नहर निर्माण में ठेकेदार लगा रहा गुडवत्ताहीन सामग्री,भसुआ रेत से बनाई जा रही है नहर

 

जबलपुर :एक तो कई सालों बाद कच्ची नहर में पक्का लेबल लगने की बात किसानों ने सुनी तो लगा की अब नहर के अच्छे दिन आ गए ,लेकिन किसानों को क्या पता था की नहर निर्माणकर्ता नहर निर्माण में गुडवत्ता हीन सामग्री का उपयोग करेगा,

भसुआ रेत से बनाई जा रही नहर,

मामला जबलपुर जिले की मंझोली तहसील अंतर्गत आने वाली आलासूर सिमरिया की बरोदा माइनर का है, जहाँ पर ग्रामीण किसानों में समिरिया निवासी दीपक लोधी ,राहुल तिवारी मंगल तिवारी सहित अन्य ग्रामीण किसानों का आरोप है की ग्लोबल फर्म के ठेकेदार अनिल पटेल द्वारा तैयार की जा रही बरोदा माइनर में भसुआ रेत और डस्ट का उपयोग किया जा रहा है,

सफेद डस्ट का किया जा रहा उपयोग,

ग्रामीणों का कहना है की नहर निर्माण में घटिया सामग्री  का उपयोग किया जा रहा है,जिसके चलते यह नहर ज्यादा समय तक न टिक सकेगी,गौरतलब है की बरोदा माइनर से लगभग दस हजार एकड़ जमीन की सिंचाई आश्रित है, यह नहर बरगवां से लेकर बरोदा तक के किसानों की भूमि को सिंचित करती है, ऐसे में ग्रामीणों ने नहर निर्माण में गुडवत्ताहीन सामग्री लगाने का आरोप लगाते हुए जांच की मांग की है,तो वहीं ग्लोबल फर्म कंपनी के ठेकेदार अनिल पटेल का कहना है की  शासन केेे नियम निर्देश अनुसार काम किया जा रहा है,

शेयर करें: