बच्चों के बेहतर इलाज के लिये मुख्यमंत्री ने किया 20 बिस्तरीय एच.डी.यू. वार्ड का लोकार्पण 

 

जबलपुर:मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज बुधवार को सेठ गोविंददास जिला चिकित्सालय विक्टोरिया हॉस्पिटल पहुँचकर कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिये किये गये इंतजामों एवं तैयारियों का जायजा लिया। मुख्यमंत्री ने यहाँ बच्चों के बेहतर उपचार के लिये अत्याधुनिक चिकित्सकीय उपकरणों और संसाधनों से युक्त नवनिर्मित 20 बिस्तरीय हाई डेपेन्डेन्सी यूनिट का लोकार्पण किया। साथ ही करीब दो करोड़ 12 लाख रूपये की लागत से बनने वाले 20 बिस्तरीय आई.सी.यू. वार्ड के उन्नयन कार्य का शिलान्यास और पहले से बने 13 बिस्तरीय गहन चिकित्सा कक्ष का निरीक्षण भी किया।

इस दौरान जिले के प्रभारी मंत्री और प्रदेश के लोक निर्माण, कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री गोपाल भार्गव, विधायक अशोक रोहाणी और विधायक विनय सक्सेना, पूर्व मंत्री अंचल सोनकर एवं शरद जैन, आयुक्त नि:शक्तजन संदीप रजक, संभागायुक्त बी. चन्द्रशेखर, आई.जी. भगवत सिंह चौहान, कलेक्टर कर्मवीर शर्मा, पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा, क्षेत्रीय संचालक स्वास्थ्य सेवायें डॉ. संजय मिश्रा और सी.एम.एच.ओ. डॉ. रत्नेश कुररिया मौजूद रहे।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हम कोविड की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिये पूरी तरह से तैयार हैं। उन्होंने कहा भगवान न करे बच्चे कभी संक्रमित हों, लेकिन अगर ऐसी परिस्थिति आती भी है तो यहाँ जिला चिकित्सालय में बच्चों के एडमीशन, उनके खेलने और उनकी माताओं के रहने की अच्छी व्यवस्था है। यहाँ बच्चों के वार्ड में इलाज के हिसाब से जरूरी उपकरणों का इंतजाम भी किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री को कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने निरीक्षण के दौरान बताया कि बच्चों के 13 बिस्तरीय मौजूदा आई.सी.यू. वार्ड का उन्नयन कर 20 और बिस्तर बढ़ाये जा रहे है। जिससे यहाँ जिला चिकित्सालय में 33 आई.सी.यू. बेड हो जायेंगे। कलेक्टर ने बताया कि प्रत्येक बिस्तर में मल्टीपैरा मॉनीटर, वेंटीलेटर, बेड साइड एक्सरे मशीन आदि की व्यवस्था की जायेगी।
मुख्यमंत्री ने आज बच्चों के बेहतर इलाज के लिये बने 20 बिस्तरीय एच.डी.यू. वार्ड का लोकार्पण किया। इसमें बच्चों के उच्च उपचार हेतु मल्टीपैरा मॉनीटर, हाईफ्लो ऑक्सीजन मशीनें, सी-पेप, वाईपेप, हाईफ्लो नेजल कैन्युला, ऑक्सीजन कांसंट्रेटर एवं आई.सी.यू. बिस्तर स्थापित किये गये हैं। मुख्यमंत्री ने कोविड काल में स्वास्थ्य व्यवस्थाओं और संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर की गई तैयारियों की छाया चित्र प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया।

 

शेयर करें: