चैत्र नवरात्रि:राशि अनुसार करें माता रानी को पुष्प अर्पण

 

*ज्योतिषचार्य निधिराज त्रिपाठी अनुसार——चैत्र नवरात्रि का शुभ पर्व अब नजदीक है। हर साल चैत्र महीने की शुरुआत होते ही माता रानी के भक्तों के बीच चैत्र नवरात्रि को लेकर उत्साह छा जाता है। इस साल चैत्र नवरात्रि का पर्व 13 अप्रैल से शुरू हो रहा है और इसका समापन 22 अप्रैल को होने वाला है। इस दौरान माता के भक्त पूरे भक्ति भाव से माता को प्रसन्न करने की तैयारी में जुट जाते हैं। ऐसे में आज हम आपको इस लेख में सभी राशियों के अनुसार माता रानी को अर्पित करने वाले पुष्पों का नाम बताएंगे जिससे आप माता की विशेष कृपा के पात्र बन सकते हैं**। लेकिन उससे पहले चैत्र नवरात्रि से जुड़ी कुछ ख़ास जानकारी आपको दे देते हैं।

घटस्थापना तिथि, दिन और शुभ मुहूर्त
तिथि : 13 अप्रैल 2021

दिन : मंगलवार

शुभ मुहूर्त : 05:58:27 से 10:14:09 तक

अवधि : 4 घंटे 15 मिनट

**राशि अनुसार माता रानी को पुष्प अर्पण**
मेष राशि
मेष राशि के जातक इस वर्ष माता के चरणों में अड़हुल (गुड़हल), गुलाब, लाल कनेर, लाल कमल आदि जैसे लाल पुष्प अर्पित करेंगए तो माँ दुर्गा की उनपर विशेष कृपा होगी।

वृषभ राशि
वृषभ राशि के जातक माता को इस साल चैत्र नवरात्रि में सफ़ेद कमल, सफ़ेद कनेर, बेला, हरसिंगार, सदाबहार आदि जैसे सफ़ेद फूल अर्पित करें। आपके सारे कष्ट दूर होंगे।

मिथुन राशि
मिथुन राशि के जातकों को सलाह दी जाती है कि इस साल वे माँ दुर्गा के कर कमलों में पीले कनेर का पुष्प, अड़हुल, द्रोणपुष्पी, गेंदा और केवड़ा जैसे फूल अर्पित करें। माँ दुर्गा इससे बेहद प्रसन्न होंगी।

कर्क राशि
कर्क राशि के जातक इस चैत्र नवरात्रि माता को सफ़ेद कमल और कनेर, गेंदा, अड़हुल, चमेली, रातरानी जैसे सफ़ेद और गुलाबी पुष्प अर्पित कर सकते हैं। इससे माँ दुर्गा अति प्रसन्न होंगी।

सिंह राशि
सिंह राशि के जातक माता रानी को प्रसन्न करने इस नवरात्रि कमल, गुलाब , लाल गुलाब, लाल अड़हुल आदि के पुष्प अर्पित करें। आपको लाभ मिलेगा।

कन्या राशि
कन्या राशि के जातक इस चैत्र नवरात्रि माता रानी को गुलाब, गेंदा, हरसिंगार, जैसे ज्यादा सुंगधित फूल चढ़ाएं। इससे माता रानी बेहद प्रसन्न होंगी। आप माँ को अड़हुल का पुष्प भी अर्पित कर सकते हैं।

तुला राशि
तुला राशि के जातक इस वर्ष माँ दुर्गा को श्वेत कमल, सफ़ेद कनेर, जूही, सदाबहार, हरसिंगार, गेंदा, बेला व चमेली के अलावा अड़हुल का पुष्प जरूर अर्पित करें। माता रानी के आशीर्वाद से आपके सभी कष्ट दूर होंगे।

वृश्चिक राशि
वृश्चिक राशि के जातक इस वर्ष चैत्र नवरात्रि में मां दुर्गा को हर तरह के लाल, पीले और गुलाबी फूल अर्पित कर सकते हैं। विशेष तौर पर अड़हुल अर्पित करें। माँ दुर्गा बहुत प्रसन्न होंगी।

धनु राशि
धनु राशि के जातक माँ को कमल, अड़हुल, कनेर, गुलाब, गेंदा, कनेर और केवड़ा के फूल अर्पित करेंगे तो माता रानी का उन्हें शुभ आशीर्वाद प्राप्त होगा।

मकर राशि
मकर राशि के जातकों को सलाह दी जाती है कि इस वर्ष वे मातारानी के चरणों में हर तरह के नीले फूल अर्पित करेंगे तो माँ दुर्गा उन पर विशेष कृपा करेंगी। इसके अलावा आप लाल गुलाब, कमल, अड़हुल और गेंदा के पुष्प भी माता रानी को अर्पित कर सकते हैं।

कुम्भ राशि
कुम्भ राशि के जातक इस वर्ष माता को विशेष तौर पर कमल या फिर किसी भी तरह का कोई नीला पुष्प अर्पित करें। आप अड़हुल और लाल गुलाब भी माता रानी को अर्पित कर सकते हैं। माँ की कृपा से आपकी सभी मनोकामनायें पूर्ण होंगी।

मीन राशि
मीन राशि के जातक इस चैत्र नवरात्रि माता को पीले कनेर के पुष्प, कमल, गुलाब, अड़हुल या गेंदा अर्पित करेंगे तो माता की आप पर विशेष कृपा होगी।

🍁”रिद्धि दे, सिद्धि दे,
वंश में वृद्धि दे, ह्रदय में ज्ञान दे,
चित्त में ध्यान दे, अभय वरदान दे,
दुःख को दूर कर, सुख भरपूर कर, आशा को संपूर्ण कर,
सज्जन जो हित दे, कुटुंब में प्रीत दे,
जग में जीत दे, माया दे, साया दे, और निरोगी काया दे,
मान-सम्मान दे, सुख समृद्धि और ज्ञान दे,
शान्ति दे, शक्ति दे, भक्ति भरपूर दें…”🍁
🍁आपको और आपके परिवार को हम सभी की ओर से 13 अप्रैल से शुरू होने वाले नव वर्ष विक्रम संवत 2078 के लिए अग्रिम शुभकामनाएं।
मेरी ओर से

मेरे बताएं यह उपाय हर किसी के ऊपर लागू नहीं होते हैं सबसे पहले कुंडली का निरीक्षण कर ले और जब आपकी कुंडली अनुकूल हो तो ही मेरे बताएं उपाय आप अपनाएं **लेकिन, यदि आपके मन में कोई और दुविधा है या इस संदर्भ में आप और ज्यादा विस्तृत जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं ज्योतिष व वास्तु के लिए सम्पर्क करे* **ज्योतिषचार्य निधिराज त्रिपाठी** अगर आपको ग्रह दशा के बारे में जानकारी चाहिए तो आप हमें +91-9302409892 पर कॉल करें। या आप हमें
“अपना नाम”
“जन्म दिनांक”
“जन्म समय”
“जन्म स्थान”
व्हाट्सएप करें!! धन्यवाद
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार देखा जाए तो हर व्यक्ति का जन्म होते ही वह अपने प्रारब्ध के चक्र से बंध जाता है और ज्योतिषशास्त्र द्वारा निर्मित जन्म कुंडली हमारे इसी प्रारब्ध को प्रकट करती है। हमारे जीवन में सभी घटनाएं बारह राशि व नवग्रह द्वारा ही संचालित होती हैं। इन ग्रहों का आपके जीवन पर आने वाले समय में कैसा प्रभाव पड़ेगा इसके बारे में विस्तृत जवाब जानने के लिए अभी आप भी कर्ज़ की समस्या से परेशान हैं, और उससे जुड़ा कोई व्यक्तिगत उपाय, निवारण जानना चाहते हों या इससे जुड़े किसी सवाल का जवाब चाहिए हो तो
अभी इस नंबर पर आप संपर्क कर सकते हैं l 9302409892

शेयर करें: