तालाब किनारे रोते बिलखते मिला नवजात शिशु

 

जबलपुर:तालाब किनारे एक बच्चे के रोने की आवाज सुनकर लोग दौड़कर गए और पुलिस को सूचना दी नवजात बच्चे का इलाज एल्गिन अस्पताल में किया का रहा है,मामला जबलपुर के आधरताल थाना क्षेत्र का है,प्राप्त जानकारी के मुताबिक  अधारताल तालाब परिसर स्थित विसर्जन कुंड के समीप खाली जगह में नवजात शिशु रोते हुए अधारताल तालाब सफाई अभियान में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले जय हो अधारताल विकास समिति के सदस्य देवेंद्र जायसवाल, संजय पाटकर, पूर्व पार्षद प्रदीप यादव,मोनू केवट, आतिश केवट, हैप्पी केवट, शिवम चौरसिया, सोनू केवट को दिखाई दी। जिसके बाद इन्होंने तत्काल में पहले अपनी गोद में लिया और उसको दुलार किया। जिसके बाद सभी ने 100 डायल पुलिस को सूचना दी। फिर उस करीब एक सप्ताह की जन्मी बच्ची को बेहतर उपचार के लिए एल्गिन अस्पताल में भर्ती करवा दिया। जहां पर उसका उपचार शुरू हो गया है।इस संबंध में जय हो अधारताल तालाब विकास समिति के देवेंद्र जायसवाल, संजय पाटकर व शिवम चौरसिया आदि ने बताया कि वह सुबह सुबह यहाँ पर रोजाना खेल व मॉर्निग वाक के लिए आते हैं, तभी उन्होंने देखा कि यहां विसर्जन कुंड के समीप बने कुएं के पास कोई बच्ची की रोने की आवाज आ रही है, जिसके बाद पास जाकर देखा तो एक नवजात शिशु उन्हें ऐसे ही खुले में सिर्फ कपड़े पहने हुए दिखाई दिया, फिर उन्होंने उसे गोद में लिया और उसके वदन में लगे कचरे को साफ कर तत्काल में पुलिस को सूचना दी और उसको 100 डायल की मदद से एल्गिन अस्पताल ले जाकर उसका उपचार शुरू करवाया।

शेयर करें: