पत्नी की डंडे से पीटकर हत्या आरोपी पति गिरफ्तार 

 

जबलपुर :लड़कों से अलग रह रहे पति -पत्नी के बीच हुए विवाद में आरोपी पति ने डंडे से पीटकर पत्नी की हत्या कर दी आरोपी पति को को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है,

ये है पूरा मामला 

मामला बरेला थाना अंतर्गत गौर चौकी का है ,पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक थाना बरेला अंतर्गत चौकी गौर में आज दिनाॅक 20-5-21 को प्रातः 7-30 बजे ग्राम पिपरिया चारघाट में महिला की हत्या होने की सूचना पर चौकी प्रभारी गौर  नितिन पाण्डे, थाना प्रभारी बरेला  सुशील चैहान तत्काल हमराह स्टाफ को लेकर मौके पर पहुंचे, ग्राम कोटवार विजय कुमार झारिया ने बताया कि आज सुबह 7 बजे सुनील बर्मन उसके घर आकर बताया कि दिनाॅक 19-5-21 को शाम लगभग 7 बजे उसके पिता खजांची बर्मन ने माॅ शंाति बाई से लडाई झगडा कर घर की परछी मे डंडे से मारा था, जिससे माॅ शांति बाई उम्र 55 वर्ष की मृत्यु हो गयी है।वहीं घटित हुई घटना से वरिष्ठ अधिकारियेां को अवगत कराया गया, पुलिस अधीक्षक  सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) के निर्देश पर उप पुलिस अधीक्षक ग्रामीण  अपूर्वा किलेदार मौके पर पहुंची।
वरिष्ठ अधिकारियों एवं एफ.एस.एल. टीम की उपस्थति में पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाया गया, पीएमकर्ता डाक्टर ने चर्चा में बताया कि मृतिका की सीने की पसलियाॅ टूटी हुई हैं,। विजय कुमार झारिया की रिपोर्ट पर धारा 302 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया।पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा आरोपी की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर उत्तर/यातायात  संजय कुमार अग्रवाल, उप पुलिस अधीक्षक ग्रामीण  अपूर्वा किलेदार के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी बरेला  सुशील चैहान के नेतृत्व में टीम गठित कर लगायी गयी।गठित टीम ने सरगर्मी से तलाश करते हुये आरोपी खजांची बर्मन उम्र 60 वर्ष जो पास में ही खेत में छिपा हुआ था को अभिरक्षा मे लेते हुये पूछताछ करते हुये घटना में प्रयुक्त डण्डे की बरामदगी के प्रयास जारी है।
पूछताछ पर पाया गया कि पति-पत्नि बेटों से अलग एक कमरे के मकान में अकेले रहते थे, दोनों में शराब पीने की बात को लेकर आये दिन वाद-विवाद होता रहता था।

*उल्लेखनीय भूमिका* – पत्नि की हत्या करने वाले आरोपी को चंद घंटेां में पकडने में थाना प्रभारी बरेला  सुशील चैहान, चैकी प्रभारी गौर नितिन पाण्डे, सहायक उप निरीक्षक हरीलाल उरवे, आरक्षक संदीप सतनामी, आदित्य चैबे की सराहनीय भूमिका रही।

शेयर करें: