जबलपुर जिले की सौ-फीसदी टीकाकरण वाली पहली ग्राम पंचायत बनी ये 

 

जबलपुर :पनागर विकासखंड की ग्राम पंचायत महगंवा परियट शत-प्रतिशत कोरोना टीकाकरण वाली जिले की पहली ग्राम पंचायत बन गई है। यहां मतदाता सूची में दर्ज 1002 व्यक्तियों में से 956 व्यक्तियों को विशेष अभियान चलाकर आज मंगलवार को कोरोना का टीका लगाया गया। शेष 46 व्यक्तियों में कोरोना से तत्काल ठीक हुए लोग, गर्भवती महिलायें, मृत व्यक्ति और बाहर निवासरत वैक्सीनेटेड व्यक्ति शामिल हैं। इस प्रकार ग्राम पंचायत महगंवा परियट सौ फीसदी टीकाकरण वाली जिले की पहली ग्राम पंचायत हो गई है।

विधायक और कलेक्टर ने दी बधाई
विधायक सुशील तिवारी इंदू और कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने सौ फीसदी टीकाकरण कराने वाली ग्राम पंचायत महगंवा परियट पहुंचकर ग्रामीणों को शाबासी और बधाई दी।
यहां टीकाकरण को लेकर ग्रामीणों में सुबह से ही भारी उत्साह देखा जा रहा था। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के मार्गदर्शन में महगंवा परियट के सभी पात्र ग्रामीणों को कोरोना का टीका लगाने के लिए दो-तीन दिन पहले से ही कार्ययोजना तैयार कर ली गई थी। जिसे आज राजस्व, स्वास्थ्य, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग सहित ग्राम आपदा प्रबंधन समिति के सदस्यों की सक्रिय सहभागिता से मूर्तरूप दिया जा सका। यहां मतदाता सूची के आधार पर वैक्सीन लगाने के सभी पात्र व्यक्तियों को चिन्हित किया गया। इसके बाद आज मंगलवार 15 जून की सुबह से ही गांव से बाहर जाने वाले सभी रास्तों की बैरीकेटिंग की गई, ताकि कोई भी ग्रामीण बिना टीका लगवाये बाहर न जा सके।
छह टीमों ने किया टीकाकरण
एसडीएम जबलपुर नम: शिवाय अरजरिया ने बताया कि महगंवा परियट को सौ फीसदी वैक्सीनेट करने स्वास्थ्य विभाग की छह अलग-अलग टीमें बनाई गई थीं। टीकाकरण करने वाली एक टीम बीमार, बुजुर्ग और दिव्यांगों के घर-घर जाकर टीका लगा रही थी।
ग्रामीणों का रहा सराहनीय सहयोग
एसडीएम श्री अरजरिया ने शत-प्रतिशत टीकाकरण कार्य में ग्रामीणों के सहयोग की जमकर सराहना की। उन्होंने बताया कि ग्रामीणों में टीकाकरण के प्रति सुबह से ही जर्बदस्त उत्साह देखने को मिला। लोग खुद टीका लगवाने टीकाकरण केन्द्र आ रहे थे और बीमार, बुजुर्ग व दिव्यांगों की जानकारी भी दे रहे थे। ताकि उन्हें घर जाकर टीका लगाया जा सके।
102 वर्षीय तिज्जो बाई और 100 वर्षीय त्रिवेणी बाई ने लगवाया टीका
कोरोना के टीके के प्रति फैली तमाम भ्रांतियों को दर किनार करते हुए 102 वर्षीय महिला तिज्जो बाई कोल और सौ वर्षीय त्रिवेणी बाई ने खुद रूचि लेकर टीका लगवाया। तिज्जो बाई और त्रिवेणी बाई ने स्वयं टीकाकरण कराकर मिसाल कायम की तथा भ्रम और अफवाह फैलाने वाले लोगों को मुंह तोड़ जवाब दिया है।
शाम को आयोजित हुए कार्यक्रम में सौंपा गया प्रमाण-पत्र
जिले की पहली शत प्रतिशत वैक्सीनेशन वाली ग्राम पंचायत बनने पर आज शाम महगंवा परियट में एक कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया। कार्यक्रम में ग्राम पंचायत की प्रशासनिक समिति के प्रधान आशीष कुमार कोल और सचिव कल्पना अग्निहोत्री ने विधायक श्री सुशील तिवारी इंदु और कलेक्टर कर्मवीर शर्मा को शत-प्रतिशत व्यक्तियों को कोरोना के टीके लगाने का प्रमाण-पत्र और ग्रामसभा को संकल्प पत्र सौंपा।
विधायक ने किया खुशी का इजहार: 5 लाख रुपये का चैक सौंपा
पनागर विधायक श्री सुशील तिवारी इंदु ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए महगवां परियट को शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन बाकी जिले की पहली ग्राम पंचायत बनने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए ग्रामवासियों तथा वैक्सीनेशन के कार्य में लगी पूरी टीम को बधाई दी। उन्होंने कहा कि महगवां परियट ग्राम पंचायत ने शत-प्रतिशत टीकाकरण कर कोरोना वैक्सीनेशन के प्रति जागरूकता का जो संदेश दिया है वो पूरे प्रदेश में फैलेगा और इससे प्रेरित होकर कई ग्राम पंचायतें आगे आयेंगी।
विधायक श्री तिवारी ने अपनी घोषणा के मुताबिक जिले की पहली शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन वाली ग्राम पंचायत बनने पर विधायक निधि से विकास कार्यों के लिए महगवां परियट ग्राम पंचायत को पांच लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि का चेक भी कार्यक्रम में प्रदान किया। उन्होंने कहा कि जिले की शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन वाली पहली ग्राम पंचायत उनके विधानसभा क्षेत्र से ही बनने पर उनकी खुशी दोगुनी हो गई है।
शतायु महिलाओं को 5-5 हजार
कार्यक्रम में विधायक श्री तिवारी ने टीकाकरण कराने वाली 102 वर्षीय तिज्जोबाई और सौ वर्षीय त्रिवेणी बाई को टीकाकरण के प्रति अभूतपूर्व उत्साह के लिए 5-5 हजार रुपये की पुरस्कार राशि का चेक प्रदान किया। दोनों शतायु महिलायें इस कार्यक्रम में मौजूद थीं और पूरी तरह स्वस्थ थीं।
बुजुर्गों को मिला छाता
टीकाकरण कराने वाले सभी बुजुर्गों को विधायक श्री तिवारी ने अपनी ओर से प्रत्येक को उपहार स्वरूप छाता भेंट किया।
कलेक्टर ने दी ग्रामवासियों को बधाई
कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शत-प्रतिशत लोगों द्वारा कोरोना की वैक्सीन लगवाने के लिए ग्रामवासियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि ऐसा करके महगवां ग्राम पंचायत ने प्रेरक उदाहरण प्रस्तुत किया है जो जिले की अन्य ग्राम पंचायतों में स्वस्थ प्रतिस्पर्धा की भावना पैदा करेगा और कई अन्य ग्राम पंचायतें भी इस दिशा में आगे बढ़ेगीं।
कलेक्टर ने कार्यक्रम में ग्राम पंचायत महगवां के सभी निवासियों को कोरोना के टीके लगाने की कुशल रणनीति बनाने के लिए ग्राम आपदा प्रबंधन समिति तथा राजस्व, पंचायत एवं स्वास्थ्य विभाग के अमले की सराहना भी की। उन्होंने कहा कि महगवां ग्राम पंचायत के लोगों ने कोरोना के टीके लगवाने के प्रति जो उत्साह दिखाया वो इसे लेकर फैलाई जा रही भ्रांतियों को काफी हद तक खत्म करने में मददगार साबित होगा।
तिज्जो बाई और त्रिवेणी बाई बनी रोल मॉडल
कलेक्टर ने इस अवसर पर कोरोना का टीका लगवाने स्व-प्रेरणा से आगे आईं 102 वर्षीय तिज्जो बाई कोल और 100 वर्षीय त्रिवेणी बाई तिवारी को रोल मॉडल बताया। उन्होंने कहा कि इन शतायु महिलाओं ने कोरोना के टीके लगवाकर भ्रांति फैलाने वालों को मुंहतोड़ जवाब दिया है। श्री शर्मा ने अपने संबोधन में महगवां परियट के निवासियों को तय समय पर कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाना सुनिश्चित करने के निर्देश अधिकारियों को दिये। कार्यक्रम में जिला पंचायत सीईओ रिजु बाफना, एसडीएम जबलपुर नम: शिवाय अरजरिया, तहसीलदार नीता कोरी, जनपद पंचायत के सीईओ और स्वास्थ्य विभाग का अमला मौजूद था।
शत-प्रतिशत लोगों के वैक्सीनेशन के लिए आज महगवां परियट में चलाये गये विशेष अभियान में कोरोना के टीके लगवाने युवाओं के साथ-साथ बुजुर्गों में भी खासा उत्साह दिखाई दिया। लगभग चौदह सौ की आबादी वाली ग्राम पंचायत महगवां परियट के 18 वर्ष से 44 वर्ष की आयु के करीब पांच सौ युवाओं, पैंतालीस प्लस के 329 व्यक्तियों तथा 60 वर्ष से अधिक आयु के 76 लोगों ने कोरोना के टीके लगवाये। अभियान के तहत महगंवा परियट ग्राम पंचायत के निवासियों को कोवैक्सीन के टीके लगाये गये।

शेयर करें: