परीक्षा ने रोकी दुल्हन की बिदाई:कोरोना प्रोटोकॉल के तहत शुरु हुई परीक्षाएं

जबलपुर/सिहोरा- माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल द्वारा आज से 12 वीं बोर्ड परीक्षाओं की शुरुआत हो गई। सिहोरा विकासखंड में आज 10 परीक्षा केंद्रों में पहले दिन अंग्रेजी का पेपर प्रारंभ हुआ कोविड प्रोटोकॉल के तहत ही विद्यार्थियों को परीक्षा केंद्रों में प्रवेश दिया गया,। प्रदेश में कोरोना काल के करीब 2 वर्षों बाद 12वीं की बोर्ड परीक्षा देने का विद्यार्थियों को मौका मिला है जहां 12वीं के परीक्षा देने के लिए बच्चों में बेहद तनाव भी दिखा उत्साहित छात्र माता पिता से आशीर्वाद प्राप्त कर परीक्षा समय से लगभग 2 घंटे पहले ही केंद्र पहुंच गए परीक्षा केंद्रों में 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं की विद्यार्थियों की थर्मल स्कैनिंग मास्क सैनिटाइजर के बाद परीक्षा केंद्र में प्रवेश दिया गया जहां बच्चों ने कोविड-19 प्रोटोकॉल का पूरा पालन किया ।

विकास खंड शिक्षा अधिकारी अशोक उपाध्याय से प्राप्त जानकारी के अनुसार माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित बोर्ड परीक्षा का संचालन विकासखंड में कोरोना प्रोटोकाल के तहत आज से प्रारंभ हो गया है हायर सेकेंडरी 12 वीं कक्षा की 1947 परीक्षार्थियों ने आज अंग्रेजी विषय की परीक्षा दी उपाध्याय ने आगे बताया कि नगर में स्थित पंडित विष्णु दत्त उच्चतर माध्यमिक विद्यालय परीक्षा केंद्र में तीन छात्र अनुपस्थित रहे वही यशोदाबाई एवं कन्या शाला हायर सेकेंडरी सिहोरा में क्रमशः 2-2 छात्र अनुपस्थित रहे।
तनाव में दिखे परीक्षार्थी
कोविड के चलते नियमित कक्षाओं का संचालन ना होने एवं माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा बोर्ड परीक्षाओं का ऑफलाइन आयोजन किए जाने से परीक्षार्थी काफी तनाव में देखे गए ।
परीक्षा ने रोकी दुल्हन की विदाई
सिहोरा के लमकना रीछी निवासी दुल्हन ने दूल्हे के साथ सात फेरे तो लिए लेकिन विदाई से पहले परीक्षा देने परीक्षा केंद्र पहुंच गई जिसके चलते विदाई कार्यक्रम लगभग 12 घंटे विलंब से संपन्न हो सका प्राप्त जानकारी के अनुसार लखनपुर निवासी मोहित पटेल की बारात 16 फरवरी को लमकाना के रिछी ग्राम गई थी 17 फरवरी को दोपहर 2 बजे से दुल्हन दीक्षा का बीएससी बीएड लास्ट सेमेस्टर की परीक्षा थी दुल्हन ने विदाई से पहले अंतिम पेपर देने का प्रस्ताव रखा जिसे वर पक्ष ने स्वीकार करते हुए विदाई समारोह को शाम तक के लिए स्थगित कर पहले दुल्हन को परीक्षा देने जबलपुर रवाना किया परीक्षा के उपरांत देर रात दुल्हन की विदाई हो सके।

शेयर करें: