सिहोरा के आल्गोड़ा में चार साल पहले बने मुक्तिधाम में मिलावट,उड़ने लगीं धज्जियां

जबलपुर /सिहोरा :दुनिया में अगर कोई सत्य बात है तो वह है मौत ,कपड़े की तो गारंटी होती है की छः महीने चलेगा लेकिन शरीर की कोई गारंटी नहीं है, एक दिन सबको जहाँ जाना है ,उस मुक्तिधाम के काम मे भी पँचायत ने मिलावटी सामग्री लगाई परिणाम स्वरूप आज चार साल पूर्व बने मुक्तिधाम का बेस अब उखड़ने लगा है ,सीढियां में  दरारें आ गईं है, पूरे शमसान घाट में गाजर घास लगा होने से मुक्तिधाम कम कचरा घर से कम नहीं लग रहा है ,हम बात कर रहे है सिहोरा जनपद की आल्गोड़ा पँचायत की जहाँ पर कुछ समय पूर्व रिठौरी के निवासियों ने सचिव पर पीएम आवास में पैसे लेने तक के आरोप लगाए थे ,अब मुक्तिधाम में मिलावटी सामग्री का उपयोग करने के आरोप लगाए गए है,

आल्गोड़ा के मुक्तिधाम में लीपापोती,

वहीँ अब आल्गोड़ा निवासियों ने पँचायत पर  मुक्तिधाम के निर्माण कार्य में मिलवाटी सामग्री का उपयोग किये जाने के आरोप लगाते हुए ,निष्पक्ष जांच की मांग की है,क्योंकि जिस तरह से महज चार साल में ही मुक्तिधाम के बेस उखड़ने और सीढ़ियों के ज्वाईंट छोड़ने से आने वाली दरारों के कारण ग्रामीणों ने मुक्तिधाम के निर्माण में लीपापोती का आरोप लगाया है, वहीँ इस मामले में जब हमने जनपद सी ईओ आशा देवी पटले से फोन पर सम्पर्क करना चाहा तो उन्होंने फोन तक रिसीव करने की जहमत नहीं उठाई अब ऐसे अधिकारियों से क्या उम्मीद की जा सकती है,

शेयर करें: