मूल नक्षत्र का प्रभाव असर और इसमें जन्में व्यक्तियों का व्यक्तित्व

 

 

**ज्योतिषाचार्य निधि राज त्रिपाठी के अनुसार——-मूल नक्षत्र** : प्रभाव, असर और इसमें जन्मे व्यक्तियों का व्यक्तित्व
मूल नक्षत्र को सभी सत्ताईस नक्षत्रों में काफी अहम माना जाता है। इस नक्षत्र का स्वामी ग्रह केतु है और इसके सभी चारों चरण धनु राशि में आते हैं। इस नक्षत्र में जन्मे लोग कैसे होते हैं उनका व्यक्तित्व कैसा होता है इसके बारे में हम आज अपने इस लेख में चर्चा करेंगे।

मूल नक्षत्र

वैदिक ज्योतिष के अनुसार नक्षत्र पंचांग का बेहद महत्वपूर्ण अंग माना गया है। सभी सत्ताईस नक्षत्रों में मूल नक्षत्र का स्थान 19वां है। इस नक्षत्र का स्वामी चूंकि केतु है इसलिए इस नक्षत्र में जन्मे लोग अक्सर आध्यात्मिक और गूढ़ विज्ञान में रुचि लेते दिखाई देते हैं। इस नक्षत्र में जन्मे लोगों का नाम भा, भी, ये, यो से रखा जाता है। आइए अब जानते हैं कि इस नक्षत्र में जन्मे लोगों में क्या गुण पाए जाते हैं।

कैसे होते हैं मूल नक्षत्र में जन्मे लोग — इस नक्षत्र में जन्मे लोगों का व्यवहार मधुर होता है और इसलिए यह जनप्रिय भी होते हैं। अपनी वाणी से लोगों को प्रभावित करने में इनको महारथ हासिल होती है और इसका कारण कई विषयों पर इनकी पकड़ का होना होता है। यह लोग अपने जीवन काल में कई विषयों में अपनी रुचि रखते हैं। इस नक्षत्र में जन्में लोगों में दृढ़निश्चय की भावना भी होती है। यह जो ठान लेते हैं उसे पाने की पूरी कोशिश करते हैं। जीवन में आने वाली कठिनाइयों को यह अपनी सूजबूझ से खत्म करते हैं।

इनमें एक गुण यह भी होता है कि परिस्थिति कितनी ही मुश्किल क्यों न हो इनके चेहरे से मुस्कान को नहीं हटा सकती। समाजिक जीवन में भी यह काफी सक्रिय होते हैं और इनके कई अच्छे दोस्त हो सकते हैं। आपको सामाजिक स्तर पर लोगों को सलाह देना भी पसंद आता है। इस नक्षत्र में जो भी लोग जन्म लेते हैं उनका भाग्य घर से दूर जाकर चमकने की संभावना ज्यादा होती है।

मूल नक्षत्र के लोगों का शिक्षा जीवन और करियर

इस नक्षत्र में जन्मे लोग कई विषयों में महारत रखते हैं। बचपन से ही इनके अंदर अलग-अलग विषयों को जानने की इच्छा होती है। स्कूली और कॉलेज की शिक्षा में भी यह लोग अच्छा प्रदर्शन करते हैं। इनका बहुमुखी प्रतिभा का धनी होना इनके लिए करियर क्षेत्र में सफलतादायक होता है। कई बार करियर का चयन करने में इस नक्षत्र में जन्मे लोगों को दुविधा हो सकती है लेकिन एक बार चुनाव करने के बाद यह अपने कार्य में अच्छा करते हैं। इस नक्षत्र में जन्मे लोग कानून और न्यया के क्षेत्र में करियर बना सकते हैं। ऐसे लोग अच्छे पुलिस अधिकारी, न्यायाधीश बन सकते हैं। इसके साथ ही इस नक्षत्र में जन्मे लोग राजनीति में भी अपना करियर बना सकते हैं। मेडिकल क्षेत्र, ज्योतिषी, मनोचिकित्सा, कंप्यूटर आदि के क्षेत्र में भी इस नक्षत्र में जन्मे लोग अपना करियर बनाने में सफल होते हैं।

मूल नक्षत्र में जन्मे लोगों का आर्थिक जीवन

आर्थिक रूप से इस नक्षत्र में जन्मे लोग सबल होते हैं। लेकिन कई बार गलत व्यसनों में पड़कर यह अपने धन को बर्बाद भी कर सकते हैं। हालांकि धन को यदि सही तरीके से इस्तेमाल करना यह लोग सीख लें तो यह इनके जीवन में ज्यादा आर्थिक परेशानियां नहीं आतीं। गूढ़ विद्याओं से इस राशि के लोग अच्छा धन कमाने में कामयाब होते हैं।

मूल नक्षत्र में जन्मे लोगों का पारिवारिक जीवन

मूल नक्षत्र में जन्मे लोगों को पारिवारिक जीवन में मिलेजुले परिणाम प्राप्त होते हैं। इस नक्षत्र में जन्मे लोगों को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि परिवार में उनकी स्थिति क्या है। यह निस्वार्थ भाव से अपने पारिवारिक दायित्वों को पूरा करने में विश्वास रखते हैं।

इस नक्षत्र वालों का वैवाहिक जीवन

इस नक्षत्र में जन्मे लोगों का वैवाहिक जीवन अच्छा होता है, इनको अच्छा जीवनसाथी मिलता है जो हर स्थिति में इनके साथ खड़ा रहता है। वैवाहिक जीवन को बेहतर बनाने के लिए इस राशि के लोग अपने जीवनसाथी की भावनाओं का भी पूरा ख्याल रखते हैं।

मूल नक्षत्र में जन्में लोगों का स्वास्थ्य जीवन

इस नक्षत्र में जन्मे लोग यूं तो अपने स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने के लिए हमेशा कोशिशें करते हैं लेकिन फिर भी कुछ स्वास्थ्य समस्याएं इनको परेशान कर सकती हैं। इस नक्षत्र में जन्मे लोग जोड़ों के दर्द से परेशान हो सकते हैं। इसके साथ ही शरीर के पिछले भाग में दर्द की समस्या भी इनको हो सकती है। खुद को फिट बनाए रखने के लिए इस नक्षत्र वालों को योग-ध्यान का सहारा लेना चाहिए।

निष्कर्ष

मूल नक्षत्र में जन्मे लोग आकर्षक व्यक्तित्व के धनी होते हैं, ज्ञान अर्जित करने के प्रति भी इनमें इच्छा हमेशा होती है। इसके साथ ही समाज की बेहतरी के लिए भी इनमें भावना देखी जाती है। इस नक्षत्र वाले लोग यदि अपनी फिजूलखर्ची और स्वास्थ्य का ध्यान रखें तो इनको जीवन में कोई बड़ी परेशानी कभी नहीं आती।
ज्योतिष व वास्तु के लिए सम्पर्क करे* **ज्योतिषचार्य निधिराज त्रिपाठी** अगर आपको ग्रह दशा के बारे में जानकारी चाहिए तो आप हमें +91-9302409892 पर कॉल करें। या आप हमें
“अपना नाम”
“जन्म दिनांक”
“जन्म समय”
“जन्म स्थान”
व्हाट्सएप करें!! धन्यवाद
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार देखा जाए तो हर व्यक्ति का जन्म होते ही वह अपने प्रारब्ध के चक्र से बंध जाता है और ज्योतिषशास्त्र द्वारा निर्मित जन्म कुंडली हमारे इसी प्रारब्ध को प्रकट करती है। हमारे जीवन में सभी घटनाएं बारह राशि व नवग्रह द्वारा ही संचालित होती हैं। इन ग्रहों का आपके जीवन पर आने वाले समय में कैसा प्रभाव पड़ेगा इसके बारे में विस्तृत जवाब जानने के लिए अभी आप भी कर्ज़ की समस्या से परेशान हैं, और उससे जुड़ा कोई व्यक्तिगत उपाय, निवारण जानना चाहते हों या इससे जुड़े किसी सवाल का जवाब चाहिए हो तो
अभी इस नंबर पर आप संपर्क कर सकते हैं l 9302409892

शेयर करें: