फॉलोअप:साकेत धाम तिराहा में खुलेआम नियम कानून की उड़ाई गईं धज्जियां,सोते रहे जिम्मेदार 

 

जबलपुर :ग्वारीघाट थाना अंतर्गत साकेत धाम तिराहा में स्तिथ ओमकार दुबे द्वारा नियम कानून को दरकिनार कर 11 केव्ही लाईन से सटाकर दूसरी मंजिल में मकान तान दिया गया लेकिन जिम्मेदार सोते रहे,कुछ इस तरह के आरोप क्षेत्रवासियों द्वारा लगाये जा रहे है, दरअसल कोई भी मकान से बिजली की तारों की कमसेकम  8 से 10 फीट की दूरी होनी चाहिए लेकिन यहां तो 11 केव्ही  बिजली की तारों को लकड़ी से ऊपर कर मकान बनाया गया नतीजन आज तार छत से सटकर होकर पड़ी हुई है,

ये है पूरा मामला,

ग्वारीघाट थाना क्षेत्र के साकेत धाम तिराहा में मकान के ऊपर से निकली 11 केव्ही हाईटेंशन लाइन को दरकिनार कर दूसरी मंजिल में मकान बनाया जा रहा है, स्थानीय लोगों की मानें तो ये मकान ओमकार दुबे द्वारा बनाया जा रहा है, लेकिन उनकी रसूखी के चलते कोई बोलने वाला नहीं है,लोगों का तो यहाँ तक आरोप है की एमपीईबी के अधिकारियों की छत्रछाया के चलते हाईटेंशन लाइन की टेंशन भी मकान बनाने वाले को नहीं मतलब अब जब सईंया ही कोतवाल है तो इनको किस बात का डर और चिंता तभी तो बकायदा एक दिन के लिए सुबह 9 बजे से लेकर एक बजे तक इस एरिया की बिजली गुल कर दी गई और लोगों के पूछने पर एमपीईबी के अधिकारियों ने कह दिया की राष्ट्रपति आ रहे है इसलिए मेंटिनेश किया जा रहा है, लेकिन लोगों का आरोप है की इस घर के निर्माण कार्य मे कोई बाधा न आये भले ही मोहल्ले के लोग परेसान होते रहे है,इसलिए लाइन बंद की गई थी ,वहीँ बिद्युत विभाग के अधिकारी जे ई अब कह रहे है की मकान मालिक द्वारा हमारे पास पोल शिफ्टिंग के लिए आवेदन दिया गया है ,

एक युवक को लग चुका है करेंट

वहीं क्षेत्र में चर्चा है की इनकी लापरवाही के चलते 1 मार्च के दिन रेत का पैसा माँगने गए वीरेंद्र मल्लाह निवासी ग्वारीघाट जबलपुर को करेंट लग गया था ,जिसका किसी निजी अस्पताल में इलाज जारी है,हलाकि पुलिस तक मामला अभी तक नहीं पहुँचा और इस मामले को दबाने का प्रयास भी किया जा रहा है,खुदा न खास यदि इस शख्स को कुछ हो जाता है तो इसका जिम्मेदार कौन होगा ?,

इनका कहना है, हमने नायब तहसीलदार को जांच के आदेश दिए है, गोरखपुर एसडीएम मनिंद्रर सिंह 

इनका कहना है,जल्द ही जांच कर उचित कार्यवाही की जाएगी,नायब तहसीलदार राजेन्द्र शुक्ला 

शेयर करें: