हटाये गए थप्पड़बाज कलेक्टर ,आईएएस एसोसिएशन ने भी की निंदा

रायपुर;युवक पर्ची दिखाता रहा है लेकिन कलेक्टर साहब ने थप्पड़ जड़ दिए इतना ही नहीं पुलिस वालों से भी पिटवाया ,लेकिन अब ये थप्पड़बाज कलेक्टर हटा दिए गए है,मामला छत्तीसगढ़ के सूरजपुर का है जहां पर छत्तीसगढ़ के सूरजपुर कलेक्टर रणबीर शर्मा का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। वायरल वीडियो में कलेक्टर ने एक युवक को थप्पड़ जड़ा था। वीडियो वायरल होने के बाद कलेक्टर की निंदा हो रही थी। साथ ही सरकार से कार्रवाई की मांग उठ रही थी। वीडियो सामने आने के बाद आईएएस एसोसिएशन ने भी निंदा की थी। अब भूपेश सरकार ने कलेक्टर को पद से हटा दिया है।सीएम भूपेश बघेल ने ट्वीट कर कहा है कि सोशल मीडिया के माध्यम से सूरजपुर कलेक्टर रणबीर शर्मा के दुर्व्यवहार का मामला मेरे संज्ञान में आया है। यह बेहद दुखद और निंदनीय है। छत्तीसगढ़ में इस तरह का कोई कृत्य कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कलेक्टर रणबीर शर्मा को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए हैं।उन्होंने कहा है कि किसी भी अधिकारी का शासकीय जीवन में इस तरह का आचरण स्वीकार्य नहीं है। इस घटना से क्षुब्ध हूं। मैं नवयुवक और उनके परिजनों से खेद व्यक्त करता हूं। वीडियो वायरल होने के बाद सुबह से कलेक्टर ट्विटर पर टॉप ट्रेंड कर रहे थे और कार्रवाई की मांग कर रहे थे। अब सरकार ने उन्हें पद से हटा दिया है। गौरव कुमार सिंह को सूरजपुर का नया कलेक्टर बनाया गया है। रणबीर शर्मा को मंत्रालय में तैनात कर दिया गया है।

आईएएस एसोसिएशन ने की निंदा

इस घटना की निंदा आज आईएएस एसोसिएशन ने भी की है। एसोसिएशन ने ट्वीट कर कहा है कि हम इस व्यवहार की कड़ी निंदा करते हैं। यह अस्वीकार्य है, सेवा और सभ्यता के मूल सिद्धांतों के खिलाफ है। सिविल सेवकों को सहानुभूति रखनी चाहिए और हर समय समाज को एक उपचारात्मक स्पर्श प्रदान करना चाहिए।

ये है मामला

दरअसल, कोरोना की वजह से सूरजपुर में लॉकडाउन है। कलेक्टर रणबीर शर्मा खुद बेवजह लोगों को रोकने के लिए सड़क पर थे। इस दौरान एक युवक कोरोना टेस्ट के लिए जा रहा था। उसने पर्ची भी दिखाया लेकिन कलेक्टर ने खुद ही उसे थप्पड़ जड़ दिया। साथ ही मोबाइल पटककर तोड़ दिया। उसके बाद पुलिसकर्मियों से पिटवाया।

शेयर करें: