अंतिम संस्कार करने नही मिलती डिपो से लकड़ी,लोगो को हो रही परेशानी



कटनी/स्लीमनाबाद(सुग्रीव यादव): ग्रामीण स्तरों पर कही अगर किसी व्यक्ति की मौत हो जाये तो उसको अंतिम संस्कार करने वन विभाग स्तर लकड़ी उपलब्ध हो जाती थी।लेकिन वर्तमान समय मैं वन विभाग स्तर से लकड़ी की व्यवस्था अंतिम संस्कार के लिए नही हो पा रही है।जिससे ग्रामीणों को समस्या का सामना करना पड़ रहा है।वर्तमान मे स्लीमनाबाद डिपो कार्यालय के यही हालात देखने को मिल रहे है।डिपो कार्यालय से अंतिम संस्कार के लिए लकड़ी की व्यवस्था नही हो पा रही है।जिसके पीछे प्रमुख कारण डिपो कार्यालय मैं लकड़ी न होना है।जिस कारण ऐसी घटनाओं मैं जब ग्रामीण लकड़ी की आस मैं डिपो कार्यालय पहुँचते है तो उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ता है।

तहसील क्षेत्र के 81 गांव हो रहे प्रभावित-

तहसील मुख्यालय स्लीमनाबाद स्थित डिपो कार्यालय मैं विगत 1 वर्षों से लकड़ी न होने से तहसील के 81 गांव के ग्रामीणों को परेशानी उठानी पड़ती है।
लकड़ी की व्यवस्था डिपो स्तर पर रहे इसके लिए वन विभाग के भी अधिकारी रुचि नही दिखा रहे है ।जिससे डिपो कार्यालय भी सुने पड़े हुए है।
ग्रामीणों का कहना है पहले के समय जंगलों से लकड़ी काटकर ग्रामीण ले आते थे जो खाना बनाने से लेकर ऐसे मौकों पर वही लकड़ी काम मैं आ जाती थी।लेकिन वर्तमान समय हर घर स्तर पर गैस की उपलब्धता हो गई है।जिस कारण लकड़ी की ओर ग्रामीण जन भी जंगलों की ओर नही जाते।जिस कारण लकड़ी की समस्या बनी हुई है।

जिला पंचायत सदस्य ने लिखा डीएफओ को पत्र-

स्लीमनाबाद डिपो कार्यालय मैं लकड़ी की व्यवस्था न होने के चलते अंतिम संस्कार के लिए गांव स्तर पर उपज रही समस्या को लेकर जिला पंचायत सदस्य पंडित प्रदीप त्रिपाठी ने डीएफओ को पत्र लिखकर स्लीमनाबाद डिपो कार्यालय मैं लकड़ी व्यवस्था कराने की मांग की है।

इनका कहना है- गौरव शर्मा डीएफओ

स्लीमनाबाद डिपो मैं लकड़ी व्यवस्था न होने के संबंध मे पत्र मिला है।डिपो स्तर पर लकड़ी की व्यवस्था आगामी दो-तीन दिनों मैं हो जाएगी।इसके लिए डिप्टी रेंजर को आदेशित किया गया है।

शेयर करें: