विभाग से परेसान मछुआरे करेंगे आमरण अनशन 

 

कटनी अवधेश यादव :, मत्स्य विभाग के अधिकारियों से परेशान मछुआरों ने आमरण अनशन करने की धमकी दी है, साथ ही कटनी जिले में मत्स्य विभाग के मत्स्य इश्पेक्टर गौरीशंकर सोनी के ऊपर मछुआरों ने आरोप लगाते हुए बताया की  हमारे साथ विधि विरूद्ध रूप से कूटरचित दस्तावेज तैयार कर हमें मछली पालन से बिमुख कर दिया गया है जिससे हमारे परिवार रोड में आ गये है*

ये है मामला 

मामला कटनी जिले की बहोरीबंद तहसील का है जहां पर मछुआरा जय मां शारदा मछुआरा समिति के पदाधिकारियों ने बताया कि हम पुस्तैनी समय से मछली पालन का काम करते चले आ रहे है जिसमें मछली पकड़ने का काम शासकीय मापदंडों के आधार पर केवल ढीमर केवट आदि लोगों को है जिसमें अधिकारी की सांठगांठ कर दुसरे क्षेत्र के सितारा समिति को विधिविरुद्ध रूप से लोधी रजक आदि सभी वर्गों के लोगों को जोड़ कर मोहाई तालाब कूडन जलाशय मछली पालन हेतु दे दिया गया है जो कि ज़िला पंचायत कृषि समिति ने प्रस्ताव पारित कर जय मां शारदा मछुआरा समिति को दे दिया गया था लेकिन मत्स्य इश्पेक्टर द्वारा विधिविरुद्ध रूप से कूटरचित दस्तावेज तैयार कर जिला पंचायत कृषि समिति के प्रस्ताव को दरकिनार कर जानबूझ कर हमें अपने अधिकार से वंचित किया गया है एक तरफ मछुआरा समिति के पदाधिकारियों ने बताया कि मत्स्य इश्पेक्टर गौरीशंकर सोनी ठेकेदार से पार्टनरशिप होकर कूडन जलाशय में मछली का ब्वसाय करते हैं जो विगत तीस साल से अंगद की तरह पैर जमाऐ हुए जिनके द्वारा हमें अपशब्दों का इस्तेमाल किया जा रहा है विगत वर्षों से लागडाउन के चलते हमारे परिवार में खाने के लाले पड़े हैं मछली पालन के अलावा कोई और धंधा नहीं है इस कारण हम अपने परिवार के साथ आंदोलन को बाध्य होंगे

शेयर करें: