मनरेगा में पँचायत की मनमर्जी से भरी जा रही फर्जी हाजरी

जबलपुर:सरकार द्वारा ग्राम पंचायतो के माध्यम से तालाब निर्माण सहित अन्य निर्माण कार्य मजदूरों से करवाये जाने के निर्देश है ,ताकि ग्रामीणों को रोजगार के अवसर मिल सके ,लेकिन मनरेगा में पँचायत द्वारा मनमर्जी से फर्जी हाजरी भरे जाने की शिकायत ग्रामीणों द्वारा की गई है, मामला मझोली जनपद की ग्राम पंचायत डूंडी का है जहां पर पोड़ी हार में चल रहे परकोलेशन तालाब निर्माण में फर्जी हाजरी भरने का आरोप ग्रामीणों द्वारा लगाए गए,नाम न बताने की शर्त पर ग्रामीणों ने बताया की तालाब निर्माण के दौरान मजदूरी के लिए जाते तो 50 मजदूर है लेकिन हाजरी 110 से 150 तक मजदूरों की भरी जा रही है, ग्रामीणों ने इस पूरे मामले की जांच उच्च अधिकारियों से करवाते हुए कड़ी कार्यवाही की मांग की है,

नहीँ दिखाया मस्टर 

वही ग्रामीणों की शिकायत पर आज जब इंडिया पोल खोल की टीम मौके पर पहुँची तो तालाब में केवल 50 के लगभग मजदूर ही कार्यरत मिले, वहीँ सरपँच और मेट से जब मस्टर रजिस्टर देखने को मांगा गया तो ग्राम सरपँच और मेट द्वारा बहानेबाजी करते हुए मस्टर रजिस्टर नहीं दिखाया गया।सरपँच द्वारा रजिस्टर मेट लेकर मजोली चला गया है इस तरह का बहाना बनाकर टाल मटोल करते हुए हाजरी रजिस्टर नहीँ दिखाया गया, जबकि नियम के मुताबिक जहां पर तालाब निर्माण का कार्य चालू हो वहीं पर रजिस्टर होना चाहिए ।

इनका कहना है,कुछ मजदूर पत्थर तोड़ने के कार्य से मजोली गये है ,मेट वही पर रजिस्टर लेकर गया है,

सरपँच ग्राम पँचायत डूंडी ,गोपी चंद कोल

 

शेयर करें: