केरल में मिली कुंडम से लापता हुई किशोरी,भाजी तोड़ने की बात कहकर चली गई थी घर से  

जबलपुर :घर से खेत भाजी तोड़ने को कहकर गई 17 वर्षिय किशोरी को कुण्डम पुलिस ने केरल से दस्तयाव कर किया माता-पिता के सुपुर्द कर दिया है,पुलिस अधीक्षक जबलपुर  सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.)* द्वारा अपहृत अवयस्क बालक/बालिकाओं के प्रकरणों को गम्भीरता से लेते हुये थानों में लंबित 363 भादवि के प्रकरणो में अवयस्क बालक/बालिकाओं की दस्तयाबी एवं लावारिस घूमने वाले अवयस्क बालक बालिकाओं के सम्बंध में पतासाजी करते हुये परिजनों के सुपुर्द करने हेतु जिले मे पदस्थ समस्त राजपत्रित अधिकारियो एवं थाना प्रभारियों को आदेशित किया गया है।

भाजी तोड़ने कहकर हो गई थी गायब 

थाना प्रभारी कुण्डम  प्रताप सिंह मरकाम ने बताया कि थाना कुण्डम अन्तर्गत निवासी एक 17 वर्षिय किशोरी दिनंाक 3-1-2021 को घर से दोपहर में खेत भाजी तोड़ने का कहकर गयी थी जिसके खेत से घर वापस न लौटने पर, परिजनों द्वारा परिचितों एवं रिश्तेदारी में तलाश की गयी पता न चलने पर मां के द्वारा दिनांक 5-1-2021 को थाना कुण्डम में रिपोर्ट की गयी थी जिस पर अपराध क्रमांक 06/21 धारा 363 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया था।अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक उत्तर  अगम जैन (भा.पु.से.) एवं उप पुलिस अधीक्षक ग्रामीण  अपूर्वा किलेदार के मार्ग निर्देशन में पतासाजी करने पर 17 वर्षिय किशोरी के केरल में होने की जानकारी लगने पर एक टीम गठित कर केरल रवाना की गयी। टीम के द्वारा पतासाजी करते हुये केरल में नेदूकंडम जिला इडुक्की से 17 वर्षिय किशोरी को दस्तयाब कर कुण्डम लाया जाकर परिजनों के सुपुर्द किया गया है। पूछताछ पर 17 वर्षिय किशोरी ने बताया कि वह स्वयं की मर्जी से केरल गयी थी जहाँ इलायची के बगान में पैसे के अभाव को दूर करने के लिये मजदूरी कर रही थी।
पतासाजी कर 17 वर्षिय किशोरी केा केरल से दस्तयाब करने में उप निरीक्षक नीरज नेगी, वरिष्ठ आरक्षक जागेश्वर उपाध्याय, आरक्षक संतोष, महिला आरक्षक स्तुती पाण्डे की सराहनीय भूमिका रही। पुलिस अधीक्षक श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) ने टीम केा नगद पुरूषकार से पुरूषकृत करने की घोषणा की है।

शेयर करें: