माफिया मस्त प्रशासन सुस्त:कोर्ट के आदेश के बाद भी प्रशासन खाली नहीं करवा पाया जमीन,देखें वीडियो

जबलपुर/कटनी:मध्यप्रदेश के कटनी में आज उस समय लोग अचंभित कर रह गए जब लाव लश्कर के साथ प्रशासनिक अमला तो पहुँचा लेकिन कुछ ही देर बाद बगैर कार्यवाही करें वापिस लौट गया,वहीँ देखा जाए तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा यह कहा गया था की माफिया या तो मध्यप्रदेश छोड़ दें नहीँ तो बख्सा नहीँ जाएगा ।लेकिन मुख्यमंत्री जी आपके ही प्रदेश के कटनी जिले में माफियों के आंगे प्रशासन को कदम पीछे हटाने पड़े ।

 

ये है मामला

मामला कटनी का है जहां पर भूमाफियों से परेसान  मधुकर अग्रवाल ने बताया की ग्राम झिंझरी के खसरा नंबर 841/2 में उन्होंने अपनी माँ श्रीमती मालती अग्रवाल के नाम से 0.050 हेक्टेयर जमीन खरीदी थी ,उनकी जमीन की चौहद्दी दर्शाते हुए भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष रामचन्द्र तिवारी के पुत्र रजनीश तिवारी और उनके साथी में शिवशंकर परोहा पिता वीरेंद्र परोहा ,निवासी अमकुही द्वारा अवैध रूप से कब्जा कर लिया है, इस मामले को श्रीमती मालती अग्रवाल ने अपनी जमीन पाने के लिए कोर्ट की शरण ली जहाँ पर उन्हें न्याय मिला, कोर्ट ने प्रशासन को आदेश दिए की कब्जाधारियों के कब्जे से जमीन छुड़ाकर श्रीमती मालती अग्रवाल जिनका मालिकाना हक है उन्हें दी जाए,लेकिन कटनी में माफियों के आंगे प्रशासन बेबस नजर आया कोर्ट के आदेश पर प्रशासन जमीन खाली करवाने तो गया लेकिन भाजपा के राजनैतिक प्रेसर के चलते बगैर कार्यवाही के उल्टे पैर लौटना पड़ा,क्या मुख्यमंत्री ने यूँ ही कह दिया था की मध्यप्रदेश से माफियाराज का सफाया करेंगे ?इस मामले के बाद आज ये तमाम सवाल आकर खड़े हो जाते है।

बगैर कार्यवाही उल्टे पैर लौटा प्रशासन 

वहीँ आज गुरुवार 17 फरवरी 2022  की दोपहर उच्च न्यायालय के 17/01/2022 का आदेश पाकर नगर निगम सहित पुलिस और प्रशासन अतिक्रमण की कार्यवाही करने पहुँचा था लेकिन राजनैतिक दबाब के चलते प्रशासन उल्टे पैर लौट आया ,ऐसे में आवेदक अपने आपको ठगा सा महसूस कर रहा है,

शेयर करें: