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा उसके पिता गोपाल मार्केा पर किसी धारदार चीज से हमला कर सिर के नीचे माथे में, बाये गाल में, दाहिने तरफ आंख के पास, गले में चोटे पहुंचाते हुये हत्या कर दी गयी है।वहीँ सूचना पर उप पुलिस अधीक्षक ग्रामीण  अपूर्वा किलेदार एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर उत्तर/यातायात  संजय कुमार अग्रवाल तथा पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.), मौके पर पहुंचे।वरिष्ठ अधिकारियों एवं सूचना पर पहुंची एफ.एस.एल डाॅ.  सुनीता तिवारी तथा डाॅग स्क्वाड की उपस्थति में पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाते हुये अज्ञात आरोपी के विरूद्ध अपराध क्रमंाक 343/21 धारा 302 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया।
*पुलिस अधीक्षक जबलपुर  सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.)* द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश देते हुये अज्ञात आरोपी की पतासाजी कर शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर उत्तर/यातायात  संजय कुमार अग्रवाल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर दक्षिण/ अपराध  गोपाल खाण्डेल द्वारा उप पुलिस अधीक्षक ग्रामीण  अपूर्वा किलेदार एवं थाना प्रभारी बरेला  सुशील चैहान के नेतृत्व में टीम गठित कर लगायी गयी थीं।

पैसे को लेकर होता था विवाद 

वहीं पुलिस की प्रारम्भिक पूछताछ पर पता चला कि गोपाल मार्को व्हीकल फैक्ट्री से मैकेनिक के पद से लगभग 10 वर्ष पूर्व रिटायर्ड हुये थे, रिटायर्ड होने के बाद पारिवारिक शंकर जी का मंदिर जो कि घर से लगभग 100 मीटर की दूरी पर है मंदिर के चारों तरफ लगभग 5 एकड़ जमीन है, मंदिर से लगभग 15 फुट की दूरी पर 2 कमरे का कच्चा मकान बना हुआ है में रहते थे, पत्नि एवं बेटे गाॅव में हीं रहते हैं।गठित टीम कें द्वारा दिये गये निर्देशों के तहत अज्ञात आरोपी की पतासाजी हेतु परिजनों एवं आसपास रहने वाले गाॅव के लोगों से पूछताछ कर पतासाजी की गयी।दौरान पतासाजी के ज्ञात हुआ कि मृतक गोपाल मार्को का छोटा बेटा कमलेश मार्को का, पिता से पैसों की मांग को लेकर आये दिन वाद विवाद होता रहता था, कमलेश मार्को पूर्व में 6वीं वाहिनी वि.स.बल मंे आरक्षक के पद पर तैनात था, क्वाटर गार्ड से राईफल व कारतूस चोरी के प्रकरण में कमलेश मार्को के विरूद्ध थाना रांझी अपराध 248/2019 धारा 380 भादवि का पंजीबद्ध करते हुये प्रकरण में गिरफ्तारी की गयी थी जिसमें 3 माह केन्द्रीय जेल मे निरूद्ध रहा है। जमानत के पश्चात 6 वीं वाहिनी वि.स.बल में अपनी आमद दी थी, आमद के बाद गेैरहाजिर हो गया था, कमलेश मार्को को वर्ष 2021 में सेवा से बर्खास्त कर दिया गया था, जो बर्खास्त होने के बाद ग्राम हिनौतिया में ही आकर रहने लगा, अत्याधिक शराब पीने एवं आये दिन वाद विवाद करने के कारण पत्नि छोडकर अपने मायके मंे जाकर रहने लगी ।

ऐसे खुला राज ,

विवेचना के दौरान यह भी ज्ञात हुआ कि कमलेश मार्को अपने पिता से आये दिन रूपयों की मांग करता था, बेटे की आदत एवं हरकतों से परेशान होने के कारण पिता गाोपाल मार्को द्वारा कोई आर्थिक मदद नहीं की जाती थी, जिस कारण कमलेश अपने पिता से वाद विवाद करता था।विवेचना के दौरान आये साक्ष्यों के आधार पर संदेही बेटे कमलेश मार्को उम्र 40 वर्ष को अभिरक्षा मे लेकर सघन पूछताछ की गयी तो कमलेश मार्को ने पिता की हत्या करना स्वीकार करते हुये बताया कि दिनाॅक 5-6-21 को सुबह 8 बजे जब उसके पिता मंदिर से घर आये थे तब उसने पिता से 50 हजार रूपये की जरूरत होना बताते हुये मांगे तो पिता ने रूपये देने से मना करते हुये गालीगलौज कर कहा कि तू किसी काम का नहीं है, इसी तरह घूमता रह, इस बात को लेकर उसके मन में काफी गुस्सा था, पैसो की जरूरत पूरी करने के लिये उसने मुन्ना मरावी की बेटी से अपनी जमीन 30 हजार रूपये में गिरवी रखने का तय किया था पर रूपये नहीं मिले थे, उसे रूपयों की सख्त आवश्यकता थी, पिता के द्वारा रूपये न देने पर उसके मन में पिता के प्रति बहुत आक्रोश था, दिनाॅक 8-6- 2021 की रात लगभग 2-30 बजे पीछे के रास्ते से लुकते-छिपते जाकर मंदिर के सामने मंच पर सो रहे पिता पर चाकू से हमला कर पिता की हत्या कर दी तथा पिता के कुर्ते से 3-4 सौ रूपये एवं जनेउ में बंधी चाबी निकालकर हाथ मे लगा खून खम्बे से पोछा और कुए के पास जाकर बाल्टी के पानी से हाथ व चाकू को पानी से धोया, तथा मंदिर के पास वाले कमरे का ताला चाबी से खोलकर पेटी मे रखे 14 हजार रूपये निकालकर कमरे में ताला लगाकर वापस घर आकर सो गया था।
उल्लेखनीय है कि सूचना पर पहुंची पुलिस के द्वारा की जा रही कार्यवाहियों के दौरान कमलेश मार्केा पूरे समय शामिल रहा। कमलेश मार्को की निशादेही पर घर पर छिपाकर रखा हुआ चाकू एवं चाबी जप्त करते हुये प्रकरण मे विधिवत गिरफ्तार कर आज मान्नीय न्यायलय के समक्ष पेश किया जा रहा है।

*उल्लेखनीय भूमिका* – अंधी हत्या का खुलासा कर हत्या करने वाले आरोपी पुत्र को गिरफ्तार करने में उप पुलिस अधीक्षक ग्रामीण  अपूर्वा किलेदार के नेतृत्व में थाना प्रभारी बरेला  सुशील चैहान, कार्यवाहक निरीक्षक रामेश्वसर उईके, उप निरीक्षक मुनेश लाल कोल, कार्यवाहक सहायक उप निरीक्षक शैलेन्द्र मार्को, प्रधान आरक्षक दिलीप लकड़ा, आरक्षक पुष्पेन्द्र पाण्डे, मनोज झारिया एवं क्राईम ब्रांच के सहायक उप निरीक्षक गोपाल विश्वकर्मा , अतुल गर्ग, बलराम पाण्डे, बालकृष्ण शर्मा, अमित दुबे की सराहनीय भूमिका रही।

शेयर करें: