गोसलपुर में दत्तक पिता की डांट से परेसान होकर घर से भाग गई थी 12 साल की बच्ची,ऐसे मिली पुलिस को 

जबलपुर :गोसलपुर से लापता हुई 12 साल की बच्ची को पुलिस ने खोज निकाला बच्ची बिल्कुल  सुरक्षित है,पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक थाना गोसलपुर में दिनंाक 6-5-21 को अनीता काछी उम्र 30 वर्ष निवासी शांतिनगर जुझारी ने सूचना दी थी कि वह ग्राम धमकी निवासी लक्ष्मी काछी की बेटी कुमारी प्रिया काछी को एक वर्ष की उम्र से गोदनामा लेकर अपने साथ जुझारी तालाब वाले घर में रह रही है, कुमारी प्रिया काछी उम्र 12 वर्ष दोपहर लगभग 3-30 बजे घर से बिना बताये कहीं चली गयी है जिसकी काफी तलाश की लेकिन पता नहीं चला है। सूचना पर अपराध क्रमांक 210/21 धारा 363 भादवि का अपराध पंजीबद्ध करते हुये घटित हुई घटना से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया।वहीँ घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये पुलिस अधीक्षक जबलपुर  सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण  शिवेश सिंह बघेल एवं एसडीओपी सिहोरा  श्रुतकीर्ति सोमवंशी (भा.पु.से.) के मार्गदार्शन में थाना प्रभारी गोसलपुर  संजय भलावी के नेतृत्व में क्राईम ब्रांच एवं थाना स्टाफ की टीम को लगाया गया।अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण एवं एसडीओपी सिहोरा के द्वारा स्वयं 12 वर्षिय अपहृता प्रिया काछी के परिजनों एवं आसपास के गाॅव के लोगों से पूछताछ की गयी, वहीं कु. प्रिया काछी के पता न चलने पर पुलिस अधीक्षक जबलपुर द्वारा कु.प्रिया काछी की दस्तयाबी पर 10 हजार रूपये के नगद ईनाम की उद्घोषणा की गयी।*
टीमों के द्वारा सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए तथा एैसे स्थान जहाॅ पर लावारिस बच्चों को रखा जाता है में भी पतासाजी की गयी एवं संस्था को अवगत कराया गया कि अगर प्रिया काछी नाम की कोई बच्ची कहीं से दाखिल होती है तो तत्काल सूचित करें।दौरान पतासाजी के कु. प्रिया काछी राजकुमारी बाल निकेतन शास्त्री ब्रिज जबलपुर होने की जानकारी मिलने पर पहुची टीम को बताया गया कि कु. प्रिया काछी को आर.पी.एफ. चाईल्ड हैल्पलाईन जबलपुर द्वारा राजकुमारी बाल निकेतन में दाखिल कराया गया है।

डॉट औऱ मार से परेसान होकर भाग गई थी बच्ची 

वहीँ पूछताछ पर प्रिया काछी ने बताया कि उसके दत्तक पिता सूरज काछी ने एक दिन पहले झाडू पोछा की बात को लेकर उसे डांटा एंव मार दिया था तो वह दिनाॅक 6-5-21 को दोपहर 3 बजे घर से बिना बताये पैदल खेतों के रास्ते से होते हुये रेल्वे पटरी पहुंची और रेल्वे पटरी के किनारे-किनारे चलते हुये रेल्वे स्टेशन पहुंच गयी, रेल्वे स्टेशन में एक बूढी अम्मा जिन्हें कम दिखाई देता था के साथ ट्रेन में बैठकर कटनी चली गयी, रात में बूढी अम्मा ने उसे खाना खिलाया, अगले दिन सुबह ट्रेन में बूढी अम्मा के साथ बैठी थी जो सीधे जबलपुर स्टेशन रूकी थी, बूढी अम्मा के साथ जबलपुर स्टेशन में उतर गयी, कुछ दिन तक बूढी अम्मा के साथ रेल्वे स्टेशन में हीं रही तथा स्टेशन पर एवं ट्रेन में आने जाने वाले लोगों से भीख मांगती थी, बूढी अम्मा उसे खाना खिलाती थी और खुद भी खाती थी, एक दिन उसे स्टेशन के बाहर पूनम नाम की 5 साल की बच्ची खेलते हुये मिली जिसके साथ वह भी खेलने लगी, उसे अच्छा लगा तो वह बूढी अम्मा का साथ छोडकर पूनम के साथ पूनम की माॅ शारदा के पास चली गयी जहाॅ लगभग 2 सप्ताह तक रही, सभी उसे खाना देते थे कोई उसे परेशान नहीं करता था, 4 दिन पहले पुलिस वाले आये थे जो पूछताछ किये और उसे ले जाकर बाल निकेतन मे दाखिल करा दिये थे। विधिवत कार्यवाही कर कु. प्रिया काछी को परिजनों के सुपुर्द किया गया है।
*पूछताछ पर कु. प्रिया काछी के साथ किसी भी प्रकार की कोई घटना नहीं होना, न ही किसी के द्वारा बहला फुसलाकर भगा कर ले जाना पाया गया है, प्रिया काछी अपने दत्तक पिता सूरज काछी के डांटने एवं मारने के कारण गुस्सा होकर घर से चली गयी थी। 12 वर्षिय बालिका की तलाश पतासाजी कर दस्तयाबी में थाना प्रभारी गोसलपुर  संजय भलावी, उप निरीक्षक पुष्कर मिश्रा, सतीष अनुरागी, ज्योति खैरवार, सहायक उप निरीक्षक आर.पी. चैधरी, आरक्षक भरत अवस्थी, पूर्णचंद अल्डक, अमन सिंह, अवधेश कुशवाहा, महिला आरक्षक रश्मी बाजपेई, प्रियंका तिवारी की सराहनीय भमिका रही।

शेयर करें: