पीएम आवास बनाने पहली किश्त 40 हजार रुपये की राशि देकर भूल गए अधिकारी,अब बता रहे अपात्र

कटनी/स्लीमनाबाद/सिहुडी बसेड़ी-(सुग्रीव यादव): गरीब तबके के लोगो को रहने स्वयं का आशियाना हो इसके लिए वर्ष 2016 मैं केंद्र सरकार के द्वारा पीएम आवास योजना शुरू की गई।लेकिन योजना का धरातल पर क्रियान्वयन सही तरीके से नही होने के कारण गरीब तबके के लोगो को योजना का लाभ नही मिल पा रहा है।लेकिन बहोरीबंद विकासखण्ड क्षेत्र मे पीएम आवास योजना को लेकर एक नया मामला सामने आया जिसमे पीएम आवास योजना के तहत हितग्राही को आवास बनाने पहली किश्त 40 हजार रुपये की राशि देकर आगे की किश्त देना अधिकारी भूल गए जिससे आज भी पीएम आवास निर्माणाधीन पड़ा हुआ है और अब अधिकारी उसे योजना के तहत अपात्र होना बता रहे है।
ताजा मामला बहोरीबंद जनपद की ग्राम पंचायत किवलरहा के आश्रित ग्राम कछारगांव का सामने आया है।जहाँ पीएम आवास हितग्राही संतोष सिंह ठाकुर पिता बद्री सिंह ठाकुर 42 वर्ष ने बतलाया कि वर्ष 2016 मैं पीएम आवास योजना के तहत आवास बनाने योजना के तहत पहली किश्त 40 हजार रुपये की राशि मिली थी।राशि मिलने के बाद आवास का निर्माण कार्य शुरू करवाया गया और पिलेन्थ लेवल तक कराया गया और कुछ आगे दीवाल का भी कार्य कराया गया फिर आगे कार्य कराने दूसरी किश्त का इंतजार किया गया ।समय बीतने के बाद जब ग्राम पंचायत के सचिव से दूसरी किश्त को लेकर कहा गया तो कहा गया कि दूसरी किश्त आ जायेगी तब तक काम को आगे बढाया जाए।मेरे द्वारा फिर अपने पास से 25 से 30 हजार रुपये लगाकर आवास कार्य को आगे बढ़ाया गया और छत लेवल की दीवाल तक ले जाया गया लेकिन दूसरी किश्त नही आई तो फिर जनपद जाकर जानकारी ली गई तो बताया गया कि आपके बैंक खाते मैं होल्ड लगा है आप अपने खाते से होल्ड हटाये तब राशि आ पाएगी ।बैंक जाकर खाते से होल्ड भी हटवाया गया लेकिन उसके वाबजूद राशि नही आई।4 साल तक ग्राम व जनपद पंचायत के चक्कर ही काटते रहे लेकिन आगे राशि नही मिल सकी जिससे पीएम आवास योजना का आवास निर्माणाधीन पड़ा हुआ है।

इनका कहना है- अखिलेश वर्मा ब्लॉक समन्वयक पीएम आवास योजना
यह बात सही की उक्त हितग्राही को पीएम आवास योजना के तहत पहली किश्त 40 हजार रुपये बैंक खाते मैं भेजी गई थी।लेकिन जिला स्तरीय समिति के द्वारा उक्त हितग्राही को योजना मैं अपात्र पाया गया है इसलिए योजना का लाभ आगे नही मिल पा रहा है।

शेयर करें: