कुबेर देव का स्‍थान मानी जाती है यह दिशा,भूल से भी यहां न रखें ये 5 चीजें

 

ज्योतिषाचार्य निधि राज त्रिपाठी के अनुसार——–*कुबेर देव का स्‍थान मानी जाती है यह दिशा, भूल से भी यहां न रखें ये 5 चीजें*

पॉजिटिव एनर्जी का भंडार मानी जाती है यह दिशा

🌺
वास्‍तु के अनुसार घर की हर दिशा का अपना एक अलग महत्‍व होता है और हर दिशा के अपने कुछ नियम और विशेषताएं होती हैं। जैसे घर की उत्‍तर दिशा को कुबेर देव की दिशा माना जाता है और इस दिशा को पॉजिटिव एनर्जी का भंडार माना जाता है। इस दिशा को पूजापाठ के लिए सबसे उपयुक्‍त माना जाता है। यानी अगर आप अपना नया घर बनाने जा रहे हैं या फिर दूसरे किराए के घर में शिफ्ट होने जा रहे हैं तो पूजा का स्‍थान बनाने के लिए उत्‍तर दिशा सबसे उपयुक्‍त मानी जाती है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि किन वस्‍तुओं को इस दिशा में रखने से वास्‍तुदोष बनता है और आप इसकी वजह से परेशानियों से घिर सकते हैं। ताकि आप गलती से भी इन वस्‍तुओं को इस दिशा में न रखें।
धन समृद्धि के लिए शुक्रवार को आजमाएं महालक्ष्मी कृपा प्राप्ति के सिद्ध उपाय
जूते चप्‍पल
🌺
भूलकर कभी भी घर की उत्‍तर दिशा में जूते चप्‍पल न रखें। इस बात का ध्‍यान रखें कि जब भी आप कहीं बाहर से आएं तो इस दिशा में भूल से भी जूते चप्‍पल न उतारें। माना जाता है कि यह दिशा कुबेर देवता का स्‍थान मानी जाती है और इस दिशा में जूते रखना उनका अपमान करने जैसा है, इसलिए यहां जूते चप्‍पल भूल से भी न रखें।

बाथरूम

🌺
उत्‍तर दिशा को लेकर जो सबसे बड़ा दोष माना जाता है वह है टॉयलट या फिर बाथरूम का इस दिशा में होना। इस दिशा में टॉयलट होने से आपके घर में मां लक्ष्‍मी का वास नहीं होता और दरिद्रता पांव पसारने लगती है। अगर आपके घर में इस दिशा में वॉशरूम है और उसे बदलना संभव नहीं है तो आप एक उपाय कर सकते हैं। कांच की कटोरी में डेले वाला नमक भरकर बाथरूम के किसी कोने में रखें और इस नमक को हर सप्‍ताह बदलते रहें। ऐसा करने से आपको काफी हद तक इस वास्‍तुदोष से राहत मिलेगी।

भारी फर्नीचर

🌺
वास्‍तु में उत्‍तर दिशा को पॉजिटिव एनर्जी का भंडार माना जाता है, इसलिए भूल से भी इस दिशा में भारी भरकम फर्नीचर न रखें। माना जाता है कि ऐसा करने से इस दिशा से पॉजिटिव एनर्जी के संचार में रुकावट पैदा होती है। इस दिशा को जहां तक हो सके खाली और खुला हुआ रखें। उत्‍तर दिशा में साफ-सफाई का भी विशेष ध्‍यान रखना चाहिए। इस दिशा में भूल से भी गंदा पानी या कचरा नहीं जमा होना चाहिए।
घर बनवाने जा रहे हैं तो जान लीजिए हर कमरे में होना चाहिए कौन सा रंग

पुरानी टूटी हुई वस्‍तुएं

🌺
उत्‍तर दिशा को सबसे साफ और सुंदर रखना चाहिए। घर की उत्‍तर दिशा में तिजोरी और बच्‍चों के पढ़ने की टेबल रखनी चाहिए। इस दिशा में भूल से भी पुरानी टूटी हुई वस्‍तुएं न रखें और न ही और कबाड़ा सामान रखें। कुछ लोग पुरानी टूटी हुई वस्‍तुएं एक जगह एकत्र करके रख देते हैं। ऐसी वस्‍तुओं को घर में रखना ही नहीं चाहिए, तुरंत फेंक देना चाहिए।

डस्‍टबिन

🌺
इस दिशा में भूल से डस्‍टबिन न रखें। इस दिशा में साफ-सफाई रखना बहुत जरूरी माना जाता है। इस दिशा में कचरा न जमा होने दें और रोजाना पानी में नमक डालकर पोंछा लगाएं। ऐसा करने से सभी प्रकार की नेगेटिव एनर्जी दूर होती हैं।

**लेकिन, यदि आपके मन में कोई और दुविधा है या इस संदर्भ में आप और ज्यादा विस्तृत जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं ज्योतिष व वास्तु के लिए सम्पर्क करे* **ज्योतिषचार्य निधिराज त्रिपाठी** अगर आपको ग्रह दशा के बारे में जानकारी चाहिए तो आप हमें +91-9302409892 पर कॉल करें। या आप हमें
“अपना नाम”
“जन्म दिनांक”
“जन्म समय”
“जन्म स्थान”
व्हाट्सएप करें!! धन्यवाद
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार देखा जाए तो हर व्यक्ति का जन्म होते ही वह अपने प्रारब्ध के चक्र से बंध जाता है और ज्योतिषशास्त्र द्वारा निर्मित जन्म कुंडली हमारे इसी प्रारब्ध को प्रकट करती है। हमारे जीवन में सभी घटनाएं बारह राशि व नवग्रह द्वारा ही संचालित होती हैं। इन ग्रहों का आपके जीवन पर आने वाले समय में कैसा प्रभाव पड़ेगा इसके बारे में विस्तृत जवाब जानने के लिए अभी आप भी कर्ज़ की समस्या से परेशान हैं, और उससे जुड़ा कोई व्यक्तिगत उपाय, निवारण जानना चाहते हों या इससे जुड़े किसी सवाल का जवाब चाहिए हो तो
अभी इस नंबर पर आप संपर्क कर सकते हैं l 9302409892

शेयर करें: