कोरोना से बचाव व नियंत्रण के लिये किया गया मॉकड्रिल

जबलपुर,अन्य देशों में कोविड-19 के नये वेरीएंट वीएफ 7 की भयावकता को देखते हुए शासन के निर्देशानुसार आज प्रशासनिक एवं स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा सेठ गोविंददास चिकित्सालय जिला अस्पताल विक्टोरिया में कोरोना से बचाव व नियंत्रण के लिये पूर्व तैयारियों के संबंध में मॉकड्रिल किया गया।इस दौरान क्षेत्रीय संचालक स्वास्थ्य एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ संजय मिश्रा, सिविल सर्जन डॉ आरके चौधरी, एसडीएम श्री ऋषम जैन, डीएचओ डॉ मोहंती, डीआईओ डॉ एस.एस. दाहिया, पैथालाजिस्ट डॉ श्रीमती अमिता जैन, आरएमओ रत्नेश नामदेव एवं अन्य आवश्यक स्टाफ की निगरानी में जिला अस्पताल विक्टोरिया में कोविड-19 से भविष्य में ग्रसित होने वाले नागरिकों को भलीभांति स्वास्थ्य लाभ प्रदान करने हेतु माकड्रिल की गई। माकड्रिल का उद्देश्य भविष्य में कोविड-19 से निपटने की उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं का सुचारू निरीक्षण करना था। इस माकड्रिल में अधिकारियों के द्वारा कोविड-19 में प्रदाय की जाने वाली स्वास्थ्य सुविधाओं का बिन्दुवार निरीक्षण किया गया। जिसमें चिकित्सालय में आईसीयू वार्ड का निरीक्षण कर उपलब्ध बैडों की संख्या, आइसोलेशन बेड, आक्सीजन सर्पोटेड आईसोलेशन बेड, आईसीयू बेड और वेंटीलेटर सर्पेट बेडों की उपलब्धता एवं उनके सुचारू संचालित होने की जानकारी प्राप्त की गई और स्वास्थ्य केन्द्रों में आवश्यकतानुसार उपलब्धता के निर्देश दिये गये।
स्वास्थ्य केन्द्रों में पदस्थ मेडीकल एवं पैरामेडीकल स्टाफ और आयुष चिकित्सक , आशा , आँगनवाडी कार्यकर्ताओं की जानकारी लेकर सभी को मुख्यालय में रहने के निर्देश दिये गये। स्वास्थ्य केन्द्रों में कुशल प्रशिक्षित डाक्टरों, नर्सों जो वेंटीलेटर में दक्ष हैं, उनकी जानकारी ली गई और वेंटीलेटर अप्रशिक्षित स्टाफ को प्रशिक्षण देने के लिए संबंधितों को निर्देश दिये गये।
गंभीर मरीजों को तत्काल उच्च स्वास्थ्य संस्थाओं में इलाज के लिए रिफर की व्यवस्था हेतु 24 घंटे लाईफ सर्पोट सिस्टम एम्बुलेंस और 180 एम्बुलेंस की व्यवस्था रखने के निर्देश के साथ एनजीओ और अन्य संस्थाओं के सहयोग प्राप्त करने के निर्देश दिये गये। कोविड-19 की जांच की तत्काल व्यवस्था हेतु लैब में समस्त संसाधन उपलब्ध हों जैसे आरटीपीसीआर किट और जांच के लिए आवश्यक मशीनों की उपलब्धता एवं सुचारू संचालन की जानकारी ली गई। कोविड-19 से बचाव हेतु औषधियां,वेंटीलेटर, फीवर स्कैनर, सेनेटाईजर, आक्सी मीटर, पीपीई किट और एन-95 मास्क की उपलब्धता की जानकारी लेकर स्टाक में रखने हेतु निर्देश दिये गये।
चिकित्सालयों में आक्सीजन की पर्याप्त मात्रा के लिए आक्सीजन प्लांट, आक्सीजन सिलेण्डर और आक्सीजन कंसनट्रेटर और आक्सीजन गैस पाईप लाईन की सुचारू उपलब्धता की जानकारी ली गई एवं समस्त स्वास्थ्य संस्थाओं में स्वास्थ्य सुविधाओं को सुचारू रूप से चालू रखने के निर्देश दिये गये।

शेयर करें: