क्रेसर बस्ती में हुई युवक की अंधी हत्या का खुलासा:बेइज्जती का बदला लेने दोस्त की दोस्त ने ही कर दी थी हत्या,आरोपी गिरफ्तार

 

जबलपुर :तिलवारा थाना  अंतर्गत हुई युवक की अंधी हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार  कर लिया है,हत्या के आरोपी दोस्त ने स्वयं के साथ हुई मारपीट एवं सार्वजनिक तौर पर की गयी बेज्जती के कारण  चाकू से हमला कर पत्थर पटक कर दोस्त की हत्या कर दी थी,

ये है पूरा मामला,

पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक थाना तिलवारा में दि. 10-2-21 की रात्रि में कबीरमठ क्रेसर बस्ती तिलवारा से एक घायल व्यक्ति को उपचार हेतु मेडिकल काॅलेज ले जाये जाने की सूचना पर मेडिकल कॅालेज पहुची पुलिस को सरवन बैरागी उम्र 48 वर्ष निवासी कबीरमठ क्रेसर बस्ती ने बताया था कि दिनांक 10-2-21 को उसका छोटा बेटा अजय बैरागी फर्नीचर का काम करके अपने बड़े भाई मनोज बैरागी के पास से रात लगभग 8 बजे घर आया उस समय वह भी अपने घर पर था अजय बैरागी उससे कहने लगा कि घूमकर आता हूॅ, एैसा कहते हुये टिफिन रखकर घर से चला गया, अजय के घर से जाने के लगभग 2 घंटे बाद प्यारेलाल मरावी एवं दिनेश मरावी उसके घर आकर बताये कि तुम्हारा लड़का अजय लहुलुहान हमारे के घर के सामने पड़ा है, वह तुरंत प्यारेलाल मरावी के घर के पास पहुंचा, उसके पीछे-पीछे उसका बड़ा बेटा संजय एवं धर्मेन्द्र विश्वकर्मा भी आ गये उसने एवं उसके साथ वालों ने देखा कि बेटा अजय लहुलुहान बेहोशी हालत में पड़ा था, अजय के सिर एवं चेहरे में धारदार हथियार एवं पत्थर सेे चोट पहुचायी गयी थी काफी खून बह रहा था, अजय बैरागी को तुरंत मोटर सायकल से मेडिकल काॅलेज जबलपुर लेकर पहुंचे, जहाॅ डाक्टर ने चैक कर उसके बेटे अजय बैरागी उम्र 22 वर्ष को मृत घोषित कर दिया, उसके बेटे अजय बैरागी की रात लगभग 8 बजे से 10 बजे रात के बीच किसी अज्ञात व्यक्ति ने धारदार हथियार एवं पत्थर से चोट पहुंचाकर उसके बेटे की हत्या कर दी है।
घटना से वरिष्ठ अधिकारियेां को अवगत कराया गया, सूचना पर पहुचें वरिष्ठ अधिकरियों एवं एफएसएल टीम की उपस्थति मे घटना स्थल के निरीक्षण के दोरान एक रक्त रंजित मुड़ा हुआ चाकू एवं लगभग 10-12 किलो का पत्थर पड़ा हुआ मिला जिसे जप्त कर पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाते हुये अज्ञात आरोपी के विरूद्ध धारा 302 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।पुलिस अधीक्षक  सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये पतासाजी के सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश देते हुये आरोपी की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने पर अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण  शिवेश सिंह बघेल एवं नगर पुलिस अधीक्षक बरगी  रवि चैहान के मार्गदर्शन में द्वारा थाना प्रभारी तिलवारा  सतीष पटेल के नेतृत्व में टीम गठित कर लगायी गयी ।आरोपी के पकड़े न जाने पर पतासाजी कर आरोपी की गिरफ्तारी पर पुलिस अधीक्षक  सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा 10 हजार रूपये के नगद पुरूस्कार की उद्घोषणा की गयी थी।गठित टीम द्वारा कबीरमठ में रहने वाले संदेहियो से लगातार पूछताछ की गई, पूछताछ के दौरान आकाश सोंधिया एवं आकाश के परिजनों के कथनों में विरोधाभास मिला, संदेही आकाश पिता रामनारायण सोंधिया उम्र 20 वर्ष निवासी कबीरमठ क्रेशर बस्ती तिलवारा को अभिरक्षा में लेकर सघन पूछताछ की गयी तो आकाश ने अजय बैरगी की हत्या करना स्वीकार करते हुये बताया कि अजय से उसकी जान पहचान दोस्ती थी पिछले वर्ष दीपावली के 2-3 दिन पहले अजय से उसका वाद-विवाद हो गया था, अजय ने सबके सामने उसके साथ मारपीट कर उसे बेइज्जत किया था, इसके बाद भी बात बात पर अजय उसकी सार्वजनिक तौर पर बेज्जती करता रहता था जिस कारण वह अजय से रंजिश रखने लगा था।

पहले सिगरेट पी फिर घोप दी चाकू,

वहीँ पुलिस द्वारा प्रेस कांफ्रेंस कर बताया गया की घटना दिनाॅक को रात लगभग 9-45 बजे प्यारेलाल मरावी के घर के पास अजय बैरागी उसे अकेला मिला, जिसके साथ उसने बातचीज करते हुये सिगरेट पी फिर कुछ दूरी पर अपने घर जाकर चाकू लाया उस समय अजय मोबाईल पर बात कर रहा था, अचानक चाकू से हमला कर चेहरे व माथे मे कई बार चोट पहुँचाई जिससे अजय लहुलुहान हो कर अचेत होकर जमीन पर गिर गया तो पास ही पडे पत्थर को अजय के सिर पर पटक कर हत्या कर दिया एवं भागकर कुछ ही दूरी पर स्थित अपने घर पहुंच गया, जिस कारण उसे कोई नहीं देख पाया। आरोपी आकाश की निशादेही पर घटना के वक्त पहने हुए खून लगे कपड़े एवं चप्पल जो अपने घर मे छुपाकर रखा हुआ था जप्त करते हुये हत्या के आरोप में विधिवत गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है।

*उल्लेखनीय भूमिकाः* – अज्ञात आरोपी की पतासाजी करते हुये आरोपी को गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी तिलवारा  सतीश पटेल, उप निरीक्षक शिल्पा कौरव, सहायक उप निरीक्षक विनोद द्विवेदी, लेखराम नादोनिया, प्रधान आरक्षक श्रीकांत मिश्रा, वीरेन्द्र सिंह, आरक्षक हरीश कुमार, हरिसिंह, रमेश पटेल, यशवंत सिंह, राजेश धुर्वे की सराहनीय भूमिका रही ।

शेयर करें: