रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन धड़ल्ले से जारी,सिहोरा में लगे रेत के स्टॉक

जबलपुर/सिहोरा:हिरन नदी का सीना छलनी कर रेत माफियों द्वारा रेत का अवैध उत्खनन व परिवहन धड़ल्ले से किया जा रहा है, हलाकी जबलपुर कलेक्टर और एसपी द्वारा रेत के अवैध उत्खनन व परिवहन पर नकेल कसते हुए सभी अधिकारियों को रेत माफियों पर कार्यवाही करने के आदेश भी जारी किए गए है, लेकिन दिखावटी कार्यवाही कर अधिकारी अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर लेते है,

रात के अँधेले में हिरन नदी से उत्खनन व परिवहन कर लगाए जाते है स्टॉक

सूत्रों की मानें तो खासकर सिहोरा नगर के जेल रोड, कुरो रोड,गंजताल रोड शमशान घाट समीप माफियो द्वारा रेत के अवैध स्टॉक कर दिन के उजाले में रेत का व्यापार किया जाता है, लेकिन इनसे कोई जिम्मेदार अधिकारी पूछने वाला नहीं है की ये रेत कहां से आई और जब ठेका निरस्त है तो किस आधार पर रेत का उत्खनन परिवहन कर व्यापार किया जा रहा है, हलाकी पुलिस प्रशासन की निगाहों के सामने ही सबकुछ चल रहा है, लेकिन सब जान कर भी अनजान बने हुए है,

ग्रामीण अंचलों में खाई बन गए घाट,सड़क किनारे रेत के स्टॉक 

विगत चार पांच वर्षों से जीवनदायनी हिरन नदी के जीवन पर जो संकट के बादल छाए रहते है और इसी बजह से हिरन नदी ग्रीष्म काल आते ही सूख जाने लगी है, इसके पीछे की कोई और बजह नहीँ बल्कि रेत का अवैध उत्खनन है, जानकार बताते है की रेत नदी के प्राण है ,लेकिन जब रेत ही नदी में न रहेगी तो पानी कहाँ से थमेगा,आज देखा जाए तो हिरन के अधिकांश घाट खाई में तब्दील हो गए है, घाटों और किनारों का स्वरूप ही बदल गया है, जिसकी बजह है,हिरन से रेत का अंधाधुंध अवैध उत्खनन ,वहीँ लखनपुर लटुआ ,घुघरा बघेली खिन्नी के कई घाटों से अवैध उत्खनन और परिवहन जारी है,इन ग्रामो के आसपास सड़क किनारे रेत के स्टॉक भी देखे जा सकते है,

इनका कहना है, जल्द ही इन रेत माफियो के ख़िलाप अभियान चलाकर कार्यवाही की जाएगी,

एसडीएम सिहोरा: आसिष पांडे

इनका कहना है, में दिखवाती हूँ ,जल्द ही कार्यवाही की जायेगी,

sdop सिहोरा भावना मरावी 

 

शेयर करें: