निजी नर्सिंग होम एवं अस्पतालों की सुरक्षा को लेकर स्वास्थ्य विभाग सख्त,दिए ये निर्देश 

जबलपुर, जबलपुर के एक निजी अस्पताल में हुई अग्नि दुर्घटना के मद्देनजर राज्य शासन के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने प्रदेश के सभी जिला कलेक्टरों, नगर निगम कमिश्नर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं विद्युत सुरक्षा विभाग के अधिकारियों को पत्र भेजकर निजी नर्सिंग होम और अस्पतालों में अग्नि सुरक्षा से संबंधित सभी जरूरी व्यवस्थायें सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं।लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने पत्र में कहा है कि मध्यप्रदेश उपचर्यागृह तथा रुजोपचार संबंधी स्थापनायें अधिनियम के मुताबिक निजी नर्सिंग होम एवं अस्पतालों में अग्नि सुरक्षा से संबंधित उपाय किया जाना आवश्यक है। पत्र में कहा गया है कि निजी नर्सिंग होम एवं अस्पतालों के पंजीयन के पहले भवन निर्माण संबंधी स्थानीय निकाय द्वारा दी गई अनुमतियों, वैध अस्थाई फायर एनओसी एवं अग्निशमन व्यवस्थाओं के परीक्षण के साथ-साथ बायोमेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट का लायसेंस, लिफ्ट सर्टिफिकेट, एटमिक एनर्जी रेग्युलेटरी बोर्ड का प्रमाण-पत्र, फूड सेफ्टी लायसेंस, ब्लड बैंक लायसेंस, एमटीपी लायसेंस एवं पीसीपीएनडीटी लायसेंस की भी जांच की जाये।लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग ने पत्र में राज्य शासन के निर्णय का हवाला देते हुए कहा है कि आगामी एक माह में अभियान चलाकर सभी नर्सिंग होम एवं अस्पतालों का निरीक्षण कर लिया जाये। निरीक्षण के लिए नर्सिंग होम एवं अस्पतालों की संख्या के लिहाज से निरीक्षण दल गठित करने तथा प्रत्येक निरीक्षण दल में स्वास्थ्य अधिकारी, स्थानीय निकाय के एवं विद्युत सुरक्षा से संबंधित अधिकारी को शामिल करने के निर्देश दिये गये हैं।

शेयर करें: