मझौली लोक सेवा केन्द्र के संचालक पर 250 रूपये का अर्थदण्ड ,आपरेटर सेवा से किया गया पृथक

 

 

 

जबलपुर, नक्शा बटांकन की सेवा हेतु नियत शुल्क से आवेदक से अधिक राशि लेने के मामले में कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने मझौली लोकसेवा केन्द्र के ऑपरेटर को सेवा से पृथक कर दिया है। वहीं इस केन्द्र के प्रबंधक पर 250 रूपये का अर्थदण्ड भी अधिरोपित किया है।
प्रकरण के बारे में जिला प्रबंधक ई-गवर्नेंस सोसायटी चित्रांशु त्रिपाठी ने बताया कि लोकसेवा केन्द्र मझौली के आपरेटर राहुल दीक्षित द्वारा एक आवेदक से नक्शा बटांकन की सत्यापित प्रति प्रदान करने हेतु 45 रूपये के निर्धारित शुल्क के स्थान पर 150 रूपये ले लिये गये थे। इसकी रसीद भी आवेदक को नहीं दी गई थी। आवेदक द्वारा शिकायत किये जाने पर आपरेटर से फौरन जवाब तलब किया गया तथा संतोषजनक जवाब न मिलने पर उसे तत्काल प्रभाव से मझौली लोक सेवा केन्द्र से हटा दिया गया। आवेदक से अधिक ली गई 105 रूपये की राशि भी आपरेटर से वापस कराई गई है।
जिला प्रबंधक ई-गवर्नेंस ने बताया कि मामले में मझौली लोक सेवा केन्द्र के संचालक पर भी अधीनस्थ कर्मचारी द्वारा की गई अनियमितता के कारण 250 रूपये का अर्थदण्ड अधिरोपित किया गया है। लोक सेवा केन्द्र के संचालक को अर्थदण्ड की राशि सात दिन के भीतर लोकसेवा केन्द्र के बैंक खाते में जमा करने के निर्देश दिये गये है। इसके साथ ही इस तरह की अनियमितता की पुनरावृत्ति होने पर केन्द्र का आवण्टन निरस्त कर करने की चेतावनी भी उसे दी गई है।

शेयर करें: