लोगों की जान बचाना पहली प्राथमिकता,कलेक्टर कर्मवीर शर्मा

 

जबलपुर :कलेक्टर की अध्यक्षता में कोविड की रोकथाम व बचाव के लिए तहसील कार्यालय सिहोरा मैं बैठक आयोजित की गई। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुश्री रिजु बाफना, एसडीएम श्री जेपी यादव, बीएमओ, तहसीलदार, जनपद सीईओ नगर पालिका अधिकारी सहित सभी जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।
बैठक में कलेक्टर श्री शर्मा ने कहा कि लोगों की जान बचाना पहली प्राथमिकता है, अतः कोविड की रोकथाम व बचाव के लिए हर संभव प्रयास करें इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। घर-घर सर्वे करें और कोविड संक्रमित व अस्वस्थ लोगों की पहचान करें। उन्हें दवाइयां दे और हम आइसोलेशन के लिए कहें यदि वह होम आइसोलेशन के नियमों का उल्लंघन करते हैं तो उन्हें कोविड केयर सेंटर में लाये और वहाँ रखें तथा उनका उपचार करें। कोविड के संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए सबसे पहले बीमार लोगों की पहचान करना है और उन्हें आइसोलेशन करना है तथा दवाई देना है जब तक ऐसे लोगों की पहचान नहीं कर पाएंगे तब तक संक्रमण फैलता ही रहेगा। यदि किसी गांव में सात या आठ लोग बीमार हैं तो समझ लो कि वहाँ कोविड हैं। उन्हें दवाई दे और होम आईसोलेट करें। पांच दिन में यदि वे ठीक नहीं होते है तो उनके टेस्ट करें और उन्हें कोविड केयर सेंटर में रखें जहां उनके उपचार होगा।
कलेक्टर श्री शर्मा ने कहा कि शहरी क्षेत्र में शक्ति के साथ काम करें ।कोई होम आइसोलेशन नहीं । क्योंकि संक्रमित लोग ही संक्रमण को फैला रहे हैं जबरदस्ती उन्हें कोविड केयर सेंटर में लाएं। उन्होंने कहा कि अस्वस्थ लोगों को अपने रडार में रखें 5 दिन के दवाई दे, यदि वे ठीक नहीं होते है तो उनके टेस्ट करें और कोविड केयर सेंटर में उपचार करें।
सिम्टम्स वालों की घर विजिट करें और देखें की उनके स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है या नहीं। उन्होंने कहा कि 10 दिन के अंदर उन्हें रिजल्ट चाहिए और सिहोरा के अंदर केस घटते नजर आना चाहिए। दुकानदार यदि दुकान खोलते है तो उनकी दुकान को सील करें और खरीददार को दंड बैठक लगाएं। मास्क नही पहनने वालों पर भी एफआईआर दर्ज करें और सैंपल की संख्या बढ़ाएं और 45 प्लस व गर्भवती माताओं का टेस्ट करायें क्योंकि उन्हें संक्रमण का ज्यादा खतरा हैं।
कलेक्टर श्री शर्मा ने कहा कि कोविड को रोकने के लिए पहले बीमार व्यक्ति की पहचान करे फिर उन्हें आइसोलेशन करें और उपचार करें। हर सिम्टम्स वाला व्यक्ति आज की परिस्थिति में पॉजिटिव हो सकता है। शहरी क्षेत्र में जो रणनीति है वही ग्रामीण क्षेत्र में भी रहे और जो सस्पेक्टेड हैं उन्हें तत्काल मेडिकल किट दें। जनता कोरोना कर्फ़्यू का सख्ती से पालन हो। इसके साथ ही उन्होंने
संक्रमण रोकने के लिए कहा कि सभी शादियां निरस्त करें ।सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें, मास्क लगाएं और सैनिटाइजर करते रहें।

 

शेयर करें: