128 कफ सिरप के साथ मेडिकल स्टोर का संचालक गिरफ्तार

 

जबलपुर :प्रतिबंधित दवा के अवैध कारोबार में लिप्त धर्मेन्द्र मेडिकल स्टोर के संचालक को पुलिस ने गिरफ्तार करते हुए प्रतिबंधित 128 शीशी कफ सिरप जप्त की गई है,गौरतलब है की पुलिस अधीक्षक जबलपुर  सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.)* द्वारा सभी राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों तथा क्राइम ब्रांच को अवैध मादक पदार्थ, शराब की तस्करी तथा नशीले इंजैक्शन/नकली दवा के कारोबार मे लिप्त असामाजिक तत्वों को चिन्हित करते हुये उनके विरूद्ध कार्यवाही हेतु आदेशित किया गया है।आदेश के परिपालन में अति. पुलिस अधीक्षक शहर दक्षिण/अपराध  गोपाल खाण्डेल एवं नगर पुलिस अधीक्षक गोरखपुर  आलोक शर्मा के मार्गदर्शन में थाना गोरखपुर एवं क्राईम ब्रांच की संयुक्त टीम द्वारा प्रतिबंधित दवा कफ सिरप विक्रय हेतु रखने वाले मेडीकल स्टोर के संचालक को पकड़ने मे सफलता प्राप्त हुई है।

ऐसे पकड़ा गया आरोपी 

थाना प्रभारी गोरखपुर  सारिका पाण्डे ने बताया कि आज दिनाॅक 11-5-21 को क्राईम बांच को विश्वसनीय मुखबिर से सूचना मिली कि महानद्दा स्थित धर्मेन्द्र मेडिकोज का मालिक प्रतिबंधित दवाईयाॅ डॉक्टर की इलाज पर्ची के बिना बेच रहा है। सूचना से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराते हुये क्राईम ब्रांच एवं थाना गोरखपुर की संयुक्त टीम द्वारा मुखबिर के बताये स्थान पर दबिश दी गई, धर्मेन्द्र मेडिकोज दुकान में उपस्थित दुकान के संचालक ने अपना नाम धर्मेन्द्र कोहली उम्र 53 वर्ष निवासी रतन कालोनी गोरखपुर बताया जो चैक करने पर 2 कार्टूनों में प्रतिबंधित दवाईया 128 नग कफ सिरप रखे मिला जिसके सम्बंध मे पूछताछ करने पर खरीदी का बिल होना नहीं बताया, सघन पूछताछ करने उक्त प्रतिबंधित दवाओ को शास्त्री ब्रिज दवा बाजार में फेयर मेडिकल दुकान के मालिक से खरीदकर लाना बताया।
एक कार्टून में रखी प्रतिबंधित दवा 44 शीशी जिसमे Onrex Cough syrup लेख है कीमती 5 हजार 280 रूपये की तथा दूसरे कार्टून मे 84 शीशी जिसमें SUPKOF OBSURGE लेख है कीमती 8 हजार 232 रूपये की जप्त करते हुये आरोपी के विरूद्ध थाना गोरखपुर में धारा 5/13 ड्रग्स कंट्रोल एक्ट के तहत कार्यवाही करते हुये पूछताछ जारी है।

*उल्लेखनीय भूमिका* – उक्त कार्यवाही में क्राईम ब्रांच के प्रधान आरक्षक राजेन्द्र बिलोहा, आरक्षक ज्ञानेन्द्र , संतोष सिंह ,शैलेन्द्र कोैरव, मुकेश परिहार तथा थाना गोरखपुर के उप निरीक्षक बृजभान सिंह, आरक्षक संतोष जाट, संतोष चौकसे की सराहनीय भूमिका रही।

 

शेयर करें: