24 घँटे के अंदर लुटेरे गिरफ्तार,शराब कंपनी के पैसे लूटकर फरार हो गए थे लुटेरे 

जबलपुर :शराब  कंपनी के पैसे लूटकर फरार हुए लुटेरों को जबलपुर पुलिस ने 24 घँटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया है,आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने छीने हुये रूपयों में से 1 लाख 81 हजार 900 रूपये नगद तथा घटना में प्रयुक्त पल्सर एवं बुलट मोटर सायकिल जप्त करते हुए कार्यवाही की है,गिरफ्तार आरोपियों में 1- संजू उर्फ सारंग उर्फ संजय अहिरवार पिता सुनील अहिरवार उम्र 22 वर्ष निवासी जोधपुर पड़ाव 2-दीपक लोधी पिता रमन लोधी उम्र 30 वर्ष निवासी जोधपुर पड़ाव 3-अजय उर्फ अज्जू यादव पिता प्रकाश यादव उम्र 19 वर्ष निवासी जोधपुर पङाव,4-जितेन्द्र उर्फ जित्तू यादव पिता सुरेश यादव उम्र 20 वर्ष निवासी न्यू शास्त्रीनगर,से छीने हुये रूपयों में से 1 लाख 81 हजार 900 रूपये नगद एवं पिट्टू बैग, तथा घटना में प्रयुक्त पल्सर एवं बुलट मोटर सायकिल, जप्त।

ये है पूरा मामला,

मामला कुछ इस प्रकार है,थाना तिलवारा में दिनांक 21-4-21 को छोटेलाल पटैल उम्र 31 वर्ष निवासी बढैयाखेड़ा सिद्धपुरी चरगवां ने रिपोर्ट दर्ज करायी कि वह चरगवा कलारी दुकान में एक वर्ष से सेल्समैन का काम करता है दिनंाक 21-4-21 को मैनेजर धर्मेन्द्र चैहान के कहने पर शराब सिंडिकेट आफिस की चार दुकान अंग्रेजी शराब दुकान से 24 हजार 190 रूपये चरगवां देशी शराब दुकान से 82 हजार 960 रूपये , बिजौरी देशी शराब दुकान से 68 हजार 400 रूपये और बढ़ैयाखेड़ा देशी शराब दुकान से 28 हजार 500 रूपये कुल रकम 2 लाख 4 हजार 90 रूपये और हिसाब की पर्ची एक लाल कलर के पिठ्ठू बैग में रखकर अपनी पेशन प्रो मोटर सायकल क्रमांक एमपी 20 एमएम 1386 से चरगवां से सिंडिकेट शराब आफिस आदर्श नगर रामपुर आ रहा था मोटर सायकिल उसकी बुआ का लडका अजय पटैल निवासी महुआवारी चरगवां का चला रहा था वह पिट्ठू बैग बीच में रखकर पीछे बैठा था दोपहर लगभग 1-30 बजे चरगवां तिलवारा रोड में हिनोता नाला पुलिया के आगे तिलवारा तरफ पहुंचा उसी समय पीेछे से चरगवा तरफ से एक काले कलर की पल्सर मोटर सायकिल में 2 अज्ञात व्यक्ति आये और हमारी मोटर सायकिल से अपनी मोटर सायकल सटाकर उसके पास बीच में रखा पिठ्ठू बैग जिसमें 2 लाख 4 हजार 90 रूपये एवं हिसाब की पर्ची थी छीनकर चरगवां तरफ भाग गये । एक व्यक्ति काली टीशर्ट एंव एक व्यक्ति लाल टीशर्ट पहने हुये मुंह में गमछा बंाधे थे दोनों की उम्र लगभग 30-35 वर्ष की होगी उसने अपनी कम्पनी वालों को मोबाइल से घटना की बात बतायी। रिपोर्ट पर धारा 392 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर अज्ञात विवेचना मे लिया गया है।

ऐसे पकड़े गए लुटेरे ,

वहीँ पुलिस अधीक्षक  सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये आरोपियों की शीघ्र पतासाजी कर गिरफ्तारी हेतु नगर पुलिस अधीक्षक बरगी  रवि चैहान के नेतृत्व में थाना तिलवारा तथा क्राईम ब्रांच की टीम गठित कर लगायी गयी है।गठित टीम के द्वारा रास्ते में रोड पर स्थित गाव के निवासियों से पूछताछ एवं सीसीटीव्ही फुटेज खंगाले गये।दौरान विवेचना के गठित टीम के द्वारा दिनांक 22.04.2021 को मिले फुटेज एवं पूछताछ पर आयी जानकारी के आधार पर संदेही संजू उर्फ सारंग की तलाश पतासाजी की गयी जिसके अपने मामा के गांव अंधार थाना कुण्डम मे होने की जानकारी मिलने पर दबिश देते हुये संजू उर्फ सारंग को घेराबंदी कर पकड़ा गया एवं पूछताछ की गयी तो अपने साथी दीपक लोधी, अज्जू उर्फ अजय यादव एवं जित्तू उर्फ जितेन्द्र यादव के साथ चरगवां शराब कंपनी वालों के कर्मचारी जो जबलपुर पैसा आफिस में जमा करने आते हैं के पैसे लूटने का प्लान बनाकर दिनांक 21.04.21 को अपने दोस्त जित्तू यादव की पल्सर मोटर सायकिल लेकर साथी दीपक लोधी को बैठाकर चरगवां तरफ गया, जहां पैशन प्रो में शराब कम्पनी के कर्मचारी जो शराब दुकानों से पैसे कलेक्ट कर जबलपुर जा रहे थे का पीछा करते हुये हिनौता नाला के पास रोड में अपनी पल्सर मोटर सायकिल उनकी मोटर सायकिल से सटा कर पिट्ठू बैंग लाल रंग का जिसमें 2,04,090 एवं शराब दुकान के हिसाब के कागजात रखे थे छीनकर भागते समय पल्सर सहित वह एवं दीपक गिर गये, उसकी चप्पल वहीं गिर गई, पल्सर मोटर सायकिन छतिग्रस्त हो गई तथा दोनों को चोटें आ गई, घायल अवस्था में पल्सर को उठाकर वहां से नहर के रास्ते तिखारी हार पहुंचे तथा जित्तू यादव और अज्जू यादव को मोबाइल लगाकर बुलाये तो अज्जू यादव अपनी बुलट मोटर सायकिल में जित्तू को बैठाकर तिखारी हार पहुंचा, तथा छीने हुये रूपयों में से 94 हजार 90 रूपये दीपक ने रख लिया तथा 5000 रूपये एवं पल्सर मोटर सायकिल जित्तू को दिया, तथा अज्जू की बुलेट मोटर सायकिल में बैठकर बरेला होते हुये अपने मामा बेङी लाल के गांव अंधार थाना कुण्डम पहुंचकर लूटे हुये पैसे में से 1000 रूपये अज्जू को पैट्रोल डलवाने को देते हुये 1 लाख 04 हजार रूपये एवं पिट्टू बैग तथा कागजात अपने पास रख लिये, फिर 2 हजार रूपये खर्च कर 1 लाख 2 हजार रूपये एवं पिट्टू बैग अपनी नानी के घर में छुपा दिया था ।
दीपक लोधी को अभिरक्षा मे लेते हुये पूछताछ की जिसने घटना करना स्पीकार करते हुये 15 हजार 90 रूपये खर्च करना बताते हुये शेष 79,900 रूपये अपने घर में पेटी में छिपा कर रखना बताया। आरोपी अज्जू यादव निवासी जोधपुर पङाव एवं जित्तू यादव निवासी न्यू शास्त्रीनगर को भी अभिरक्षा मे लेते हुये आरोपियों की निशादेही पर छीने हुये रूपयो में से संजू उर्फ सारंग से 1 लाख 2 हजार रूपये नगद एवं पिट्टू बैग, आरोपी दीपक लोधी से 79,900 रूपये तथा अज्जू यादव से घटना में प्रयुक्त बुलट मोटर सायकिल, एवं जित्तू यादव से पल्सर मोटर सायकिल जप्त करते हुये ग्रामीण क्षेत्रों में घटित हुई और भी वारदातों मे पूछताछ की जा रही है।
उल्लेखनीय है कि पकडे गये चारों आरोपी अपराधी प्रवृत्ति के है जिनके विरूद्ध मारपीट एवं अवैध शराब बेचने के अपराध पंजीबद्ध है।

*उल्लेखनीय भूमिकाः* – पतासाजी करते हुये आरोपियों को गिरफ्तार कर छीने हुये रूपये एवं घटना में प्रयक्त दुपहिया वाहन जप्त करने में प्रभारी थाना तिलवारा उप निरीक्षक विनोद द्विवेदी, उप निरीक्षक लेखराम नादोनिया, सहायक उप निरीक्षक अनिल सिंह परिहार, प्रधान आरक्षक श्रीकांत मिश्रा, सच्चिदानंद सिंह, आरक्षक हरिसिंह, हरीश डेहरिया, धर्मेन्द्र सोनी, राजेश एवं अपराध शाखा के सहायक उप निरीक्षक गोपाल विश्वकर्मा, आरक्षक अतुल गर्ग, बालकृष्ण शर्मा, शैलेन्द्र कौरव, महेश कहार एवं सायबर सेल के आरक्षक आदित्य कुमार की सराहनीय भूमिका रही।

 

शेयर करें: