सब जेल सिहोरा में मनाया गया हिन्दी दिवस समारोह

जबलपुर/सिहोरा:स्व सेवा संयोजन समिति के तत्वावधान में सबजेल सिहोरा में हिन्दी दिवस समारोह का आयोजन किया गया।सर्वप्रथम जेल प्रांगण में वृक्षारोपण किया गया इसके पश्चात “साहित्य संगोष्ठी” की गई।

कार्यक्रम का आयोजन शहर के वरिष्ठ कवि अश्विनी पाठक के मुख्य आतिथ्य, वरिष्ठ कवि विजय बागरी “विजय’ के विशिष्ट आतिथ्य तथा सेवानिवृत्त जेलर साहित्यकार श्री अनंत प्रतापसिंह परिहार के सारस्वत आतिथ्य में किया गया।साहित्य संगोष्ठि की अध्यक्षता सहायक अधीक्षक दिलीप नायक द्वारा की गई।संगोष्ठि में अनेक कवियों ने अपनी रचनाए्ँ प्रस्तुत कर हिन्दी की सौन्दर्य, लालित्य और प्रासंगिकता पर प्रकाश डाला। साथ ही हिन्दी की समस्त विधाओं दोहा,छंद,मुक्तक,गजल,गीत,
कहानी,कुण्डलिनी , प्रेरक प्रसंग, संस्मरण आदि पर अपनी सुन्दर रचनाए्ँ प्रस्तुत की।सहायक अधीक्षक दिलीप नायक ने भी सुन्दर गीत प्रस्तुत किया साथ ही कुछ बंदियों ऋषभ, राममिलन एवं सुमित द्वारा भी स्वरचित रचनाए्ँ प्रस्तुत की गई।
इस अवसर पर समिति द्वारा सब जेल में बन्दियों के लिए चलित पुस्तकालय का भी शुभारंभ किया गया।कार्यक्रम का संचालन नंदिनी सोनी जेल प्रहरी एवम् श्री नारायण तिवारी द्वारा किया गया।
कार्यक्रम में स्व सेवा संयोजन समिति की अध्यक्षा श्रीमती सुषमा कर्चुली,सचिव श्रीमती रश्मि सेठी,कोषाध्यक्ष श्रीमती सुषमा खरे,श्रीमती साधना साहू जी तथा कवि श्री रमाकांत पाठक,अखिलेश माँझी,आशीष शर्मा, तौहीद खान,प्रमोद दाहिया, संजय तिवारी, नारायण तिवारी, सूर्यकांत त्रिपाठी ,अखिलेश खरे,अरविंद मिश्रा तथा कवियित्री श्रीमती प्रियंका मिश्रा कुमारी यशिका तिवारी,नंदिनी सोनी ने अपनी रचनाओं से सभी को प्रभावित किया।अतिथिगण कवि अश्विनी पाठकजी,विजय बागरीजी तथा अनंत प्रताप सिंह जी ने अपनी कविताओं से न केवल सभी का मन मोहा अपितु प्रेरक संदेश भी दिया।आभार प्रदर्शन श्रीमती सुषमा खरे द्वारा किया गया।इस अवसर पर विशेष रूप से उपस्थित डॉ राघवेंद्र त्रिपाठी, जेल स्टॉफ एवं बन्दियों द्वारा कार्यक्रम की खूब सराहना की गई।

शेयर करें: