कोरोना मरीजों पर नजर रखने के साथ नियमों का उलंघन करने वालों के खिलाप एफआईआर के निर्देश

जबलपुर, कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते हुए प्रकरणों को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा सभी जरूरी एहतियात बरती जा रही है। इसी क्रम में सभी एसडीएम, तहसीलदार तथा पूर्व में गठित की गई रेपिड रिस्पांस टीमों के प्रमुखों की आज मानस भवन स्थित स्मार्ट सिटी के ऑडिटोरियम में बैठक आयोजित कर उन्हें कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के उपायों के प्रति जन-जागरूकता पैदा करने के साथ-साथ कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये हैं। अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में नगर निगम आयुक्त संदीप जीआर, स्मार्ट सिटी के सीईओ आशीष पाठक, सीएमएचओ डॉ. रत्नेश कुररिया एवं पूर्व सीएमएचओ डॉ. मनीष मिश्रा भी मौजूद थे। ज्ञात हो कि कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने कल मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंिसग के जरिए कोरोना संक्रमण पर प्रभावी रोकथाम के लिए रेपिड रिस्पांस टीमों, एसडीएम, तहसीलदार, स्वास्थ्य विभाग एवं नगर निगम के अधिकारियों की बैठक बुलाने तथा उन्हें तुरंत सक्रिय करने के निर्देश दिये गये थे।
कलेक्टर के निर्देश पर आज आयोजित की गई इस बैठक में एसडीएम, तहसीलदार एवं आरआरटी लीडर्स को उन क्षेत्रों में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिये गये जहां कोरोना मरीजों की संख्या ज्यादा है। इन अधिकारियों को होम आइसोलेशन में रहकर स्वास्थ्य लाभ ले रहे कोरोना मरीजों पर कोरोना कंट्रोल रूम एवं मैदानी अमले के माध्यम से निगरानी रखने कहा गया तथा होम आइसोलेशन के नियमों का उल्लंघन करने वाले पॉजिटिव व्यक्तियों पर सख्त कार्यवाही करने उनके, विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराने तथा जुर्माना वसूलने के निर्देश दिये गये।
बैठक में कोरोना कंट्रोल रूम से वीडियो कॉलिंग कर होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों से नियमित रूप से बात कर उनकी सेहत पर नजर रखने कहा गया है। इसके साथ ही कोरोना कंट्रोल रूम से महाराष्ट्र और देश के दूसरे कोरोना प्रभावित राज्यों अथवा महानगरों से आने वाले यात्रियों पर नजर रखने की जरूरत भी बताई गई। ऐसे लोगों से होम क्वारंटीन करने के शासम के निर्देशं का सख्ती से पालन कराने कहा गया।
बैठक में रोको-टोको अभियान को प्रभावी बनाने के निर्देश भी सभी एसडीएम और तहसीलदारों को दिये गये। मास्क न लगाने वाले तथा फिजिकल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध सख्ती बरतने तथा चालानी कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये। एसडीएम एवं आरआरटी के प्रमुखों को अपने-अपने क्षेत्र की राजस्व, महिला बाल विकास एवं स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम के अमले से पूर्व में गठित की गई वार्डवार टीमों को तुरंत सक्रिय करने कहा गया। सभी एसडीएम से कहा गया कि वे अपने क्षेत्र के निजी अस्पतालों का निरीक्षण कर कोरोना मरीजों के उपचार के लिए उपलब्ध बिस्तरों एवं इन अस्पतालों द्वारा क्षमता बढ़ाने की गई प्लानिंग का ब्यौरा प्राप्त करें। कोरोना कंट्रोल रूम के माध्यम से निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए उपलब्ध बिस्तरों का प्रतिदिन का अपडेट लेने के निर्देश भी दिये गये।
बैठक में कहा गया कि हवाई यात्रा से मुंबई या अन्य बड़े महानगरों से जबलपुर आ रहे व्यक्तियों के विमानतल पर ही सेम्पल लेने की व्यवस्था की जाये। इसके साथ ही महाराष्ट्र तथा दूसरे राज्यों से आये व्यक्तियों को होम क्वारंटीन के दौरान लक्षण दिखाई देने पर निकटतम फीवर क्लीनिक जाकर स्वास्थ्य परीक्षण कराने और कोरोना टेस्ट कराने की सलाह दी जाने के निर्देश दिये गये। शहरी क्षेत्र के सभी एसडीएम को राज्य शासन के बाजारों को आज रात दस बजे से बंद रखने के दिये गये निर्देशों का कड़ाई से पालन कराने की हिदायत भी दी गई। इसी प्रकार बड़े आयोजनों पर भी रोक लगाने के निर्देश दिये गये।
बैठक में फ्रंट लाइन वर्कर्स को कोरोना वेक्सीन का दूसरा डोज लगाने के कार्य प्रगति का ब्यौरा भी लिया गया। सभी फ्रंट लाइन वर्कर्स को कोरना वेक्सीन का दूसरा डोज अनिवार्य रूप से लगवाना सुनिश्चित करने के निर्देश बैठक में दिये गये। बैठक में नगर निगम के सभी संभागीय अधिकारी, एवं स्वास्थ्य निरीक्षक भी मौजूद थे।

शेयर करें: