सिहोरा में शिक्षक की अंधी हत्या का खुलासा,उड़द के पुराने पैसे देने से मना करने पर कर दी थी हत्या आरोपी गिरफ्तार 

 

जबलपुर:सिहोरा पुलिस ने लखनपुर निवासी शिक्षक की अंधी हत्या का खुलासा करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है,आरोपियों ने उड़द के पैसे देने से मना करने पर शिक्षक मेंबर पटेल की हत्या कर दी थी,इतना ही नहीं शिक्षक की हत्या के बाद उसके बैग को नहर के किनारे फेंकने के बाद ट्राली में शव को रखकर जंगल में फेंक दिया गया था,

ये है पूरा मामला,

पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक थाना सिहोरा में प्रार्थी शिवा पटेल पिता स्व.जितेन्द्र कुमार पटेल निवासी वार्ड न 12 जयभवानी कालोनी के व्दारा बताया गया की दिनांक 24/07/2021 को सुबह करीब 09/30 बजे प्रार्थी अपने घर पर था तभी प्रार्थी की मौसी मंजू पटेल का फोन आया कि मौसिया मेम्बर पटेल जो दिनांक 23/07/2021 को सुबह करीब 09/00 बजे घर से ग्राम लखनपुर खेती के काम से जाने का कह कर घर से निकले थे जो आज दिनांक तक वापस घर नही आये जिनकी पता तलास पास पडोस नाते रिस्तेदारी मे किया जिनका कोई पता नही चलने पर थाना रिपोर्ट करने पर गुम इंसान कायम कर जांच मे लिया गया वहीँ घटना के बाद पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा  व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) शिवेष बघेल के निर्देशानुसार श्रुतकीर्ति सोमवंशी (एसडीओपी) सिहोरा के नेतृत्व में थाना प्रभारी सिहोरा के व्दारा तत्काल टीम गठित कर घटना को गंभीरता से लेते हुये गुमशुदा मेम्बर पटेल की तलाश पतासाजी के अथक प्रयास किये गये दौरान जांच मझगवा थाना क्षेत्र कि अगरिया ग्राम कि नहर के पास बरनी के पुल के पास गुमशुदा का बैग मिला था तत्काल ही नहर कि सर्चिंग गोताखोरो से करायी गयी। परन्तु पानी अधिक होने से कुछ मिला नही ।

ऐसे पकड़ में आये आरोपी 

वहीँ पुलिस ने जब मामले की छानबीन शुरू की तो जांच पर गुमशुदा मेम्बर पटैल को लखनपुर ग्राम में बबलू पटैल साथ देखे जाने की जानकारी लगी, संदेही बबलू उर्फ बल्लू पटेल ने पुलिस की पूछताछ पर बताया की 23/07/2021 को दोपहर करीब 01.00 बजे मेरे ग्राम लखनपुर वाले गैरिज में खेती के काम को लेकर मेम्बर पटेल आया था तब मैने मेम्बर पटेल से पुराने उडद के रुपये मांगा तो मेम्बर रुपये नही देने को बोला और मुझसे विवाद करने लगा तब मैने अपने साथी पवन, सच्चु बर्मन के साथ मिलकर मेम्बर पटैल को जान से खत्म करने के लिये सुनीता को गैरिज के बाहर देखने के लिये खड़ा कर दिया था फिर मैने पवन से मेम्बर के गले में रस्सी बांधने को बोला तब पवन ने मेम्बर के गले में रस्सी बांधा तथा सच्चु ने अंदर से दरवाजा बंद कर दिया और मेम्बर के गले में गमछा जोर से बांधा मैने मेम्बर के पैर पकड़ लिये इस प्रकार हम तीनो मिलकर रस्सी व गमछा से गला घोटकर मेम्बर पटैल की हत्या कर दिये फिर मैने पवन को बोला की तुम मेम्बर पटैल की मोटरसायकल ,बैग तथा मोबाइल लेकर अगरिया नहर बरनी पुल पहुचो पवन के जाने के बाद मैं तथा सच्चु बर्मन मिलकर मेम्बर के शव को गैरिज में रखी बोरी से लपेटकर बांध दिये थे तथा अंदर वाले कमरे में रख दिये थे गैरिज के बाहर सुनीता को छोड दिये थे, फिर मै तथा सच्चू, पवन की मोटरसायकल में अगरिया के लिये रवाना हुये मोटरसायकल सच्चू चला रहा था मैं पीछे बैठा था ग्राम घाट सिमरिया होते हुये अगरिया पहुचे और हम तीनो ने मिलकर मेम्बर पटैल के बैग मोबाइल को नहर के उस पार फेक दिये थे तथा मोटरसायकल को नहर में फेक दिये थे जो कि नहर में काफी पानी भरा हुआ था फिर हम तीनो पवन की मोटरसायकल में अगरिया नहर से ग्राम टिकरिया गोसलपुर होते हुये लखनपुर पहुचे,करीब 03.30 बजे दोपहर सच्चू से मेरे गैरिज के सामने ट्रेक्टर ट्राली लगवाकर , अगरिया नहर से ग्राम टिकरिया गोसलपुर होते हुये लखनपुर पहुचे करीब 03.30 बजे दोपहर सच्चू से मेरे गैरिज के सामने ट्रेक्टर ट्राली लगवाकर  पवन, सच्चू तथा सुनीता ने मिलकर मेम्बर के शव को उठाकर ट्राली में रखा और सुनीता को वहीं गैरिज में छोडकर मैं, पवन, सच्चू तीनों लोग ग्राम लखनपुर, बघेली, मुरैठ होते हुये अपनी ट्रेक्टर ट्राली में मझौली इन्द्राना रोड मन | धाम घाटी के किनारे खाई में मेम्बर पटैल के शव को फेंक दिये, जो बबलू पटेल के बताये स्थान पर जाकर तलाश करने पर इन्द्राना से मझौली रोड आने जाने वाले मार्ग के पास मन का धाम (लाल घटिया)ने रोड के नीचे ढलान में बोरी मे बंधा हुआ एक शव उम्र करीब 60 – 65 साल का मिला जिसे गुमशुदा के परिजन मेम्बर पटैल से शिनाख्तगी कराई गई जो गुमशुदा मेम्बर पटैल का होना बताया गया, बाद देहाती मर्ग 0/21 धारा 174 जाफौ का कायम कर मर्ग पंचनामा कार्यवाही की गई व शव का पी.एम. करवाया गया तथा देहाती नालसी 00/2021धारा 342,302,201,34 भादवि की लेख की गई

आरोपी गिरफ्तार,

वहीँ गिरफ्तार किए गए आरोपियों में 1-बबलू पटेल पिता रामकुमार उम्र 36 वर्ष निवासी लखनपुर सिहोरा,
2-सचिन बर्मन पिता हल्कू बर्मन उम्र 18 वर्ष निवासी रिवझा सिहोरा
3-पवन कुमार चैधरी पिता धनीराम ख्चैधरी उम्र 24 वर्ष निवासी ग्राम मटका शहपुरा जिला डिण्डेारी
4-श्रीमति सुनीता बांधवे (चैधरी ) पति भारत बांधवे (चैधरी ) निवासी ग्राम मटका शहपुरा जिला डिण्डेारी को गिरफ्तार कर घटना में प्रयुक्त एक मोटरसायकल एच.एफ.डीलेक्स बिना नम्बर की तथा गुमशुदा मेम्बर पटेल कि मोटरासायकल हीरो स्पेलेण्डर बिना नम्बर की व गुमशुदा का एक बैग जिसमें पासबुक ,आधारकार्ड अन्य कागजात आरोपी पवन से जप्त किया गया तथा आरपी बबलू से एक मोबाईल तथा आरोपी सच्चू से एक ट्रेक्टर ट्राली नीले रंग बिना नम्बर

का जप्त किया गया है,

उल्लेखनीय भूमिका

इस अंधी हत्या का खुलासा करने में  थाना सिहोरा की टीम में थाना प्रभारी सिहोरा निरीक्षक गिरीश धुर्वे, उपनिरीक्षक रविन कन्नौज , उपनिरीक्षक महेन्द्र जाटव ,
प्रआर.  रामासिह धुर्वे,  रंजीत सिह प्रआर. चन्द्रराम सायबर सेल सिहोरा आरक्षक  नीरज चौरसिया ,आरक्षक  राहुल पटैल,आरक्षक  ,आरक्षक  धनेश्वर सिगौर , आरक्षक  राजेश पटेल , आरक्षक  प्रदीप पटेल , आरक्षक  ओम प्रकाश दुबे,हेमंत शर्मा , आरक्षक  रोहित चौधरी , आरक्षक  संजीत मेश्राम , चा.आर. शैलेन्द्र तिवारी, आरक्षक अमित सिंह सिहोरा आरक्षक जीतेन्द्र बागरी महिला आर. की महत्वपूर्ण भूमिका रही उक्त प्रकरण मे  श्रुतकीर्ति सोमवंशी,(एसडीओपी) सिहोरा के  दिशानिर्देश पर थाना सिहोरा के उपरोक्त अधिकारियों के अथक प्रयासो से गुमशुदा मेम्बर पटेल की तलाश की गई।

शेयर करें: