माफियों के ख़िलाप कार्यवाही जारी,नारायणपुर,माढ़ोताल,और सिहोरा में भी चला बुल्डोजर,

माफिया के अवैध कब्जे से मुक्त कराई गई 30 करोड़ की आठ एकड़ शासकीय भूमि

जबलपुर,मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान की मंशा के अनुरूप माफिया का दमन करने जबलपुर जिले में कार्यवाही लगातार जारी है। इसी सिलसिले में जिला प्रशासन द्वारा आज पुलिस के सहयोग से जबलपुर तहसील के अंतर्गत नागपुर रोड स्थित ग्राम नारायणपुर में भू-माफिया के अवैध कब्जे से करीब आठ एकड़ शासकीय भूमि को मुक्त कराया गया है । मुक्त कराई गई शासकीय भूमि का बाजार मूल्य लगभग 30 करोड़ रुपये बताया गया है ।कलेक्टर डॉ इलैयाराजा टी एवं पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा के निर्देशन में शासकीय भूमि को अवैध कब्जे से मुक्त कराने की यह कार्यवाही एसडीएम जबलपुर पी के सेनगुप्ता के नेतृत्व में की गई । एसडीएम जबलपुर पी के सेनगुप्ता ने बताया कि कार्यवाही में नारायणपुर निवासी माफिया हब्बू खान के अवैध कब्जे को हटाया गया है । हब्बू खान ने होटल रॉयल ऑर्बिट के समीप मुख्य सड़क मार्ग से करीब 150 फुट अंदर की इस भूमि पर तार की फेंसिंग कर कब्जा कर रखा था और उसके द्वारा इस भूमि पर खेती भी की जा रही थी ।एसडीएम जबलपुर के अनुसार कलेक्टर डॉ इलैयाराजा टी के निर्देश पर माफिया के कब्जे से मुक्त कराई गई इस शासकीय भूमि के कुछ हिस्से को प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों को आवास निर्माण के लिये पट्टे पर उपलब्ध कराया जा रहा है । कार्यवाही के दौरान तहसीलदार श्रीमती स्वाति सूर्या भी मौजूद थीं।

माढ़ोताल तालाब की भूमि को कराया अवैध कब्जे से मुक्त

जिला प्रशासन द्वारा माफिया के विरुद्ध आज एक और बड़ी कार्यवाही कर माढ़ोताल में तालाब की भूमि पर भू-माफियाओं द्वारा किये गये अवैध कब्जों को जेसीबी मशीनों से ध्वस्त कर दिया गया है।कलेक्टर डॉ इलैयाराजा टी, पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा एवं नगर निगम आयुक्त आशीष वशिष्ठ के निर्देशन में प्रशासन, पुलिस और नगर निगम द्वारा सयुंक्त रूप से की गई इस कार्यवाही में माढ़ोताल तालाब की करीब 40 एकड़ भूमि पर किये गये अवैध कब्जों को हटाया गया है।एसडीएम आधारताल नमः शिवाय अरजरिया के अनुसार माढ़ोताल तालाब की इस भूमि में से 10 एकड़ भूमि जबलपुर विकास प्राधिकरण के नाम पर दर्ज है । तालाब मद की शेष 30 एकड़ निजी भूमि पर भू-माफियाओं द्वारा अवैध कब्जा कर यहां प्लाटिंग की जा रही थी । उन्होंने बताया कि आईएसबीटी से लगी तालाब की इस भूमि का बाजार मूल्य करीब 7 करोड़ रुपये प्रति एकड़ और कुल लगभग 280 करोड़ रुपये है।श्री अरजरिया के अनुसार माढ़ोताल तालाब की भूमि पर माफियाओं द्वारा इलाहाबाद निवासी पुरुषोत्तम टण्डन का फर्जी मुख्तयार नामा लेकर प्लाटिंग की जा रही थी । यहाँ सड़क, नाली आदि का निर्माण भी किया जा रहा था । जबकि तालाब की भूमि का किसी भी स्थिति में मद परिवर्तन नहीं किया जा सकता। एसडीएम आधारताल ने बताया कि हाल ही में भू-माफियाओं द्वारा तालाब की इस भूमि की प्लाटिंग कर प्लाट बेचे जाने की शिकायतें भी प्राप्त हुई थीं। शिकायतों की जांच के बाद दो लोगों मकसूद एवं राजेन्द्र तिवारी के विरुद्ध एफआईआर भी दर्ज कराई गई थी। श्री अरजरिया ने बताया कि कार्यवाही के दौरान तालाब की भूमि पर कब्जा कर बनाई गई बारातघर की बाउंड्रीवाल को भी ध्वस्त कर दिया गया है,

सिहोरा में भी चला अवैध रूप से बनाई जा रही कॉलोनियों पर बुल्डोजर

माफिया के विरुद्ध की जा रही कार्यवाही के तहत जिले की सिहोरा तहसील में भी अवैध रूप से बनाई जा रही कॉलोनियों पर कल कार्यवाही की गई और सड़कों एवं नालियों को ध्वस्त कर दिया गया ।सिहोरा एसडीएम आशीष पांडे के मुताबिक सिहोरा नगर पालिका की सीमा क्षेत्र के भीतर ग्राम मनसकरा, सकरी और पहरेवा में बिना भूमि व्यपवर्तन, बिना कॉलोनाइजर लायसेंस, बिना कॉलोनी विकास की अनुमति और टीएनसीपी से ले आउट स्वीकृत कराये बिना कॉलोनियों का बनाई जा रही थी । इन कॉलोनियों में मुरुम रोड और नालियां बनाकर छोटे-छोटे प्लाट काटे जा रहे थे ।श्री पांडे ने बताया कि कल की गई कार्यवाही में बुल्डोजर चलाकर इन अवैध कॉलोनियों की सड़क और नालियों को ध्वस्त कर दिया गया । एसडीएम सिहोरा के मुताबिक राजस्व निरीक्षक मण्डल खितौला के ग्राम मनसकरा में खसरा नम्बर 22/3 की 0.539 हेक्टेयर भूमि पर भूमि स्वामी मोहम्मद एसोसिएट द्वारा पार्टनर मोहम्मद रियाज पिता अब्दुल वहीद निवासी बड़ी ओमती जबलपुर द्वारा अवैध कॉलोनी बनाई जा रही थी । इसी तरह राजस्व निरीक्षक मण्डल खितौला के ग्राम पहरेवा में खसरा नम्बर 18/2/2/1 की 0.192 हेक्टेयर भूमि पर भूमि स्वामी आलोक पिता केशव असाटी निवासी ढीमरखेड़ा कटनी तथा राजस्व मण्डल खितौला के ही ग्राम सकरी में खसरा नम्बर 291/1 की 0.250 हेक्टेयर भूमि पर भूमि स्वामी नीलेश पिता रविशंकर अवस्थी निवासी सिहोरा द्वारा भी अवैध कॉलोनी का निर्माण किया जा रहा था।एसडीएम सिहोरा ने बताया कि कार्यवाही में इन अवैध कॉलोनियों में बनाई जा रही सड़क और नालियों को ध्वस्त करने के साथ-साथ मध्यप्रदेश नगर पालिका (कॉलोनाइजर का रजिस्ट्रीकरण, निर्बन्धन तथा शर्तें) नियम 1998, मध्यप्रदेश भू राजस्व संहिता 1959 की धारा 58 तथा मध्यप्रदेश नगरपालिका विधि संहिता की धारा 339 के प्रावधानों का उल्लंघन कर की जा रही अवैध प्लाटिंग को रोकने खसरा अभिलेख में तत्काल प्रभाव से भूमि को अहस्तांतरणीय दर्ज करने के आदेश भी तहसीलदार सिहोरा को दिये गये हैं ।श्री पांडे ने बताया कि सिहोरा नगर पालिका क्षेत्र के भीतर की गई इस कार्यवाही के अलावा राजस्व निरीक्षक मण्डल खितौला के अंतर्गत ग्राम धमधा में नर्मदा सेरेमिक्स प्राइवेट लिमिटेड के संचालक संजय गुप्ता निवासी सरस्वती कॉलोनी कटंगा जबलपुर द्वारा 2.09 हेक्टेयर भूमि, भगवत प्रसाद पिता गुलाबचंद राय निवासी गोसलपुर द्वारा 0.60 हेक्टेयर तथा मोहम्मद सरवर पिता जान मोहम्मद निवासी हृदय नगर द्वारा 0.22 हेक्टेयर पर बिना अनुमति, बिना कॉलोनाइजर लायसेंस, बिना भूमि व्यपवर्तन एवं टीएनसीपी से बिना ले-आउट स्वीकृत कराये विकसित की जा रही कॉलोनियों पर भी कार्यवाही कर सड़कों और नालियों के निर्माण को ध्वस्त कर दिया गया । एसडीएम सिहोरा के अनुसार मध्यप्रदेश पंचायत राज एवं ग्राम स्वराज अधिनियम के प्रावधानों का उल्लंघन कर यहां अवैध प्लाटिंग को रोकने खसरा अभिलेख में भूमि को अहस्तांतरणीय दर्ज करने के आदेश तहसीलदार सिहोरा को दिये गये हैं।

शेयर करें: