गोसलपुर के खुडावल में खनन माफिया सक्रिय,4 साल से जारी है अवैध उत्खनन,देखें वीडियो  



जबलपुर:मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था की या तो माफिया सुधर जाएं नहीं तो प्रदेश छोड़ दें ,लेकिन जबलपुर के खुडावल में आखिर किसकी सह पर माफिया बेखोफ होकर दिनरात अवैध उत्खनन में लगे हुए है?जबकि मुख्यमंत्री ने मध्यप्रदेश से माफियों का सफाया करने की बात कही थी, फिर यहां पर माफियों के हौसले कैसे बुलंद है? मामला जबलपुर के गोसलपुर थाना क्षेत्र के ग्राम पँचायत केलवास के खुडावल का है ,जहां पर  हो रहे अवैध उत्खनन की शिकायत ग्रामीणों द्वारा जबलपुर कलेक्टर से की गई है,

 

4 साल से हो रहा अवैध उत्खनन 

ग्रामीणों ने आज जबलपुर कलेक्टर को लिखित शिकायत देते हुए बताया की गोसलपुर थाना क्षेत्र के ग्राम खुड़ावल ग्राम पंचायत कैलवास के खसरा नं. 55 पर विमलेश्वरी माइन्स स्वीकृत है ,लेकिन विमलेश्वरी माइन्स के ठेकेदार द्वारा 4 वर्षों से लगातार खसरा नंबर 18 में अवैध तरीके से उत्खनन किया जा रहा है,ग्रामीणों का आरोप है कि विमलेश्वरी माइन्स के ठेकेदार द्वारा ख.नं. 18 पर
लगातार 4 वर्षों से अवैध उत्खनन किया जा रहा है। जबकि प्रथम सीमांकन पर मन्नू खत्री जो विमलेश्वरी माइन्स के पार्टनर थे। सीमांकन में ग्रामीण भी उपस्थित थे पटवारी और आर.आई. द्वारा सीमांकन पंचनामा में ग्राम कोटवार के हस्ताक्षर है।

पोकलेन मशीन से किया जा रहा अवैध उत्खनन 

वहीँ ग्रामीणों का यह भी आरोप है कि विमलेश्वरी माइन्स को कुलदीप उदेनिया ने लिया है इनके द्वारा स्वीकृत एरिया में खनन न करते हुए ख.नं. 18 पर अवैध उत्खनन किया जा रहा है।इतना ही नहीँ  इनके द्वारा चोरी से पोकलेन मशीन लगाकर मुरम निकाली जा रही है एवं कुलदीप उदेनिया द्वारा जो अवैध उत्खनन किया जा रहा है जिससे शासन को राजस्व का बड़ा नुकसान हो रहा है,

ठेकेदार को आरआई का संरक्षण

वहीँ ग्रामीणों ने आरआई रामजी तिवारी पर खनन माफिया से मिलीभगत के आरोप लगाये है, साथ ही प्रशासन से अवैध उत्खनन में लिप्त और उनको संरक्षण देने वालों के ख़िलाप कड़ी से कड़ी कार्यवाही की है, इतना ही नहीँ ग्रामीणों की यह भी मांग है की आज तक जितना भी अवैध उत्खनन हुआ उसकी पूरी जांच करते हुए उसको नापकर राजस्व वसूला जाये । इतना ही नहीँ खसरा नं. 18 में पंचायत द्वारा वृक्षारोपण कराया गया था। उसी खसरा नंबर में मनरेगा द्वारा शासन का लगभग 10 लाख रूपया व्यय हुआ था,जिस खसरे में कुलदीप उदेनिया द्वारा अवैध उत्खनन किया गया है,जिससे शासन को राजस्व का बहुत नुकसान हुआ है। इस अवैध उत्खनन होने में आर..आई. रामजी तिवारी की मुख्य भूमिका है,

शेयर करें: