दृष्टिबाधित कृष्णा के सुरों ने किया मुग्ध, शिक्षा के प्रति ललक देख कलेक्टर ने बढ़ाया उत्साह

कटनी/स्लीमनाबाद(सुग्रीव यादव): बोए जवारे माई के, लहर-लहर लहराएं, पंडा ने बो दए जवारे, माई दुर्गा के द्वारे….बहोरीबंद तहसील के तिगवां में पुरातत्व विभाग द्वारा संरक्षित मां शारदा मंदिर व स्थल का निरीक्षण करने पहुंचे कलेक्टर प्रियंक मिश्रा, दृष्टिबाधित कृष्णा चौधरी के गले से निकले सुरों पर मंत्र मुग्ध हो गए। बालक की शिक्षा के प्रति ललक देखकर भी कलेक्टर श्री मिश्रा ने उसे शाबासी दी और उसका उत्साह बढ़ाया।कलेक्टर श्री मिश्रा बुधवार को मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान के तहत आयोजित किए जा रहे शिविरों के निरीक्षण में बहोरीबंद जनपद पंचायत क्षेत्र के भ्रमण पर थे। तिगवां ग्राम में शिविर का निरीक्षण करने के बाद उन्होंने पुरातत्व विभाग द्वारा संरक्षित मां शारदा मंदिर परिसर का निरीक्षण किया। मां शारदा के दर्शन कर आशीर्वाद लिया। उसी दौरान मंदिर के गेट में दृष्टिबाधित बालक को देखकर उन्होंने उससे संवाद किया। बालक ने कलेक्टर को अपना नाम कृष्णा चौधरी बताया। साथ ही बताया कि वह जबलपुर के एक मूक बधिर स्कूल का छात्र है।छात्र से कलेक्टर श्री मिश्रा ने पढ़ाई को लेकर संवाद किया तो उसने बताया कि वह कक्षा पांचवी का छात्र है और नवरात्र की छुट्टी मंे घर आया है। साथ ही उसकी परीक्षा है और उसकी तैयारी भी कर रहा है। जिसपर कलेक्टर श्री मिश्रा ने शिक्षा के प्रति ललक देखकर बालक का उत्साह बढ़ाया।

शेयर करें: